वैलनेस
स्टोर

आयुर्वेद के अनुसार क्‍या इस मौसम में दही खाना चाहिए? जानिए क्‍या है दही खाने का सही समय

Published on:15 March 2021, 14:54pm IST
आयुर्वेद आपकी सेहत, व्याधियों और खानपान के बारे में बहुत कुछ बताता है। तो आइए जानते हैं कि दही के बारे में इसमें क्‍या कहा गया है। 
विनीत
  • 88 Likes
पेट के साथ आपके मस्तिष्‍क के लिए भी प्रोबायोटिक्‍स फायदेमंद हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

दही स्वस्थ डेयरी उत्पादों में से एक है। यह प्रोटीन, कैल्शियम और अन्य खनिजों से भरपूर एक बेहतरीन प्रोबायोटिक है। इसलिए यह हड्डियों और दांतों के लिए अच्छा है। सही ढंग से खाने पर इसके आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यह आंत के लिए अच्छा है, त्वचा को मॉइस्चराइज करता है और बालों को पोषण भी देता है। सबसे अच्छी बात कि ये पाचन क्रिया को दुरुस्त रखता है। पर क्‍या इस बदलते मौसम में दही का सेवन किया जाना चाहिए! आइए पता करते हैं कि आयुर्वेद में इस बारे में क्‍या कहा गया है। 

प्रोबायोटिक और पोषण का खजाना होने के बावजूद कुछ लोगों के लिए दही का सेवन समस्‍या बन जाता है। कभी एसिड रिफ्लक्‍स, तो कभी गले में इंफेक्‍शन… ये सभी दही खाने से होने वाली समस्‍याएं हैं।  पर क्‍या वाकई ये सभी समस्‍याएं दही के कारण हैं? क्‍या सचमुच इस मौसम में दही का सेवन नहीं करना चाहिए? 

क्‍या कहता है आयुर्वेद 

आयुर्वेद में इसे सर्वोत्‍तम आहार माना गया है। इसके बावजूद अगर इसका गलत समय या गलत तरीके से सेवन किया जाए तो यह आपके लिए हानिकारक भी हो सकता है। आप सभी ने अक्सर अपने माता-पिता से सुना होगा कि रात में दही खाना आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है। यही कारण है कि हम यहां आपको इसके बारे में बता रहे हैं कि आपको रात में दही का सेवन करना चाहिए या नहीं। अगर आपको भी यह सवाल अक्सर परेशान करता है, तो आगे पढ़ती रहिए।

रात में दही का सेवन हो सकता है नुकसानदेह 

आयुर्वेद के अनुसार, रात में दही नहीं खाना चाहिए, क्योंकि ज्यादातर लोग रात का खाना खाने के तुरंत बाद सो जाते हैं। परिणामस्वरूप, यदि आप अपने खाने में दही को शामिल करते हैं, तो यह ठीक से पच नहीं पाता है, जिससे कि आपके स्वास्थ्य पर गंभीर दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते हैं। हम यहां आपको कुछ प्रमुख समस्याओं के बारे में बता रहे हैं जो रात में दही खाने से हो सकती हैं।

यह भी पढें: सामान्‍य दिखने वाली आपकी ये 6 आदतें पहुंचा रहीं हैं आपकी किडनी को नुकसान 

  1. आपका पेट डिस्‍टर्ब हो सकता है 

रात में दही खाने से पाचन तंत्र गड़बड़ा जाता है। विशेष रूप से उन लोगों का, जो पहले से ही पाचन समस्याओं से पीड़ित हैं, जैसे एसिडिटी, एसिड रिफ्लक्स या अपच। ऐसे में उन्हें रात में दही खाने से बचना चाहिए। रात के समय पाच न तंत्र सुस्‍त होता है, इसलिए रात में दही खाने से आपको कब्‍ज की समस्‍या का भी सामना करना पड़ सकता है। हालांकि, दिन के दौरान, दही एक डिस्‍टर्ब पेट के इलाज के लिए बढ़िया विकल्प है और हमारे पेट के स्वास्थ्य में सुधार करता है।

पेट संंबंधी समस्याएं हो सकती हैं। चित्र-शटरस्टॉक
  1. बलगम का विकास कर सकती है

हर कोई, विशेष रूप से वे लोग जो गंभीर खांसी और ठंड से ग्रस्त हैं, उन्हें रात में दही खाने से बचना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार, रात के समय दही का सेवन बहुत अच्छा नहीं है, क्योंकि यह बलगम के विकास को बढ़ावा देता है।

  1. अस्थमा के रोगियों के लिए परेशानी हो सकती है

जो लोग अस्थमा से पीड़ित हैं, उन्हें रात में दही का सेवन करने से सख्ती से बचना चाहिए। रात में दही खाने के बाद बलगम बनने से सांस लेने में रुकावट हो सकती है, जिससे अस्थमा के लक्षण बिगड़ सकते हैं।

  1. शरीर में सूजन पैदा कर सकती है

रात को दही का सेवन शरीर में पित्त रस के स्राव को बढ़ाता है, जिसके परिणामस्वरूप सूजन होती है। साथ ही, शरीर में सूजन की समस्या पैदा होती है। इसके अतिरिक्त, यदि आपको पहले से कोई चोट या सूजन की समस्या है, तो रात में दही का सेवन करने से आपकी स्थिति  और भी अधिक बिगड़ सकती है।

इसलिए दही का सेवन हमेशा  फायदेमंद है, बस यह ध्‍यान रखें कि आप उसे कब खा रहीं हैं। यानी रात के समय दही खाने से बचना ही बेहतर है।

यह भी पढें: एक नहीं, कई तरह का हो सकता है बुखार, आपको जानने चाहिए इनके कारण और लक्षण 

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।