और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

World Toilet Day : वेजाइनल हेल्थ के लिए टॉयलेट हाइजीन का रखें हमेशा ध्यान

Published on:19 November 2021, 08:00am IST
विभिन्न प्रकार के संक्रमण और यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI) से बचने के लिए आपको टॉयलेट हाइजीन का पालन करना होगा। जानिए कि कैसे घर, ऑफिस या सफर के दौरान आप स्वच्छता का ख्याल रख सकते हैं।
अदिति तिवारी
  • 103 Likes
Toilet hygiene ki extra care kare
अपने टॉयलेट हाइजीन क खास ख्याल रखें। चित्र:शटरस्टॉक

आप सब जानते हैं कि टॉयलेट विभिन्न प्रकार के बैक्टीरीया और सूक्ष्मजीवों का घर होता है। साफ दिखने के बावजूद यह आपकी वेजाइना को कई गंभीर संक्रमण दे सकता है। घर के टॉयलेट को आप अपने निगरानी में साफ रख सकते हैं। लेकिन यदि आप सफर कर रहें हैं, तो आपके लिए टॉयलेट हाइजीन मेंटेन करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। यही आपकी इंटीमेट हाइजीन के लिए खरनाक हो सकता है। इसलिए हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहें हैं जिनकी मदद से आप टॉयलेट हाइजीन का पालन कर पाएंगे। 

जानिए क्या है वर्ल्ड टॉयलेट डे 

प्रत्येक वर्ष 19 नवंबर को विश्व शौचालय दिवस (World Toilet Day) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य सार्वजनिक स्वास्थ्य, लैंगिक समानता, शिक्षा, आर्थिक विकास और पर्यावरण संरक्षण में सुधार लाने के साथ स्वच्छता के महत्व पर प्रकाश डालना है। 

Washrooom use karne se pehle toilet seat ko saaf kare
शौचालय इस्तेमाल करने से पहले टॉयलेट सीट को साफ करें। चित्र : शटरस्टॉक

वर्तमान में 3.6 बिलीयन लोगों को यह स्पष्ट रूप से बताया जा रहा है कि स्वच्छ शौचालय के बिना बेहतर भविष्य और विकास संभव नहीं है। इसके लिए प्रशासन  को चार गुना तेजी से काम करना होगा। ताकि 2030 तक सभी के लिए स्वच्छ शौचालय सुनिश्चित हो सकें। 

डब्ल्यूएचओ (WHO) और यूनिसेफ (UNICEF) सरकार और उनके सहयोगियों से बेहतर स्वास्थ्य, पर्यावरण, अर्थव्यवस्था और समाज के लिए स्वच्छता में तत्काल सुधार का आह्वान कर रहे हैं। इस वर्ष विश्व शौचालय दिवस की थीम ‘वैल्यूइंग टॉयलेट’ है। 

टॉयलेट को इस्तेमाल करते समय इन जरूरी टिप्स का पालन करें 

घर हो या बाहर, शौचालयों को अधिक साफ रखने की आवश्यकता होती है। विभिन्न प्रकार के प्रदूषण के कारण शौचालय संक्रामक रोगों का आम स्रोत हैं। इन्हीं रोगों से बचने के लिए हम आपको कुछ टॉयलेट हाइजीन टिप्स बता रहें हैं: 

1. फ्लश करने से पहले ढक्कन बंद करें 

शोधकर्ताओं ने पाया कि प्रत्येक फ्लश के साथ, टॉयलेट सीट से 10 इंच ऊपर तक कीटाणु उड़ सकते हैं। ये वही सूक्ष्मजीव हैं, जो संक्रामक रोगों को फैलाते हैं। इतना ही नहीं, ये हानिकारक जीव फैल जाने पर शौचालय की सतहों पर बैठ सकते हैं।

जब आप इन सतहों को छूते हैं, तो ये आपके हाथों के संपर्क में आ जाते हैं। इसके बाद, दूषित हाथों से अपने चेहरे या भोजन को छूने से आप बहुत बीमार हो सकते हैं! विशेषज्ञों का सुझाव है कि फ्लश करने से पहले कीटाणुओं को उड़ने से रोकने के लिए ढक्कन बंद कर दें। यह हानिकारक कीटाणुओं के संपर्क में आने के जोखिम को कम करता है। बाद में अपने हाथों को साबुन और पानी से धोना याद रखें।

Infection se bachne ke liye toilet hygiene ka khyaal rakhe
संक्रमण से बचने के लिए आपको बाथरूम हायजीन का भी ख्‍याल रखना होगा। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. टॉयलेट सीट को साफ रखें

अगर आप सोचते हैं कि फ्लश किया हुआ शौचालय साफ है, तो आपके लिए बुरी खबर है। शौचालय के फ्लश होने के बाद भी 10 लाख से अधिक जीवाणु जीवित रहते हैं! इसलिए यह जरूरी है कि आप टॉयलेट को यूज करने से पहले उसे पानी और टिश्यू पेपर से साफ करें। ताकि कोई भी बैक्टीरिया योनि मार्ग से भीतर न जा सके। 

पब्लिक टॉयलेट हो या घर का, शौचालय में जाने पर आपके पैरों या जूतों के माध्यम से भी कीटाणु आपके संपर्क में आ सकते हैं। जूते खतरनाक बैक्टीरिया का अड्डा होते हैं। शोध से पता चलता है कि 96% से अधिक जूतों में मल के बैक्टीरिया होते हैं। जो निमोनिया और यूरिनरी ट्रैक्ट के संक्रमण सहित अन्य गंभीर संक्रमणों  का कारण बन सकते हैं। घर में टॉयलेट के लिए अलग चप्पलों का इस्तेमाल करना एक अच्छी आदत है। 

3. हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं

जब आप अपने हाथों को साबुन और पानी से धोए बिना शौचालय से बाहर निकलते हैं, तो आपके हाथों पर कीटाणु आपके निकट संपर्क में रहने वाले अन्य लोगों तक पहुंच सकते हैं। इसके अलावा, जब आप दूषित हाथों से अपनी आंख, नाक या मुंह को छूते हैं, तो कीटाणु आपके शरीर में प्रवेश कर सकते हैं।

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, साबुन और पानी से हाथ धोने से डायरिया से पीड़ित लोगों की संख्या 30% कम हो जाती है। इसलिए, जब आप जल्दी में हों तब भी साबुन और पानी को न छोड़ें!

यदि आप सफर कर रहें हैं, तो अपने साथ एक सैनीटाइजर जरूर रखें। पब्लिक शौचालय के साबुन या हैंडवॉश से हाथ धोने से बचें, क्योंकि वे अन्य लोगों के संक्रमण को आप तक फैला सकते हैं। 

Vaginal hygiene ke liye toilet kit
वेजाइनल हाइजीन के लिए अपने साथ टॉयलेट किट रखें। चित्र-शटरस्टॉक.

4. बाहर निकलने से पहले हाथ सुखाएं

शोध बताते हैं कि नम हाथ सूखे हाथों की तुलना में 1,000 गुना अधिक कीटाणु फैलाते हैं! इसके अलावा, नम सतह बैक्टीरिया को पनपने के लिए अधिक अनुकूल वातावरण प्रदान करती है। 30 प्रतिशत से अधिक लोग जल्दबाजी में रहने की वजह से गीले हाथों के साथ निकलते हैं। 

वॉशरूम हाइजीन कंपनियां यूजर्स को खुश रखने के लिए पेपर हैंड टॉवल और टॉयलेट हैंड ड्रायर जैसी सुविधाएं प्रदान कर रही हैं। ये आपके सफर के दौरान भी मददगार साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ें: उम्र बढ़ने का अर्थ सेक्स पर चुप्पी नहीं है, इन टिप्स के साथ बढ़ती उम्र में भी लिया जा सकता है यौन आनंद

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !