और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

पोषक तत्वों का पावरहाउस हैं हलीम के बीज, यहां हैं आपकी सेहत के लिए इस सुपरफूड के 6 फायदे

Published on:2 February 2021, 14:34pm IST
अक्सर चिया सीड्स, फ्लैक्स सीड्स और गार्डन क्रेस सीड्स जैसे सुपरफूड्स को नजरंदाज किया जाता है। असल में हलीम के बीज यानी गार्डन क्रेस सीड्स अपनी गुडनेस के कारण आपको कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ देते हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 85 Likes
हलीम के बीज आपके स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद साबित हो सकते हैं। चित्र-शटरस्टॉक।

जब हम सुपरफूड्स की बात करते हैं, तो हमारे आस-पास कई प्रकार के विकल्प मौजूद होते हैं। जिसमें विभिन्न नट्स से लेकर, कई मसाले और बीज शामिल हैं। अक्सर लोग इन छोटे पौष्टिक खाद्य पदार्थों जैसे चिया के बीज, कद्दू के बीज और फ्लैक्स सीड्स को नजरअंदाज करते हैं, जबकि यह दुनिया भर में काफी लोक प्रिय हैं।

गार्डन क्रेस सीड्स को हिंदी में हलीम के रूप में भी जाना जाता है, और महाराष्ट्र में यह हलीवा सीड्स के नाम से भी लोकप्रिय हैं। ये छोटे लाल रंग के बीज आयरन, फोलेट, फाइबर, विटामिन-सी,ए,ई और प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों का एक पावर हाउस है।

हम यहां आपको बता रहे हैं हलीम के बीज के सेवन 6 फायदे

1. हलीम के बीज एनीमिया के इलाज में मदद करते हैं

हलीम के बीज में आयरन का उच्च स्तर लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ावा देता है और शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बेहतर बनाने में भी मदद करता है। लंबे समय में वे कुछ हद तक एनीमिया के इलाज में मदद कर सकते हैं। सिर्फ एक बड़ा चम्मच हलीम के बीज 12 मिलीग्राम आयरन प्रदान करते हैं।

शरीर में मिनरल्स के अवशोषण को बढ़ाने के लिए आयरन के साथ-साथ विटामिन-सी से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। हलीम बीज स्वयं विटामिन-सी का एक समृद्ध स्रोत हैं और इसलिए उन्हें अतिरिक्त स्रोतों की आवश्यकता नहीं होती है।

हलीम सीड्स लिबिडो बढ़ाने के लिए भी फायदेमंद है। चित्र-शटरस्टॉक।

2. यह स्तन में दूध के उत्पादन को बढ़ाता है

चूंकि हलीम के बीज प्रोटीन और आयरन से भरपूर होते हैं और इसमें गुणकारी गैलेक्टोगोग गुण होते हैं। इसलिए ये स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। गैलेक्टोगोग्स ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो स्तन ग्रंथियों से स्तन के दूध के उत्पादन को प्रेरित करने, उसे बनाए रखने और बढ़ाने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

इस प्रकार नई माताओं को निश्चित रूप से अपने आहार में हलीम बीजों को शामिल करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। नई माताओं के लिए नट्स और गोंद के लड्डू में हलीम के बीज जोड़ें और इसके गुणों को बढ़ाएं।

3. मासिक धर्म को विनियमित करने में मदद करते हैं

महिलाओं को प्रगनेंसी प्लान करने के लिए मासिक धर्म चक्र का विनियमन करना बहुत महत्वपूर्ण है। हलीम बीज फाइटोकेमिकल्स में समृद्ध हैं, जो एस्ट्रोजन हार्मोन की नकल करते हैं, और पीरियड्स को नियमित करते हैं। यह हार्मोन को विनियमित करने और अनियमित मासिक धर्म चक्र को सामान्य करने का एक प्राकृतिक तरीका साबित हो सकता है।

फ्लैैट टमी पाना है तो डक वॉक ट्राय करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
हलीम के बीज वजन कम करने में भी मदद करते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. हलीम के बीज वजन घटाने में मदद करते हैं

हलीम के बीज, फाइबर और प्रोटीन के समृद्ध स्रोत होने की वजह से यह आपको लंबे समय तृप्ति का अहसास कराने में मदद करते हैं। इस प्रकार वे भूख से बचने या अधिक खाने से बचने में मदद करते हैं। इन बीजों की अच्छी प्रोटीन सामग्री आपको शरीर की मांसपेशियों को बनाए रखने, और स्वस्थ वजन घटाने के लिए सक्षम बनाती है।

यह भी पढ़ें: इम्युनिटी बू्स्ट करने से लेकर कैंसर से बचाव तक, यहां हैं बैंगन के 5 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

5. इम्युनिटी बूस्ट करते हैं

फ्लेवोनोइड्स (एंटीऑक्सिडेंट्स), फोलिक एसिड और विटामिन-ए, सी और ई से भरपूर हलीम के बीज, शरीर की प्रतिरक्षा में सुधार के लिए एक बेहतरीन फूड है जो कि आपको विभिन्न संक्रमणों और बीमारियों से बचाने में मदद कर सकता है। इसके रोगाणुरोधी गुण बुखार, सर्दी और गले में खराश जैसे विभिन्न संक्रमणों को रोकने में मदद करते हैं।

6. कब्ज से राहत दिलाते हैं

हलीम के बीज की उच्च फाइबर सामग्री उन्हें एक आदर्श बाउल मोबिलाइजर (bowel mobilizer) बनाती है। इसलिए वे कब्ज और संबंधित समस्याओं जैसे- गैस और सूजन से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

ऐसे और भी कई फायदे हैं जो ये छोटे बीज प्रदान करते हैं। इस प्रकार इसे अपने आहार में शामिल करना निश्चित रूप से आपके शरीर के पोषण को बढ़ाने वाला है।

आपके पेट के लिए फायदेमंद हैं हलीम के बीज। चित्र-शटरस्टॉक।

यह भी ध्‍यान रखें

हम हमेशा से कहते हैं, किसी भी फूड का मॉडरेशन में सेवन करना ही बेहतर स्वास्थ्य की कुंजी है। सिर्फ इसलिए कि यह पोषक तत्वों का एक पावरहाउस है, इसका लगातार उपभोग नहीं करना चाहिए। इसकी खपत को दिन में 1 छोटी चम्मच से, 1 बड़ी चम्मच के बीच सीमित करें, और सप्ताह में 3 से 4 बार इसका सेवन करें। इसके द्वारा प्रदान किए जाने वाले शानदार लाभों का आनंद लें।

यहां है हलीम के बीज को डाइट में शामिल करने के कुछ आसान उपाय

  • 1 बड़ा चम्मच हलीम के बीजों को पानी में भिगोकर एक कप दूध या फ्रूट स्मूदी में मिलाएं।
  • हाथों से पिसे हुए हलीम के बीज में थोड़ा काला नमक मिलाएं और इसे सलाद में शामिल करें।
  • लड्डू में नट्स के साथ-साथ हाथों से पिसे हुए हलीम के बीज डालें।
  • भरवां रोटी बनाने के लिए बारीक कटे हुए प्याज, हरी मिर्च, धनिया पत्ती, मसाले के साथ हाथों से पिसे हुए हलीम के बीजों को एक साथ मिलाएं और इसे रोटी के आटे में मिलाएं।

यह भी पढ़ें: ये 5 कारण आपको भी बना देंगे पपीते के पत्‍तों के जूस का प्रशंसक, जानिए इसे घर पर कैसे बनाना है

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।