आपकी पालतू बिल्ली भी हो सकती है कोरोना वायरस की शिकार, इस तरह रखें उनका ख्याल

जो लोग अपने पेट्स से प्यार करते हैं, वे जानते हैं कि ये कितने मासूम होते हैं। इन्हें संक्रमण से बचाना भी आपकी ही जिम्मेेदारी है। इसलिए इनका ख्याल रखें।
billiyo mein corona ke lakshan
मनुष्‍यों की तरह बिल्लियां भी कोरोना वायरस की शिकार हो सकती हैं। चित्र : शटरस्‍टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 28 Apr 2022, 12:40 pm IST
  • 89

कोविड-19 पर आई नई रिसर्च ने उन सभी को डरा दिया है, जो अपनी पालतू बिल्लियों से बहुत प्यानर करते हैं। इसमें कहा गया है कि इंसानों की तरह बिल्लियां भी कोरोना वायरस की शिकार हो सकती हैं। तो अगर आप अपनी पालतू बिल्लियों को कोरोना वायरस के हमले से बचाना चाहती हैं, तो आपको कुछ खास बातों का ध्यान रखना होगा ।

रिसर्च में एक और चौंकाने वाली बात सामने आई है, वह यह कि बिल्लियों में इसके कोई लक्षण नजर नहीं आते। तब भी वे इस संक्रमण की शिकार हो सकती हैं।

क्या है बिल्लियों से संबंधित यह नया शोध

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में छपे शोध में कहा गया है कि बिल्लियों में ऐसा कोई लक्षण नहीं पाया गया। ना ही वह बीमार थी और ना ही किसी और तरह से संक्रमित। लेकिन अंत में उन्हें किसी तरह को कोई वायरस ही नहीं था। आप इसी बात से अनुमान लगा लीजिए कि यदि बिल्लियों में कोरोना वायरस होता है, तो उसका पता लगाना कितना मुश्किल होता होगा।

इससे पहले नहीं पाए गए थे लक्षण

अप्रैल के महीने में जर्नल साइंस नामक वेबसाइट पर एक अध्ययन सामने आया। जिसमें पता चला कि बिल्लियां इस वायरस को कैरी करती हैं। लेकिन क्या बिल्लियां इस वायरस को इंसानों को ट्रांसफर कर सकती हैं? इस बात पर वह कुछ नहीं बोले।

यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉन्सिन स्कूल ऑफ वेटरनरी मेडिसिन में पैथोबायोलॉजिकल साइंसेज के प्रोफेसर योशीहिरो कवाओका हाल ही में एक रिसर्च को लेकर सामने आए हैं। जिसमें उन्होंने सार्स से लेकर covid-19 तक, बिल्लियों के बीच होने वाले वायरस का पता लगाया।

परिवार की तरह अपने पेट्स की हाइजीन का भी ख्‍याल रखें। चित्र : शटरस्‍टॉक

अगले दिन शोधकर्ताओं ने बिल्लियों के नाक के मार्ग द्वारा वायरस होने का पता लगाने की कोशिश की। जिसके बाद दो बिल्लियों में कोरोना होने की पुष्टि हुई। 3 दिनों के भीतर सभी बिलीयों में वायरस साबित हो गया।

अब इन बिल्लियों को अन्य बिल्लियों के साथ रखा गया, जिसके बाद छह दिनों के भीतर सभी के नाक के मार्ग से SARS-CoV-2 होने की पुष्टि हुई।

प्रोफेसर कवाओका ने कहा “अब हमारे सामने पहले के मुकाबले यह एक बड़ी खोज है – जो कहती थी की बिल्लियों में कोरोना के कोई सिम्पटम्स नहीं होते हैं।” कवाओका टोक्यो विश्वविद्यालय में फैकल्टी अप्पोइंट करते हैं। यह covid-19 की वैक्सीन बनाने का प्रयास भी कर रहे हैं। जो इंसानो के लिए होगी और इसका नाम CoroFlu रखा गया है।

अपने परिवार की तरह रखें बिल्लियों का भी ख्याल

इस शोध द्वारा यह स्पष्ट हो जाता है कि बिल्लियों को इंसानों द्वारा ही यह वायरस मिला है। यू.डब्ल्यू-मैडिसन में शोध प्रोफेसर, पीटर हॉफमैन कहते हैं- “यह एक ऐसी चीज़ है जो हम इंसानो को हमेशा अपने दिमाग में रखनी चाहिए।”

वह आगे कहते हैं, “अगर लोग अपने घर में रह रहे हैं और अपने बच्चों और परिवार वालो को कोविड -19 के संक्रमण से बचने के लिए कह रहे हैं, तो उन्हें अपने जानवरों के लिए भी चिंता करनी चाहिए”

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

अंत में सभी शोधों के सार के रूप में हमें कहना चाहिए की दूरी बनाये रखें। सभी के लिए चाहे वह इंसान हो अथवा जानवर। खासकर बिलीयों की बात करें तो उन्हें इस संक्रमण द्वारा फैलने वाले वायरस से आप ही बचा सकते हैं।

सभी को इस वायरस से दूर रखने का सिर्फ एक ही रास्ता है। अपने हाथ धोएं उन्हें सेनिटाइज़ रखे। खुद भी सुरक्षित रहें और दूसरों को भी रखें।

  • 89
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

हेल्थशॉट्स वेलनेस न्यूजलेटर

अपने इनबॉक्स में स्वास्थ्य की दैनिक खुराक प्राप्त करें!

सब्स्क्राइब करे
अगला लेख