हेयर फॉल रोकना है, तो सबसे पहले ब्लड टेस्ट करवाएं, ये 7 टेस्ट बता सकते हैं हेयर फॉल की असल वजह

हेयर फॉल कई कारणों से हो सकता है। हेयर फॉल विटामिन की कमी, ब्लड शुगर के कारण से भी हो सकता है। इसका पता लगाने के लिए ब्लड टेस्ट जरूरी है। एक्सपर्ट बताते हैं कि यदि किसी महिला के हेयर फॉल अधिक हो रहे हैं, तो उन्हें ब्लड टेस्ट कराना चाहिए।
hair fall ka karan janane ke liye blood test jaroori hai.
अंडरएक्टिव थायरॉयड के कारण हाइपोथायरायडिज्म और अति सक्रिय थायरॉयड के कारण हाइपरथायरायडिज्म होता है। यदि इसका इलाज नहीं किया जाए, बाल झड़ने की समस्या हो सकती है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 15 Feb 2024, 17:32 pm IST
  • 125
मेडिकली रिव्यूड

पुरुषों की तुलना में महिलाओं के बाल कम टूटते -झड़ते हैं। इन दिनों खराब लाइफस्टाइल के कारण महिलाओं में हेयर फॉल अधिक हो रहे हैं। तनाव, हेल्थ प्रॉब्लम, आहार, बालों की देखभाल में कमी जैसे कारक युवा महिलाओं में बालों के झड़ने का कारण बन सकते हैं। यदि किसी महिला को हेयर फॉल की समस्या अधिक परेशान कर रही है, तो उसे अपना ब्लड टेस्ट करवा लेना चाहिए। ब्लड टेस्ट के आधार पर ही बालों के झड़ने (blood test for hair fall) का प्रभावी उपचार खोजा जा सकेगा।

किन कारणों से अधिक होता है हेयर फॉल (Causes of Hair Fall)

• बालों का झड़ना आनुवंशिकी या हार्मोन के कारण (blood test for hair fall) भी हो सकता है।
• तनाव, एंग्जाइटी या ट्रॉमा के कारण हो सकता है।
• ऑटो इम्युनिटी की वजह से, जहां शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली हेयर फॉलिकल पर हमला करती है।
• यदि कोई महिला कीमोथेरेपी करा रही है, तो उसके बाल अधिक झड़ेंगे।

हेयर फॉल का कारण जानने के लिए ब्लड टेस्ट (blood test for hair fall)

ट्राइकोलॉजिकल ब्लड टेस्ट बालों के झड़ने के अलग-अलग कारकों का पता लगा सकते हैं।

1 थायरॉइड लेवल (Thyroid level)

अंडरएक्टिव थायरॉयड के कारण हाइपोथायरायडिज्म और अति सक्रिय थायरॉयड के कारण हाइपरथायरायडिज्म होता है। यदि इसका इलाज नहीं किया जाए, बाल झड़ने (blood test for hair fall) की समस्या हो सकती है। थायरॉइड TSH, FT3 और FT4 हार्मोन का उत्पादन करता है। ब्लड टेस्ट यह मापता है कि प्रत्येक हार्मोन का कितना उत्पादन हो रहा है। इससे यह पता चलता है कि अति सक्रिय या कम सक्रिय थायरॉयड है।

2 सेक्स हार्मोन (Sex Hormone)

बालों के विकास को बनाए रखने में सेक्स हार्मोन लेवल एक बड़ी भूमिका निभाता है। महिलाएं टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन करती हैं, जो डीएचटी में मेटाबोलाइज होता है। डीएचटी बालों के रोम में एण्ड्रोजन रिसेप्टर्स को बांधता है। इससे वे सिकुड़ जाते हैं और बाल पैदा करना बंद कर देते हैं।
ब्लड टेस्ट आमतौर पर सेक्स हार्मोन लेवल को मापता है। इसमें टेस्टोस्टेरोन, ऑस्ट्राडियोल, एन्ड्रोस्टेनडायोन, प्रोलैक्टिन, एफएसएच ल्यूटिन हार्मोन शामिल होते हैं। हार्मोन का स्तर पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम जैसी स्थितियों की उपस्थिति का भी संकेत दे सकता है, जिसे बालों के झड़ने से भी जोड़ा गया है।

testosterone ki kami se baal jhdte hain.
बालों के विकास को बनाए रखने में सेक्स हार्मोन  टेस्टोस्टेरोन एक बड़ी भूमिका निभाता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

3 आयरन और फेरिटिन लेवल (Iron and ferritin level)

बालों का झड़ना एनीमिया या आयरन की कमी के कारण भी हो सकता है। आयरन की कमी और बालों की बनावट के बीच संबंध हो सकता है।अध्ययन बताते हैं कि सीरम फेरिटिन ब्लड प्रोटीन है, जिसमें आयरन होता है। इसका लेवल स्वस्थ बालों वाली महिलाओं की तुलना में बाल झड़ने वाली महिलाओं में कम होता है। आयरन की कमी एलोपेसिया एरियाटा के विकास में भी योगदान दे सकती है। इसलिए ब्लड में आयरन और फ़ेरिटिन लेवल से हेयर लॉस का पता चल सकता है।

4 होल ब्लड काउंट (Whole blood count)

सीबीसी या होल ब्लड काउंट ब्लड के व्यक्तिगत घटकों को मापती है। इसमें रेड ब्लड सेल्स, वाइट ब्लड सेल्स और प्लेटलेट्स शामिल हैं। यह बालों के रोमों के आसपास सूजन के लक्षणों का संकेत दे सकता है। यह एक ऑटोइम्यून स्थिति का संकेत दे सकता है, जो बालों के झड़ने का कारण हो सकता है।

5 विटामिन डी लेवल (Vitamin D level)

विटामिन डी की कमी को ऑटोइम्यूनिटी से जोड़ा गया है। इसलिए यह एलोपेसिया एरीटा जैसी ऑटोइम्यून बालों के झड़ने की स्थिति का भी कारण बन सकता है। हार्वर्ड हेल्थ के शोध बताते हैं कि विटामिन डी की कमी बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

6 विटामिन बी लेवल (Vitamin B Level)

कई अलग-अलग बी विटामिन हैं, जिनमें से कई को बालों के झड़ने (blood test for hair fall) से जोड़ा गया है। फोलेट (विटामिन बी9) – फोलेट फोलिक एसिड के रूप में भी जाना जाता है। बायोटिन (विटामिन बी7), विटामिन बी12 की कमी से बाल झड़ सकते हैं।

vitamin B ki kami se hair fall ho sakte hain.
बायोटिन (विटामिन बी7), विटामिन बी12 की कमी से बाल झड़ सकते हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक

7 ब्लड शुगर (Blood Sugar)

ब्लड शुगर लेवल डायबिटीज का संकेत दे सकता है। विशेष रूप से टाइप 2 डायबिटीज बालों के झड़ने (blood test for hair fall) से जुड़ा हो सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें :- Cancer Treatment : कार्ट सेल थेरेपी के जरिये अब भारत में भी हो सकेगा कैंसर का इलाज

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख