क्या मोमबत्तियां कैंसर का जोखिम दे सकती है? आइए जानते हैं इस दावे की सच्चाई

Published on: 30 March 2022, 20:30 pm IST

एलईडी बल्ब और लाइट के पहले मोमबत्तियों (effect of candle on health) की रोशनी का ही सहारा था। लेकिन क्या इसे जलाना आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक है? जानिए इस प्रश्न का जवाब।

Candles karti hai health ko affect
मोमबत्ती कर सकती है आपके स्वास्थ्य को प्रभावित। चित्र:शटरस्टॉक

आज की दुनिया में, मोमबत्तियों का उपयोग सजावट के रूप में, समारोहों और आरामदेह सुगंधों के लिए किया जाता है। अधिकांश आधुनिक मोमबत्तियां पैराफिन मोम से बनाई जाती हैं। लेकिन वे आमतौर पर मोम, सोया मोम या ताड़ के मोम से भी बनी होती हैं।

इस विषय पर इन दिनों अच्छी खासी बहस चल रही है कि मोमबत्ती जलाना आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। कुछ लोग दावा करते हैं कि मोमबत्तियां संभावित रूप से हानिकारक टॉक्सिक पदार्थों को छोड़ती हैं। हालांकि, तर्क के दूसरे पक्ष के लोगों का कहना है कि मोमबत्तियों में इतनी ज्यादा मात्रा में विषाक्त पदार्थ नहीं होते कि वे सेहत को नुकसान पहुंचा सकें। बिना बहस में पड़े, हम इसके सेहत पर होने वाले प्रभावों की जांच करने वाले हैं।

क्या मोमबत्तियां जहरीली होती हैं? (Are candles toxic?) 

इंटरनेट पर कई लेख हैं, जो मोमबत्ती जलाने के खतरों के बारे में बताते हैं। हालांकि, इनमें से कई लेख अपने दावों के समर्थन में एविडेंस या बिना किसी सबूत का उपयोग करते हैं।

क्या मोमबत्ती की बत्ती लीड की बनी होती है? (Are candles light made of lead?)

वर्तमान में संयुक्त राज्य अमेरिका में मोमबत्ती की बाती में लीड नहीं होता है। 2003 में, यू.एस. कंज्यूमर प्रोडक्ट सेफ्टी कमीशन (CPSC) ने लीड की बत्तियों के साथ मोमबत्तियों की बिक्री और निर्माण पर प्रतिबंध लगाने के लिए कदम उठाए हैं। उन्होंने अन्य देशों से लीड युक्त मोमबत्तियों के आयात पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

Candles ka sehat par prabhav jaane
मोमबत्ती का सेहत पर प्रभाव जानें। चित्र- शटरस्टॉक

अधिकांश मोमबत्ती निर्माताओं ने 1970 के दशक में अपनी मोमबत्तियों में लीड का उपयोग बंद कर दिया। इस चिंता के कारण कि धुएं से निकला लीड टॉक्सिक हो सकता है। विशेष रूप से बच्चों की सेहत को ध्यान में रखते हुए लीड युक्त मोमबत्तियों को बाजार से हटा दिया गया था।

क्या मोम जहरीले रसायनों से बना है? (Are candle wax made of harmful chemicals?)

अधिकांश आधुनिक मोमबत्तियां पैराफिन मोम से बनाई जाती हैं। इस प्रकार का मोम पेट्रोल बनाने के उपोत्पाद के रूप में पेट्रोलियम से बनाया जाता है।

2009 के अध्ययन में पाया गया कि पैराफिन मोम जलाने से टोल्यूनि जैसे संभावित खतरनाक रसायन निकलते हैं। हालांकि, यह अध्ययन कभी भी एक पत्रिका में प्रकाशित नहीं हुआ था, और नेशनल कैंडल एसोसिएशन एवं यूरोपियन कैंडल एसोसिएशन ने अध्ययन की विश्वसनीयता के बारे में सवाल उठाए थे।

यूरोपियन कैंडल एसोसिएशन द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, “उन्होंने समीक्षा के लिए कोई डेटा प्रदान नहीं किया है, और उनके निष्कर्ष असमर्थित दावों पर आधारित हैं। किसी भी प्रतिष्ठित वैज्ञानिक अध्ययन ने मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होने के लिए पैराफिन समेत किसी भी मोमबत्ती मोम को कभी नहीं दिखाया है।”

यूरोपियन कैंडल एसोसिएशन द्वारा वित्त पोषित 2007 के एक अध्ययन में 300 जहरीले रसायनों के लिए हर प्रमुख प्रकार के मोम की जांच की गई।

शोधकर्ताओं ने पाया कि प्रत्येक प्रकार की मोमबत्ती से निकलने वाले रसायनों का स्तर मानव स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनने वाली मात्रा से काफी कम था।

क्या सेंटेड कैंडल्स जहरीली होती हैं? (Are scented candles toxic?)

सुगंधित मोमबत्तियां जलाने से फॉर्मलाडेहाइड जैसे वेपोराइजिंग कार्बनिक केमिकल निकल सकते हैं, जो आपके लिए कैंसर के खतरे को बढ़ा सकते हैं।

भले ही सुगंधित मोमबत्तियां इन यौगिकों को छोड़ती हैं, पर यह स्पष्ट नहीं है कि क्या वे आपके स्वास्थ्य को प्रभावित करते हैं। सुगंधित मोमबत्तियों से एलर्जी की प्रतिक्रिया होना भी संभव है। इसके लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

  1. छींक आना
  2. बहती नाक
  3. साइनस ब्लॉकेज
candles ke dhuyen se aa sakti hai cheenk
मोमबत्ती के धुएं से आ सकती है लगातार छींक। चित्र : शटरस्टॉक

आपके स्वास्थ्य के लिए कौन सी मोमबत्तियां सबसे अच्छी हैं?

एक अध्ययन के अनुसार, पाम स्टीयरिन से बनी मोमबत्तियां पैराफिन से बनी मोमबत्तियों की तुलना में आधा धुआं ही छोड़ती हैं। शोधकर्ता यह भी बताते हैं कि प्राकृतिक मोमबत्तियों से संभावित खतरनाक रसायनों की सबसे कम मात्रा निकलती है।

कुछ प्राकृतिक मोमबत्तियों के विकल्पों में शामिल हैं:

  1. नारियल का मोम
  2. सोया मोम
  3. ताड़ का मोम
  4. वेजिटेबल वैक्स

सारांश

मोमबत्ती जलाने से ऐसे रसायन निकलते हैं, जो मानव स्वास्थ्य के लिए संभावित रूप से खतरनाक हो सकते हैं। हालांकि, ऐसा कोई निश्चित शोध नहीं है जो यह दर्शाता हो कि मोमबत्ती के धुएं के संपर्क में आने से किसी भी स्वास्थ्य स्थिति के विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है।

किसी भी तरह का धुंआ सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। यदि आप नियमित रूप से मोमबत्तियों का उपयोग करने की योजना बनाते हैं, तो यह एक अच्छा विचार है कि आप उन्हें हवादार कमरे में जला दें। इससे आपके द्वारा सांस लेने वाले धुएं की मात्रा को कम किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: अपने लंच में पैक करें गर्मियों की ये हाइड्रेटेड सब्जियां, नहीं आएगी खाने के बाद नींद, न होगी थकान

अदिति तिवारी अदिति तिवारी

फिटनेस, फूड्स, किताबें, घुमक्कड़ी, पॉज़िटिविटी...  और जीने को क्या चाहिए !

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें