आपकी किचन में मौजूद है एक लाजवाब औषधि, मुनक्‍का का सेवन देगा इन 5 समस्याओं से छुटकारा

मुनक्का आयुर्वेद में सदियों से पाचनतंत्र को दुरुस्त रखने के लिए प्रयोग होता आया है, इसके फायदों को साइंस भी देता है मान्यता।
गर्भधारण के लिए फायदेमंद है मुनक्का या काली किशमिश के पानी का सेवन। चित्र- शटर स्टॉक।
विदुषी शुक्‍ला Updated: 21 Dec 2020, 09:15 pm IST
  • 85

मुनक्का हमारे किचन में ज़रूर मौजूद होगा, लेकिन उसके इन फायदों से अनजान होने के कारण आप उसका पूरा लाभ नहीं उठा पा रही हैं।

सबसे पहले तो बात करते हैं कैसे किशमिश से अलग होता है मुनक्‍का।

किशमिश छोटी, हल्की भूरी-पीली सी और खट्टी होती है, जबकि मुनक्का बड़ा, गहरा भूरा और मीठा होता है। मुनक्के में बीज होता है, जबकि किशमिश में कोई बीज नहीं होता। अपने खट्टे स्वाद के कारण किशमिश एसिडिटी कर देती है।

किशमिश से ज्यादा फायदेमंद होता है मुनक्का। चित्र : शटरस्‍टॉक

अब जब आप किशमिश और मुनक्के में अंतर समझ गए हैं, तो बात करते हैं मुनक्के के गुणों की।

मेडियोग के आयुर्वेद एक्सपर्ट योगी अनूप बताते हैं कि आयुर्वेद में मुनक्का पेट के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसकी तासीर ठंडी होती है और इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीमाइक्रोबियल प्रोपर्टी के साथ-साथ जिंक और आयरन भी प्रचुर मात्रा में होता है।

मुनक्के से फ़ायदे-

1. पाचन दुरुस्त करता है मुनक्का

आयुर्वेद में मुनक्के का प्रयोग सुपाच्य के रूप में ही किया जाता है। मुनक्के में मौजूद फाइबर के कारण यह कब्ज़ से राहत देता है।

कैसे करें प्रयोग- 5 से 7 मुनक्के बीज निकालकर एक गिलास दूध में उबाल लें। रात को यह दूध गुनगुना ही पिएं।

कब्ज़ में फायदेमंद है मुनक्के का सेवन। चित्र- शटरस्टॉक।

2. एसिडिटी में देता है आराम

मुन्नक्के की तासीर ठंडी होती है, जिसके कारण यह एसिडिटी से होने वाली जलन को शांत करता है और तुरंत राहत देता है।

कैसे करें प्रयोग- एसिडिटी होने पर 4 मुनक्के 10 मिनट के लिए पानी में भिगो दें। अब इन्हें चबा चबाकर खा लें। आप चाहें तो इसे ठंडे दूध के साथ भी ले सकते हैं, जल्दी राहत मिलेगी।

3. ब्लड प्रेशर संतुलित रखता है मुनक्का

अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन के अनुसार मुनक्का खाने से खून में नाइट्रिक ऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे रक्तचाप बढ़ जाता है। अगर आपका बल्ड प्रेशर लो रहता है, तो मुनक्का आपके लिए बहुत फायदेमंद है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

कैसे करें प्रयोग- रात को 5 से 8 मुनक्के एक गिलास पानी मे भिगो कर रख दें। सुबह यह पानी पी जाएं और मुनक्के भी चबाकर खा लें। हर अगले दिन इसे खाने से लो ब्लड प्रेशर की समस्या नियंत्रित हो जाएगी।

अगर लंबे समय तक ब्लड प्रेशर लो रहे तो यह कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है। चित्र : शटरस्टॉयक

4. एनेमिया का रामबाण इलाज है मुनक्का

मुनक्के में आयरन होता है, जो खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाता है। ज्यादा हेमोग्लोबिन का अर्थ है शरीर मे ज्यादा ऑक्सीजन की पूर्ति। एनेमिया में मुनक्का खाना बहुत फायदा करता है। महिलाओं को अपने आहार में मुनक्का ज़रूर शामिल करना चाहिए।

कैसे करें प्रयोग- इसके लिए भी आपको रात भर पानी में भीगा हुआ मुनक्का ही खाना है।

5. चेहरे की झुर्रियां कम करता है मुनक्का

मुनक्के में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो त्वचा की झुर्रियां, फाइन लाइन्स और पिगमेंटेशन को दूर करता है। इसके लिए आप मुनक्के के सेवन के साथ-साथ उसका फेस पैक भी बना सकती हैं।

मुनक्के का पेस्ट एक बेहतरीन स्किन केअर पैक होता है। चित्र- शटरस्टॉक।

कैसे करें प्रयोग- मुनक्के का फेस पैक बनाने के लिए 10 से 12 मुनक्कों का पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट में एक छोटा चम्मच शहद मिलाएं और चेरहे पर लगा लें। 15 मिनट लगाने के बाद हल्के हाथों से मसाज करके इसे छुड़ाएं और गुनगुने पानी से धो लें।

इन बातों का रखें ध्यान-

मुनक्के के फायदों के साथ-साथ उसके साइड इफेक्ट्स का ध्यान रखना भी बहुत ज़रूरी है।

· अगर आपका ब्लड प्रेशर हाई रहता है तो मुनक्के की डोज़ अपने डॉक्टर से पूछ लें।

· बहुत अधिक मुनक्का खाने से दस्त हो सकते हैं, इसलिए मुनक्के के दूध का सेवन रोज न करें।

· ब्रेस्टफीडिंग कर रही हैं तो मुनक्का खाने से पहले अपनी गायनोकॉलोजिस्ट से सलाह ले लें।

  • 85
लेखक के बारे में

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते। ...और पढ़ें

अगला लेख