कानों में दर्द होना हो सकता है ओमिक्रोन का संकेत, इंटेस्टाइन पर भी कर सकता है हमला

Published on: 24 January 2022, 14:11 pm IST

दुनिया भर में कोरोनावायरस का नया वेरिएंट ओमिक्रोन तेजी से फैल रहा है। विभिन्न रिसर्च में इस नए वेरिएंट के 20 से अधिक लक्षण सामने आ चुके है। वहीं, अब इसके कुछ नए लक्षण सामने आ रहे हैं।

corona ka naya lakshan
ओमिक्रोन के नए लक्षण में हो रहा है कान दर्द। चित्र : शटरस्टॉक

देश में कोरोनावायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। जैसे-जैसे इस वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, वैसे-वैसे लोगों में इसके नए लक्षण देखे जा रहे हैं। गौरतलब है कि ओमिक्रोन वेरिएंट के 20 से अधिक लक्षण सामने आ चुके हैं। इनमें ओमिक्रोन का सबसे घातक हमला आपके इंटेस्टाइन पर हो सकता है। जबकि कान में दर्द होना भी इसका लक्षण है। आइए जानते हैं ओमिक्रोन के नए लक्षणों (New symptoms of Omicron) के बारे में विस्तार से। 

कोरोनावायरस के लक्षण 

janiye corona ke naye lakshan
कोरोनावायरस के लक्षणों को गंभीरता से लेना जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कोविड-19 की दूसरी और तीसरी लहर में सामने आ चुका है कि कोरोनावायरस आपके शरीर के किसी भी अंग पर हमला कर सकता है। इनमें हार्ट, दिमाग और आंख पर असर देखा गया है। वहीं, अब इसके कुछ और लक्षण सामने आ रहे हैं। ब्रिटेन की एक रिपोर्ट में इस नए वेरिएंट के लक्षणों को लेकर बेहद चौंकाने वाली बात सामने आई है। कोरोना के ये नए लक्षण उन लोगों में नजर आ रहे हैं, जो वैक्सीन ले चुके हैं। रिपोर्ट में दावा किया गया कि ओमिक्रोन अब लोगों के कानों पर अटैक कर रहा है। 

जानिए, ओमिक्रोन वेरिएंट के नए लक्षण (Know the new symptoms of Omicron variants)

  1. कानों में दर्द होना 
  2. अचानक कानों में तेज सनसनाहट महसूस होना 
  3. कानों में ऐसा महसूस होना कि जैसे सीटी या घंटी बज रही है।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स? (What do experts say about Omicron New Symptoms)

हाल ही में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (Stanford University) ने कुछ ऐसे लोगों की कोरोना की जांच कि जो इन नए लक्षणों से प्रभावित नजर आये थे। रिपोर्ट में देखा गया कि उन लोगों की रिपोेर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। यदि आपको कानों में दर्द हो रहा है, कानों तेज सनसनाहट महसूस हो रही है या फिर कानों में घंटी या सीटी बजने की आवाज आ रही है। ऐसे में इन लक्षणों को नजरअंदाज करने की बजाय अपनी कोरोना जांच कराएं या डॉक्टर से संपर्क करें। 

ओमिक्रोन के इन नए लक्षणों को लेकर विशेषज्ञों ने बेहद सकारात्मक राय रखी है। उनका कहना हैं कि अगर समय पर इस वायरस के लक्षण को पहचान लिया जाए, तो तुरंत उपचार लिया जा सकता है। 

रिपोर्ट नेगेटिव आने पर भी हैं पेट से संबंधित समस्याएं, तो सावधान हो जाएं (Omicron in intestine?)

negative hone ke baad bhi lakshan
कोविड टेस्ट का रिजल्ट नेगेटिव आने के बाद भी दिख सकते हैं लक्षण। चित्र : शटरस्टॉक

कुछ अन्य रिसर्च में इसके दूसरे लक्षण भी सामने आ रहे हैं। जिनमें में पेट खराब होने की शिकायतें सामने आ रहीं है। इसका मतलब यह है कि वायरस नाक की बजाय आंत में छिपा हो सकता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, कुछ लोगों की जांच के बाद कोरोना वायरस की रिपोर्ट नेगेटिव आती है, तो इसका मतलब यह नहीं कि उन्हें कोरोना नहीं है। इसका मतलब यह भी हो सकता है कि वायरस मुंह या नाक की बजाय आंत में चला गया है। बता दें कि कोरोना वायरस बॉडी के किसी भी हिस्से को प्रभाावित कर सकता है। 

पेट दर्द और डायरिया की समस्या 

नवम्बर, 2021 के बाद से लोगों में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन के नए लक्षण देखें जा रहे हैं। मरीजों में बदन दर्द, सर्दी जुकाम, जी मिचलाना, बिना बुखार के उल्टी होना और कमजोरी के लक्षण के साथ ही डायरिया और पेट दर्द जैसी समस्याएं देखी जा रही है। 

गुड़गांव के फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट के डायरेक्ट डॉक्टर मनोज गोयल के मुताबिक, ”मरीजों में पेट में परेशानी के साथ सर्दी-जुकाम, पेट दर्द, पीठ दर्द, मितली, भूख न लगना, दस्त और उल्टी जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं। 

ऐसा इसलिए होता है कि ओमिक्रोन वेरिएंट के कारण पेट के ऊपरी हिस्से की पतली परत म्यूकोसा संक्रमित हो जाती है। इसी कारण से सूजन की समस्या आ जाती है। हालांकि, डॉ. गोयल का कहना हैं कि जिन लोगों को वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं, उनमें भी यह समस्या आ रही है। अगर उनमें गंभीर लक्षण नहीं हैं, तो चिंता करने की आवश्यकता नहीं है।  

क्या करें जब हों पेट से संबंधित समस्याएं 

एक्सपर्ट्स का मानना हैं कि अगर, उपरोक्त लक्षण आप में नजर आ रहे हैं, तो इसे नार्मल फ्लू समझने की गलती न करें। ये लक्षण नजर आने पर खुद को सबसे पहले आइसोलेट कर लें। 

Pet dard ka kaaran ban sakta hai sankramn
संक्रमण पेट दर्द का कारण बन सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

इस स्थिति में डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही दवाएं लेना चाहिए। ऐसे मरीजों को हेल्दी खाना, अधिक पानी पीना और पर्याप्त नींद लेना जरूरी है। जबकि अधिक मिर्च-मसाला, तीखा भोजन, शराब पीने और स्मोकिंग करने से बचना चाहिए। ऐसे मरीजों को आइसोलेशन का समय पूरा करने के बाद ही घर से बाहर निकलना चाहिए।

यह भी पढ़े :पांच साल से छोटे बच्चों को नहीं है मास्क पहनने की जरूरत, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की नई कोरोना गाइडलाइंस

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें