आर्गन फेलियर और मृत्यु का भी कारण बन सकता है मच्छर, एक्सपर्ट बता रहे हैं मलेरिया से निपटने के उपाय

इन दिनों मच्छरों की तादाद और उनसे होने वाली समस्याएं भी बढ़ने लगी हैं। विश्व स्वासथ्य संगठन के अनुसार अगले दो वर्ष में मलेरिया से ग्रस्त लाेगों की तादाद बढ़ने का जोखिम है। इसलिए यह जरूरी है कि आप इसके उपचार के बारे में सब कुछ जानें।
malaria se bachaw karta hai vaccine.
मलेरिया प्लास्मोडियम जीनस के ब्लड पैरासाइट के कारण होता है, जो संक्रमित मच्छरों के काटने से फैलता है। चित्र : अडॉबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 25 Apr 2023, 13:57 pm IST
  • 125

वातावरण में गर्मी और नमी भी बढ़ रही है। यह मौसम कई तरह के परजीवियों के पनपने और फैलने के लिए मुफीद है। इनमें से एक है मलेरिया। मलेरिया वायरस मच्छरों में पलते हैं। यह गंदे स्थान में रहता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि मलेरिया से बचाव के लिए साफ़-सफाई का विशेष ख्याल रखना और मॉस्किटो रिपेलेंट का प्रयोग करना सबसे अधिक जरूरी है। मलेरिया के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर वर्ष मलेरिया दिवस (World Malaria Day) मनाया जाता है। यदि किसी कारणवश मलेरिया वाले मच्छरों ने काट लिया है, तो यहां विशेषज्ञ से जानें कि आगे क्या करना है।

मलेरिया दिवस (World Malaria Day, 25 April)

2007 से हर साल 25 अप्रैल को मलेरिया जागरूकता दिवस मनाया जाने लगा। इसके माध्यम से मलेरिया की रोकथाम के उपाय और उपचार के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है। विश्व मलेरिया दिवस 2023 की थीम है मलेरिया को खत्म करने के लिए प्रयास करना (Time to deliver zero malaria: invest, innovate, implement)।
वर्ल्ड हेल्थ ओर्गेनाइजेशन के अनुसार, 2021 में दुनिया की लगभग आधी आबादी को मलेरिया का खतरा था। उस वर्ष, दुनिया भर में मलेरिया के 24.7 करोड़ अनुमानित मामले थे। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, नवजात शिशुओं, गर्भवती महिलाओं, यात्रियों और एचआईवी या एड्स वाले लोगों को गंभीर संक्रमण का अधिक खतरा होता है।

ऑर्गन फेलियर का भी कारण बन सकता है मच्छर

उजाला सिग्नस ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स के फाउंडर और डायरेक्टर डॉ. शुचिन बजाज बताते हैं, मलेरिया प्लाज्मोडियम पैरासाइट (Plasmodium Vivax) के कारण होने वाला एक गंभीर संक्रामक रोग है। यह संक्रमित मच्छरों के काटने से मनुष्यों में फैलता है। मलेरिया के लक्षणों में बुखार, कंपकंपी के साथ ठंड लगना, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द और थकान शामिल हैं।
यदि मलेरिया का उपचार नहीं किया जाए, तो यह गंभीर जटिलताओं को जन्म दे सकता है। इसके कारण ऑर्गन फेलियर और मृत्यु होना भी शामिल है। इसलिए समय रहते उपचार कराना जरूरी है।

यदि मलेरिया बग ने काट लिया है, तो जानिए आपको क्या करना है

1 सबसे पहले परीक्षण करवाएं (Test)

आमतौर पर संक्रमित मच्छर के काटे जाने के 10-15 दिनों के भीतर लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं। यदि आप मलेरिया प्रोन क्षेत्र में रहती हैं या वहां गई हैं, तो आपमें बुखार, ठंड लगना, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द जैसे लक्षण विकसित हो सकते हैं। इसके लिए मलेरिया का परीक्षण करवाना महत्वपूर्ण है। गंभीर जटिलताओं को रोकने के लिए प्रारंभिक निदान और उपचार महत्वपूर्ण हैं।

2 चिकित्सा पर ध्यान दें (Malaria Treatment)

यदि मलेरिया की जांच कराने पर पॉजिटिव परिणाम आया है, तो तुरंत चिकित्सा कराना महत्वपूर्ण है। मलेरिया का इलाज संभव है। लेकिन उपचार का प्रकार लक्षणों की गंभीरता और मलेरिया परजीवी के प्रकार पर निर्भर करता है, जिससे आप संक्रमित हैं।

Dengue ka sahi samay par nidan aur upchar bahut zaruri hai
यदि मलेरिया की जांच कराने पर पॉजिटिव परिणाम आया है, तो तुरंत चिकित्सा कराना महत्वपूर्ण है। चित्र: शटरस्टॉक

3 दवा लेने में न करें लापरवाही (World Malaria Day)

यदि आपको मलेरिया के लिए निर्धारित दवा दी गई है, तो इसे निर्धारित रूप में लेना महत्वपूर्ण है। उपचार की अवधि और दवा को फ़ॉलो करना जरूरी है। खुराक छोड़ने या दवा को जल्द बंद करने से पैरासाइट के दवा प्रतिरोध का विकास (drug-resistant strains) हो सकता है।

4 मोस्किटो रीपेलेंट का उपयोग करें (Use mosquito repellent)

मच्छरों के काटने को रोकने और दूसरों को संचरण के जोखिम को कम करने के लिए डीईईटी (DEET) युक्त मोस्कीटो रीपेलेंट का उपयोग करें।

मलेरिया से बचने के लिए मोस्कीटो रीपेलेंट का प्रयोग करें। चित्र : एडोबी स्टॉक

लंबी बाजू की शर्ट और पैंट पहनें और मच्छरदानी (mosquito net) के नीचे सोएं

5 मलेरिया के प्रसार को रोकें

यदि मलेरिया का निदान किया गया है, तो बीमारी को दूसरों तक फैलने से रोकने के लिए सही कदम उठाना महत्वपूर्ण है। इसमें निर्धारित दवा लेना, मच्छर विकर्षक (mosquito repellent) का उपयोग करना और दूसरों के साथ निकट संपर्क से बचना शामिल है।

यह भी पढ़ें :- World Malaria Day 2023 : बारिश ही नहीं, गर्मियों में भी मलेरिया से सावधान रहना है जरूरी, जानिए क्यों और कैसे

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख