सर्वे में आया सामने, ज्यादातर लोग सेहत के लिए बनते हैं शाकाहारी

अगर आपकी सेहत के लिए जरूरी हो तो क्या आप अपने आहार में बदलाव करना चाहेंगे? इस सर्वे के अनुसार ज्यादातर लोग अपनी सेहत के लिए आहार संबंधी बदलाव करने को तैयार हैं।
शाकाहार स्वस्थ रहने के लिए ज्यादा बेहतर आहार है। चित्र : शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 26 Apr 2022, 09:22 am IST
  • 94

सेहत हमेशा से हमारी प्राथमिकता पर रहती है, जल्दीं या देर से हम सभी इस बात को समझने लगते हैं। हम सभी सेहतमंद रहना चाहते हैं और इसके लिए हम आहार संबंधी बदलावों के लिए तैयार रहते हैं। जी हां, यह बिल्कुल सच है और इस सर्वे में यह बात साबित हो चुकी है।

एक नए शोध में यह सामने आया है कि मांसाहार छोड़कर शाकाहार को अपनाने वाले ज्यादातर लोगों में, ऐसा करने का कारण उनकी सेहत से संबंधित था।

लोग अलग-अलग कारणों से शाकाहार को अपना रहे हैं। पश्चिमी संस्कृति में सबसे आम कारण है – सेहत, पर्यावरण और पशु अधिकार। लेकिन मांसाहारियों के लिए ये कारण कितने सम्मोहक हैं?
कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, डेविस के मनोविज्ञान विभाग के शोधकर्ताओं ने संयुक्त राज्य अमेरिका और हॉलैंड में, विभिन्न भाषाओं और जातीयता के 8,000 लोगों का सर्वेक्षण किया, ताकि यह निर्धारित करने में मदद की जा सके कि मांसाहारी शाकाहारी बनने का फैसला क्यों करते हैं।

अपने स्वास्‍थ्‍य के लिए शाकाहार अपनाएं

परिणामों से पता चला कि मांसाहारी लोगों को शाकाहारी बनने के लिए उनके स्वास्‍थ्‍य संबंधी कारणों ने सबसे ज्यादा प्रेरित किया। जबकि पर्यावरण और पशु अधिकारों के संबंध में ऐसी प्रेरणा कम काम करती है। हालांकि, जो लोग पहले से शाकाहारी भोजन के लिए प्रतिबद्ध हैं, उनमें पर्यावरण या जानवरों के अधिकार सबसे बड़ा कारण हैं।

मामला सेहत का हो तो शाकाहार अपनाने में क्या बुराई है। चित्र : शटरस्टॉक

मनोविज्ञान के प्रोफेसर और इस प्रपत्र के सह-लेखक क्रिस्टोफर जे.होपवुड कहते हैं, “शाकाहार के प्रति आकर्षित होने का सबसे आम कारण जो लोगों ने बताया, वह उनके स्वास्‍थ्‍य के प्रति सजग होना था। हालांकि, स्वास्‍थ्‍य के लिए मुख्य तौर पर शाकाहार की ओर मुड़ने की संभावना सामान्यत: कम ही लगती है।”

यह एक तरह से चुनौती पैदा करता है कि आखिर वे किस उद्देश्य से यह बदलाव करना चाह रहे हैं।

लोगों के विभिन्न समूहों में विभिन्न उद्देश्यों का आकलन करने में एक संभावित समाधान की ओर बढ़ा जा सकता है। शोधकर्ताओं ने पाया कि स्वास्थ्य संबंधी उद्देश्य पारंपरिक और पुरुषत्व से जुड़े थे, जबकि पर्यावरण या पशु अधिकारों का हवाला देने वाले लोग उत्सुक, अनुभवों पर विश्वास करने वाले, स्वयं आगे आने वाले और कला में रुचि रखने वाले थे।

होपवुड ने इन परिणामों के आधार पर निष्कर्ष निकाला कि शाकाहार की वकालत करने वाले लोगों के पास कुछ खास कारण थे – स्वास्‍थ्‍य संबंधी कारणों का हवाला देने वाले जिम या चर्च में इसका प्रचार करते थे जबकि शाकाहार के लिए पर्यावरण और पशु अधिकारों के संदर्भ में बात करने वाले लोग म्यूजियम या संगीत कार्यक्रमों में हो सकते हैं।

इसलिए, भले ही आप मांसाहारी हों, पर इस बात की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता कि आपकी सेहत को इसका नुकसान उठाना पड़ रहा है। तो फि‍र अपनी सेहत के लिए शाकाहार अपना लेने में क्या बुराई है।

  • 94
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख