फॉलो
वैलनेस
स्टोर

अब भी कोविड-19 से बचने में फेस शील्‍ड से ज्‍यादा कारगर है फेस मास्‍क पहनना, जानिए क्‍या कहती है स्‍टडी

Published on:13 December 2020, 13:30pm IST
कोरानावायरस से खुद को सुरक्षित रखने के लिए फेस शील्ड पहनना उतना प्रभावी नहीं है, जितना कि ज्यादातर लोग सोचते हैं। अब भी आपके लिए मास्क ही सबसे ज्‍यादा सुरक्षित हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 70 Likes
लोगों में फेस शील्‍ड पहनने का चलन बढ़ रहा है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अगर आपको लगता है कि चहरे पर फेस शील्ड पहनकर बाहर जाना खुद को नोवल कोरोनावायरस से बचाने के लिए पर्याप्त है? तो आप पूरी तरह से गलत नहीं हैं। इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह सुरक्षा के लिए एक अतिरिक्त परत जोड़ती है। लेकिन यह आपके मास्क की जगह नहीं ले सकती। शोधकर्ताओं ने खुलासा किया है कि फेस मास्क के विकल्प के रूप में फेस शील्ड का उपयोग करने वाले लोगों की संख्या स्कूलों, विश्वविद्यालयों, रेस्तरां और व्यवसायों में बढ़ रही है।

फिजिक्स ऑफ फ्लूइड्स नामक जर्नल में हाल ही में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए चेहरे पर सिर्फ अकेले फेस शील्ड को लगाना प्रभावी नहीं होता है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

क्‍या कहता हैै शोध   

जापान में फुकुओका विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों के साथ ही अन्य वैज्ञानिकों के मुताबिक छींक एक द्रव घटना उत्पन्न करती हैं जिसे वोर्टेक्स रिंग (vortex rings) के रूप में जाना जाता है जो सूक्ष्म कणों को पकड़ सकता है और ढाल के अवरोध से गुजर सकता है।

फेस शील्‍ड फेस मास्‍क का विकल्‍प नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक
फेस शील्‍ड फेस मास्‍क का विकल्‍प नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

फुकुओका विश्वविद्यालय से अध्ययन के सह-लेखक फुजियो अकागी ( Fujio Akagi) के माताबिक, वोर्टेक्स रिंग (vortex ring) एक डोनट के आकार का भंवर है जो एक गोलाकार छिद्र से तरल पदार्थ के तात्कालिक इंजेक्शन द्वारा उत्पन्न होता है। यह डॉल्फिन द्वारा बनाए गए बबल रिंग जैसा दिखता है।

क्या होता है जब फेस शील्ड पहना हुआ व्यक्ति एक संक्रमित व्यक्ति की छींक के संपर्क में आता है, जो उनसे एक मीटर दूर खड़ा होता है?

फुजियो अकागी न कहा कि छींक से उत्पन्न भंवर के छल्ले छींक के भीतर सूक्ष्म बूंदों को पकड़ते हैं और उन्हें चेहरे की ढाल के ऊपरी और निचले किनारों तक पहुंचाते हैं। उन्होंने कहा कि बूंदें छलने के बाद 0.5 से 1 सेकंड के भीतर फेस शील्‍ड पहनने वाले के पास तेजी से पहुंचती हैं। यदि इस आगमन समय को सांस के साथ सिंक्रनाइज़ किया जाता है, तो फेस शील्‍ड पहनने वाले को बूंदों को सांस के साथ अंदर लेना होगा।

फेस शील्‍ड के किनारों पर चिपक जाते हैं वायरस के कण 

विश्लेषण के आधार पर, वैज्ञानिकों ने कहा कि छींक की बूंदों को न केवल छींक के कारण होने वाले उच्च वेग वायु प्रवाह (high velocity airflow) द्वारा ही नहीं ले जाया जाता है, बल्कि छींकने से उत्पन्न भंवर के छल्ले द्वारा भी ले जाया जाता है। उन्होंने कहा कि भंवर के छल्ले द्वारा ले जायी गई सूक्ष्म बूंदें अपने ऊपर और नीचे के किनारों के माध्यम से शील्‍ड के अंदर मिल सकती हैं।

अध्ययन में वैज्ञानिकों ने यह भी पुष्टि की है कि कुछ कण- इस सिमुलेशन में, जारी बूंदों में से 4.4 प्रतिशत फेस शील्‍ड के अंदर प्रवेश करते हैं और नाक के आसपास के क्षेत्र में पहुंच जाते हैं।

सर्जिकल मास्‍क का उपयोग एक ही बार करने की सलाह दी जाती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
सर्जिकल मास्‍क का उपयोग एक ही बार करने की सलाह दी जाती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

फुजियो अकागी न कहा, फेस शील्ड की कमजोरियों की बेहतर समझ हासिल करके, उनके अंदर हो रहे प्रवाह को कम करके सुरक्षा बढ़ाने की उम्मीद करते हैं। हम वर्तमान में कई बेहतर शील्‍ड का विकास और प्रदर्शन कर रहे हैं।

अभी तक मास्‍क हैं ज्‍यादा कारगर 

हम लोगों को संक्रमण से सुरक्षित रखने में योगदान देना चाहते हैं, और मानते हैं कि निकट भविष्य में एक दिन, चिकित्सा कर्मचारी केवल एक फेस शील्‍ड और नियमित रूप से मास्क का उपयोग करके संक्रमण को रोकने में सक्षम होंगे, या आदर्श रूप से वे केवल एक फेस शील्ड के साथ काम करेंगे।

इसलिए, सुनिश्चित करें कि आप अपने आप को किसी भी संक्रमण से दूर रखने के लिए फेस शील्ड के साथ मास्क भी पहन रहे हैं।

यह भी पढ़ें – क्‍या सचमुच कीटो डाइट कोविड-19 के जोखिम को कम कर सकती है? आइए पता करते हैं 

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।