इन चार कारणों से वज़न घटाने में कामयाब है त्रिफला, जानिए कैसे करना है इस्‍तेमाल

त्रिफला आयुर्वेद का अभिन्न अंग है, इसके अनेक फायदे भी आयुर्वेद में बताए गए हैं। पर क्या आप जानती हैं यह वज़न भी घटाता है? हम बताते हैं कैसे !
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 21 Dec 2020, 09:32 pm IST
  • 92

आप में से जो लोग परंपरावादी भारतीय परिवारों से हैं, वे लोग आयुर्वेद और उसमें बताई गई जड़ी-बूटियों के फायदे शायद पहले से ही जानते हों। लेकिन आजकल के लाइफ स्टाइल में बहुत से लोग ऐसे हैं जो इसके बारे में कम ही जानते है। भले ही यह आपके किचन में पहले से मौजूद हो, लेकिन फि‍र भी हो सकता है कि आप त्रिफला के फायदे न जानती हों।

इस जादुई टॉनिक को संस्कृत में तीन फलों में बांटा गया है, असल में यह तीन फलों से बनता है:

सभी को समान मात्रा में लेना होता है:

• आंवला Amla (Phyllanthus emblica)
• हरड़ Harada (Terminalia chebula)
• बहेड़ा Bihara (Terminalia bellirica)

ये तीन पारंपरिक फल हैं जिनमें शक्तिशाली औषधीय, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीकरण गुण हैं।

कहने की जरूरत नहीं है, इनको इस्तेमाल में लाने का परिणाम भी तीन गुना अधिक शक्तिशाली होता है। यह टॉनिक पाचन को नियंत्रित करता है, मधुमेह को नियंत्रित करता है, त्वचा की बनावट में सुधार करता है, प्रतिरक्षा को बढ़ाता है, और मल त्याग को आसान बना देता है।

क्या आप जानतें हैं त्रिफला चूरन का एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ खाली पेट खाने से या त्रिफला चाय पीने से आप वजन आसानी से घटा सकती हैं। त्रिफला सच में एक गेम चेंजर है। यह कई पौंड वजन चुटकियों में गायब कर देता है।

जानिए कैसे त्रिफला वजन घटने में अपना जादू दिखाता है:

1. ब्लड शुगर लेवल को करता है कण्ट्रोल

आप डायबिटिक हो या नहीं, जब आप भोजन करते हैं, तो यह भोजन शरीर में ऊर्जा के लिए ग्लूकोज के रूप में टूट जाता है। इंसुलिन शरीर द्वारा बनने वाला एक हार्मोन है। इसी की मदद से आपका शरीर ग्लूकोस को एब्जॉंर्ब करता है। कुछ हाई कार्ब या शुगर वाले खाद्य पदार्थ आपके शरीर में इंसुलिन के स्तर को बढ़ा सकते हैं।

इसका मतलब है कि आप अपनी आवश्यकता से अधिक ग्लूकोज को एब्जॉर्ब करते हैं। अत्यधिक और अपर्याप्त ग्लूकोज वसा के रूप में जमा हो जाता है और वजन बढ़ने लगता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

2007 की एक स्टडी में पाया गया कि त्रिफला ब्लड शुगर के लेवल को कम करता है। बहेड़ा में फाइटोकेमिकल्स (phytochemicals) की उपस्थिति के कारण ऐसा संभव हो पता है। इस प्रकार, यह फैट को शरीर में इकठा नही होने देता और वजन बढ़ने से भी बचाता है।

त्रिफला एंटी-ऑक्सीडेंट्स का भंडार है ?

त्रिफला पॉलीफेनोल्स (एंटीऑक्सिडेंट) का एक समृद्ध स्रोत है जो शरीर में रेडिकल्स के खिलाफ लड़ सकता है।

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ़ ओबेसिटी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, एंटीऑक्सिडेंट आपके फैट को जला देता है, शरीर में फैट के कारण जो टोक्सिन बनते हैं उनसे छुटकारा पाने में मदद कर इम्यूानिटी को बढ़ा सकता हैं। इसके ज़रिए आप अपना वजन कम कर सकते हैं।

आयुर्वेद में त्रिफला को पेट के लिए सबसे अच्‍छा माना गया है। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. यह आपको सूजन से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है

त्रिफला एक प्राकृतिक औषधि है जो मल त्याग में मदद करता है। यह मल को नरम करने के लिए आपके शरीर से पानी को अपनी छोटी आंतों में खींचकर आपके पेट को साफ करने में भी आपकी मदद कर सकता है। नतीजतन, आप उस अतिरिक्त पानी से छुटकारा पा सकते हैं जिसे आपके शरीर ने बनाए रखा हो। इस तरह आपको रहत मिल सकती है।

4. बेली फैट को करता है दूर

2007 के एक अध्ययन के अनुसार, त्रिफला का सेवन आपकी कमर पर जो फैट है उसको कम करता है क्योंकि यह फैट को इकट्ठा  नहीं होने देता। विशेष रूप से आपके पेट के आसपास। यह सचमुच आपकी कमर के आकार को कम करने में आपकी मदद करता है ! तो गर्ल्स अपनी पुरानी डेनिम में फिट होने के लिए तैयार हो जाइए।

त्रिफला एक जादुई औषधि है, यह आपको एक अमृत के समान परिणाम दे सकता है। इसे इस्तेमाल में लाने के बाद अपने कई किलो वजन काम कर पाएंगी।

  • 92
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख