World food day : पेट भरने की बजाए पोषक तत्वों पर भी दें ध्यान, यहां जानिए आपके स्वास्थ्य के लिए प्रोटीन की आवश्यकता

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपके शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। इसलिए, प्रोटीन का सेवन और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।
जानिए डाइट में प्रोटीन का महत्व। चित्र: शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 16 October 2021, 16:00 pm IST
ऐप खोलें

हर वर्ष 16 अक्टूबर को दुनिया भर में वर्ल्ड फूड डे (World Food Day) मनाया जाता है। इसका उद्देश्य वैश्विक रूप से भोजन और भोजन की आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित करना है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से इस संदर्भ में ग्लोबल हंगर इंडेक्स (Global Hunger Index) भी जारी किया जाता है। जिसमें भोजन की उपलब्धता और आवश्यकता के आधार पर हर देश की रैंकिंग होती है। ग्लोबल हंगर इंडेक्स में इस बार भारत का नंबर 116 देशों की सूची में 101वां है। केवल भूख ही नहीं, आपको अपने शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्वों पर ध्यान देना भी जरूरी है। 

आपकी सेहत एवं प्रोटीन की आवश्यकता 

क्या होगा अगर हम आपको बताएं कि प्रोटीन सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व है, जो आपके शरीर को चाहिए ! यह सिर्फ आपकी मांसपेशियों और हड्डियों के लिए ही जरूरी नहीं है, बल्कि इसका आपके स्वास्थ्य पर भी बहुत असर पड़ता है। वजन बढ़ना, हड्डियों का घनत्व कम होना, बालों का झड़ना, त्वचा की समस्याएं, कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली जैसी कई समस्याएं प्रोटीन की कमी के कारण हो सकती हैं। इसलिए आपको जानना चाहिए कि उम्र के हिसाब से आपको हर दिन कितना प्रोटीन लेना है। 

प्रोटीन युक्त आहार हैं जरूरी। चित्र: शटरस्टॉक

उम्र के साथ बढ़ जाती है प्रोटीन की जरूरत 

क्या उम्र बढ़ने के साथ प्रोटीन की जरूरत में बदलाव आता है? खैर, हम जानते हैं कि उच्च प्रोटीन आहार सभी के लिए महत्वपूर्ण है, खासकर वृद्ध लोगों के लिए। इससे पहले कि हम इसके बारे में अधिक चर्चा करें, आइए पहले यह समझें कि हमारे शरीर के लिए प्रोटीन की आवश्यकता क्यों है और यह हमारे स्वास्थ्य के लिए कैसे फायदेमंद है।

ज़ेन मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल में आहार विशेषज्ञ डॉ प्रिया पालन प्रोटीन के विभिन्न लाभों के बारे में बताती हैं। 

जानिए वे 6 कारण जो आपके लिए प्रोटीन को जरूरी बनाते हैं 

1. भूख को नियंत्रित करता है

प्रोटीन भूख हार्मोन ग्रेलिन के स्तर को कम करता है और लेप्टिन के स्तर को बढ़ाता है। यह पूर्णता महसूस करवाने वाला हार्मोन है। यदि आप सूजन और वजन बढ़ने से लड़ना चाहते हैं, तो बस अपने आहार में जटिल कार्ब्स और वसा के साथ पर्याप्त प्रोटीन शामिल करें।

2. मांसपेशियों को मजबूती देता है

प्रोटीन ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर के जोखिम को कम करके आपकी मांसपेशियों को बनाए रखने में मदद करता है।

प्रोटीन आपकी मांसपेशियों को मजबूत करता हैं। चित्र : शटरस्टॉक

3. हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है

यदि आपके पास पर्याप्त प्रोटीन है, तो आप अपनी हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ रखने में सक्षम होंगे, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस से बचा जा सकेगा।

4. क्रेविंग्स को कम करता है

क्या आपके लिए अपनी क्रेविंग्स को नियंत्रित करना मुश्किल लगता है? अपनी क्रेविंग्स  को दूर करने के लिए विभिन्न तरीकों की तलाश है? आपको अपने आहार में अच्छी मात्रा में प्रोटीन शामिल करने की आवश्यकता है। खाद्य नियंत्रण प्राप्त करने के लिए प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और वसा का सही संतुलन महत्वपूर्ण है।

5. चयापचय को बढ़ाता है

प्रोटीन की अच्छी मात्रा मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करती है और आपको पर्याप्त कैलोरी बर्न करने में मदद करती है।

6. वजन घटाना

हां, प्रोटीन युक्त आहार खाने की इच्छा को कम करने में मदद करते हैं, जिससे आप लंबे समय तक तृप्त रहते हैं।

वेट लॉस के लिए फायदेमंद हैं प्रोटीन। चित्र: शटरस्टॉक

यही कारण है कि वृद्ध वयस्कों को युवा वयस्कों की तुलना में अधिक प्रोटीन की आवश्यकता होती है

प्रोटीन मूलभूत पोषक तत्वों में से एक है, जो आपके शरीर को बनाता है। वास्तव में, आपके शरीर की प्रत्येक कोशिका कार्य करने के लिए प्रोटीन पर निर्भर करती है। त्वचा, बाल, नाखून, मांसपेशियां, हड्डियां और सभी आंतरिक अंग। 

इतना ही नहीं, कोशिकाओं और शरीर के ऊतकों के उपचार, निर्माण और मरम्मत के लिए भी प्रोटीन आवश्यक है। प्रोटीन के बिना, आपका शरीर मांसपेशियों और हड्डियों से ताकत खोने लगता है। हमारे जीवन के हर पहलू में प्रोटीन की भूमिका होती है।

लेकिन जब आपकी उम्र बढ़ती है, तो शरीर में प्रोटीन की जरूरत बढ़ जाती है। डॉ. पालन कहती हैं, ” यदि प्रोटीन का सेवन कम हो जाता है, तो यह बुजुर्गों को ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर के प्रति अधिक संवेदनशील बनाता है। मांसपेशियों की ताकत बनाए रखने के लिए पर्याप्त प्रोटीन होना आवश्यक है।”

वे आगे कहती हैं, “वृद्ध वयस्कों के लिए अपने दैनिक प्रोटीन सेवन की निगरानी करना या किसी विशेषज्ञ की मदद लेना अनिवार्य है।”

हर तरह से प्रोटीन को बनाएं अपनी डाइट का हिस्सा। चित्र: शटरस्टॉक

डॉ पालन के अनुसार यहां हैं वे फूड जो आपके लिए प्रोटीन उपलब्ध करवाते हैं 

अंडे, मछली, दूध और उसके उत्पादों, चिकन, दाल, छोले, हरी मटर, सोया दूध, टोफू, नट और बीज, जई, ब्रोकोली, क्विनोआ, स्पिरुलिना, मूंगफली जैसे खाद्य पदार्थ प्रोटीन के महान स्रोत हैं, जो आपकी जरूरतों को पूरा करने में आपकी मदद कर सकते हैं। 

प्रोटीन की आवश्यकताएं विभिन्न कारकों पर आधारित होती हैं:

उम्र, शारीरिक गतिविधि, वजन और तनाव। एक वयस्क व्यक्ति को प्रति kg 0.8 से 1 ग्राम प्रोटीन की आवश्यकता होती है। जीवन चक्र के विभिन्न चरणों में प्रोटीन की आवश्यकता भिन्न होती है, यह विकास की अवधि जैसे कि बचपन, किशोरावस्था, गर्भावस्था, स्तनपान और बुढ़ापे में अधिक होती है।

हालांकि, अपनी प्रोटीन की दैनिक आवश्यकता तें बदलाव में के लिए एक विशेषज्ञ से परामर्श करना बेहतर होगा। 

यह भी पढ़ें: क्या डायबिटीज के मरीजों का खाना चाहिए शरीफा? पोषण के साथ जानिए इस सवाल का भी जवाब

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story