वैलनेस
स्टोर

ये अध्‍ययन कहता है कि इस उम्र का आर्थिक तनाव आपको बढ़ती उम्र में दे सकता है शारीरिक पीड़ा

Published on:20 April 2021, 19:10pm IST
अपनी जमा-पूंजी का प्रबंधन करने के लिए बूढ़े होने का इंतजार न करें, क्योंकि यह आपको मानसिक और शारीरिक दोनों तरह का तनाव देगा।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 87 Likes
आर्थिक तनाव आपको शारीरिक पीड़ा दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

जॉर्जिया के वैज्ञानिकों के नए शोध के अनुसार, मिडलाइफ में पारिवारिक वित्तीय तनाव, स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं से जुड़ा हुआ है। जो बाद के वर्षों में शारीरिक दर्द उत्पन्न करता है।

वित्तीय तनाव का मानसिक स्वास्थ्य पर तत्काल प्रभाव पड़ सकता है, लेकिन क्या इससे लगभग 30 साल बाद शारीरिक दर्द हो सकता है? इसका उत्तर है हां, और ‘स्ट्रेस एंड हेल्थ’ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन यह बताता है।

क्या कहता है अध्ययन

परिवार और उपभोक्ता विज्ञान महाविद्यालय में पहले लेखक और प्रोफेसर, कंदूडा ए.एस. विक्रम ने कहा : “शारीरिक दर्द को अपने आप में एक बीमारी माना जाता है। जैविक, मनोवैज्ञानिक और सामाजिक इन तीन प्रमुख घटकों के साथ। इसके साथ ही, वयस्कों में, यह सीमित शारीरिक कामकाज, अकेलेपन और हृदय रोग जैसी अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के साथ होता है।”

आर्थिक समस्‍याएं आपको तनाव दे सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

तनाव और दर्द

अधिकांश दर्द अनुसंधान न्यूरोलॉजिकल हैं, लेकिन शोधकर्ताओं के अनुसार, इसे बहुत तनावपूर्ण पारिवारिक अनुभवों से जोड़ना भी महत्वपूर्ण है।

कॉलेज के एक सहयोगी अनुसंधान वैज्ञानिक और प्रमुख लेखक कैथरीन वॉकर ओ’नील ने कहा, “डॉ. विक्रमा और मैं दोनों ही परिवारों के संदर्भ में रुचि रखते हैं। कैसे यह परिवार में व्यक्तियों के संबंध, शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। वित्त हमारे काम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, क्योंकि यह हर परिवार की ज़रुरत है।”

लेखकों ने आयोवा यूथ एंड फैमिली प्रोजेक्ट के डेटा का इस्तेमाल किया। यह उत्तर-मध्य आयोवा में आठ काउंटियों के समूह से ग्रामीण परिवारों पर 27 साल का डेटा प्रदान करता है। यह डेटा वास्तविक रूप से उन 500 परिवारों और महिलाओं से एकत्र किया गया था, जिन्होंने 1980 के दशक के अंत में कृषि संकट से जुड़ी वित्तीय समस्याओं का अनुभव किया था।

उनमें से अधिकांश व्यक्ति अब 65 वर्ष से अधिक उम्र के हैं और कुछ जोड़े विवाह संबंधों में हैं।

ये जरूरी है कि आप अपन आर्थिक मामलों का निपटारा सावधानी से करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

तनाव से निपटने के लिए आर्थिक मामलों का ध्यान रखें

शोधकर्ताओं ने शारीरिक बीमारियों, पारिवारिक आय और उम्र के लिए नियंत्रित होने के बाद भी, 1990 के दशक की शुरुआत में और लगभग तीन दशक बाद शारीरिक पीड़ा के बीच एक संबंध पाया। उनके अध्ययन के निष्कर्षों से यह पता चलता है कि वित्तीय तनाव शारीरिक दर्द को प्रभावित करता है।

क्‍यों बढ़ने लगती हैं समस्‍याएं 

विक्रम के अनुसार, शारीरिक दर्द एक बायोप्सीकोसियल घटना है। अनुसंधान बताता है कि वित्तीय तनाव जैसे तनावपूर्ण अनुभव मनोवैज्ञानिक संसाधनों को नियंत्रण की भावना की तरह मिटा देते हैं।

सेहतमंद बुढ़ापे के लिए अभी से आर्थिक तनाव को दूर करना जरूरी है। चित्र : शटरस्टॉक।

संसाधनों की यह क्षति मस्तिष्क के उन क्षेत्रों को सक्रिय करती है, जो तनाव के प्रति संवेदनशील होते हैं। ये रोग, शारीरिक और तंत्रिका संबंधी प्रक्रियाओं को दर्शाते हैं। जिससे शारीरिक दर्द, शारीरिक सीमाओं, अकेलेपन और हृदय रोग जैसी स्वास्थ्य स्थितियों को जन्म देते हैं।

इसके दूरगामी नुकसान हो सकते हैं

वे कहते हैं, “बाद के वर्षों में, कई लोग स्मृति हानि, शारीरिक दर्द और सामाजिक संबंधों की कमी के बारे में शिकायत करते हैं। लगभग दो-तिहाई वयस्क कुछ प्रकार के शारीरिक दर्द की शिकायत करते हैं। जबकि लगभग इतने ही कि अकेलेपन की शिकायत भी करते हैं। यह प्रतिशत बढ़ रहा है और उसके साथ लागत बढ़ रही है और यह एक चिंता का विषय है। ”

यह भी पढ़ें – एनर्जी ड्रिंक का ज्यादा सेवन हो सकता है हार्ट फेलियर के लिए जिम्‍मेदार : अध्ययन

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।