फॉलो

स्‍मोकिंग सिर्फ आपके फेफड़ों ही नहीं, हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए भी है खतरनाक, जानिए कैसे

Updated on: 24 September 2020, 11:55am IST
स्मोकिंग न केवल आपके फेफड़ों को नुकसान पहुंचाती है, बल्कि आपके दिल के लिए भी हानिकारक है। जानिए क्या है हृदय पर स्मोकिंग का प्रभाव।
विदुषी शुक्‍ला
  • 81 Likes
स्‍मोकिंग सिर्फ आपके फेफड़े ही नहीं, हड्डियों को भी नुकसान पहुंचा रही है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कोविड-19 के कहर ने हम सभी को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक बनाया है। यही कारण है विश्व हृदय दिवस (world heart day) के उपलक्ष्य में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने तम्बाकू से होने वाली हृदय समस्याओं पर बात की।

WHO के डेटा के अनुसार दुनिया भर में 1.9 मिलियन लोग तम्बाकू से होने वाले हृदय रोग के कारण मर जाते हैं। यह हृदय रोग की हर 5 में से 1 मृत्यु के लिए जिम्मेदार है।

लेकिन क्यों तम्बाकू डालता है दिल पर प्रभाव?

धूम्रपान करना स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक है। स्मोकर्स को अक्सर सिगरेट छोड़ने की सलाह दी जाती है। आपके फेफड़ों और श्वास तंत्र को नष्ट करने के साथ-साथ धूम्रपान आपके कार्डियोवस्कुलर तंत्र के लिए भी हानिकारक है।

आंकड़े बताते हैं कि स्‍मोकिंग करने वालेे लोग हाइपरटेंशन के ज्‍यादा शिकार होते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूकैसल, ऑस्ट्रेलिया के द्वारा किए गए अध्ययन में पाया गया कि धूम्रपान कम उम्र में ही दिल संबंधी बीमारियों खासकर स्ट्रोक को कई गुना अधिक संभावित बनाता है।
WHO के नवीन सर्वे में पाया गया था कि कोविड-19 से होने वाली मृत्युओं में इटली में 67% मृतक का तम्बाकू के कारण श्वास तंत्र खराब होने के साथ-साथ दिल भी कमजोर था। स्पेन में यही दर 43% रही।

विश्व हृदय संस्था (world heart federation) के अनुसार स्मोकिंग करने से रक्तचाप बढ़ता है। यह बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर दिल को नुकसान पहुंचाता है और कोरोनरी हार्ट डिजीज का जोखिम कई गुना बढ़ा देता है।

हम आपको बता दें, कोरोनरी हार्ट डिजीज से हर साल विश्व भर में 9.4 मिलियन लोगों की मृत्यु होती हैं।

धूम्रपान हार्ट हेल्‍थ को लंबे समय तक नुकसान पहुंचाता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

धूम्रपान छोड़ना ही है विकल्प

विश्व हृदय संस्था के तम्बाकू विशेषज्ञ ग्रुप के अध्यक्ष एडुआर्डो बिअंको कहते हैं, “तम्बाकू के दिल पर दुष्प्रभाव से जुड़ी बहुत सी स्टडी और साक्ष्य मौजूद हैं, फिर भी स्मोकिंग में मन वांछित कमी नहीं देखने को मिली है। इस विषय को लेकर लोगों में गंभीरता की कमी होना ही सबसे चिंताजनक बात है। धूम्रपान हार्ट अटैक और स्ट्रोक का जोखिम 25 प्रतिशत तक बढ़ा सकता है।”

धूम्रपान के साथ-साथ अन्य तम्बाकू उत्‍पादों जैसे गुटका, विश्व में दो लाख से अधिक मृत्युओं के लिए जिम्मेदार है, लेकिन सिगरेट ज्यादा खतरनाक हैं।

तम्बाकू का दिल पर प्रभाव। चित्र- शटरस्टॉक।

उम्मीद का दामन न छोड़ें

विश्व हृदय संस्था के अनुसार अगर कोई स्मोकर एक साल के लिए तम्बाकू का सेवन बिल्कुल छोड़ दे, तो दिल के दौरे पड़ने का जोखिम 50 प्रतिशत कम हो जाता है।
इसलिए अगर आप चेन स्मोकर हैं या पैसिव स्मोक करते हैं, तो आपको आज ही धूम्रपान छोड़ देना चाहिए। हम जानते हैं कि यह आसन नहीं है, लेकिन आप इसके लिए प्रोफेशनल सहायता ले सकते हैं।

यह भी पढ़ें – हेल्‍दी हार्ट के लिए अपने 20 के दशक में ही उठाएं ये 5 स्‍वस्‍थ कदम

समाज और सरकार की जिम्मेदारी है कि तम्बाकू से होने वाले नुकसानों के बारे में सभी को पता चले ताकि अपने दिल को सुरक्षित रख सकें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।