भारत में बढ़े ओमिक्रॉन के XBB वेरिएंट के मामले, जानिए क्यों है आपको इससे बचने की ज़रूरत

विशेषज्ञों के अनुसार काफी संक्रामक साबित हो सकता है ओमिक्रॉन का यह नया वेरिएंट। ओमिक्रॉन का यह वेरेएंट तेज़ी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है, जिसकी वजह से कोविड - 19 के मामलों में स्पाइक देखने को मिल रहा है।

omicron BQ1 variant
पुणे में मिला ओमिक्रोन के नए वैरिएंट का मरीज। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 21 October 2022, 20:58 pm IST
  • 120

बदलते मौसम के साथ हम सब भी अपनी सेहत के प्रति लापरवाह होते जा रहे हैं। कोविड – 19 पैनडेमिक अभी खत्म भी नहीं हुआ है कि हम सभी नें सोशल डिस्टेन्सिंग, मास्क पहनना और हाथ धोने जैसी ज़रूरी कोविड गाइडलाइंस को ताक पर रख दिया है। मगर खतरा अभी टला नहीं है।

ओमिक्रॉन का एक नया एक्सबीबी सब-वेरिएंट सामने आया है। ऐसा माना जा रहा है कि यह कोरोनोवायरस का स्ट्रॉग वेरिएंट है। इस नए वेरिएंट नें दिवाली से पहले लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं। ओमिक्रॉन का यह वेरेएंट तेज़ी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है, जिसकी वजह से कोविड – 19 के मामलों में स्पाइक देखने को मिल रहा है।

महाराष्ट्र में अक्टूबर के पहले हफ्ते में 18 मामले सामने आए। साथ ही, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तमिलनाडु से 70 से अधिक मामले सामने आए हैं। समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि कोविड -19 के दो नए वेरिएंट- XBB और XBB1 पहले की तुलना में अधिक संक्रामक हैं।

ऐसे में कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले सर्दियों के मौसम में, कोरोना के मामलों में स्पाइक देखने को मिल सकता है।

जानिए कितना घातक साबित हो सकता है ओमिक्रॉन का यह नया वेरिएंट

XBB वेरेएंट – BA.2.75 और BA.2.10.1 का एक रीकॉम्बीनेंट स्ट्रेन है। उन्होंने कहा कि इस पुनः संयोजक तनाव का एक महत्वपूर्ण विकास लाभ है।- यह एक ऐसा वेरिएंट है जो एंटीबॉडी को भी ओवरपावर कर सकता है। मगर, इस सब-वेरिएंट से होने वाले संक्रमण की गंभीरता पर कुछ भी कहना अभी जल्दबाजी होगी क्योंकि बहुत सीमित डेटा उपलब्ध है।

india me km covid case
भारत में बढ़ रहें हैं कोरोना के मामले। चित्र : शटरस्टॉक

एक्सबीबी वेरेएंट के लक्षण क्या हैं?

सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रेवेंशन के अनुसार इस वेरिएंट के लक्षणों में बुखार या ठंड लगना, खांसी, सांस लेने में तकलीफ या सांस लेने में कठिनाई, थकान, मांसपेशियों या शरीर में दर्द, सिरदर्द, स्वाद या गंध का नुकसान, गले में खराश, नाक बहना, उल्टी, दस्त, आदि शामिल है।

आखिर कितना संक्रामक है XBB सब वैरिएंट?

ओमिक्रॉन के अन्य म्यूटेंट की तरह, एक्सबीबी को बहुत संक्रामक माना जाता है। सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार एक्सबीबी ओमिक्रॉन के अन्य वेरिएंट से ज़्यादा संक्रामक है, लेकिन यह गंभीर बीमारी का कारण बनता है, इसका कोई सबूत नहीं है। मगर, आंकड़ों से पता चलता है कि यह हल्की बीमारी का कारण बनता है।

उन लोगों को अपना ध्यान रखने की ज़रूरत है जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कम है, या जिन लोगों को मधुमेह है, जो बुजुर्ग हैं और जिन्हें पहले से कोई इन्फेक्शन है। ऐसे लोगों को अस्पताल में भर्ती कराने की ज़रूरत पड़ सकती है।

यह भी पढ़ें : Dhanteras : फैंसी क्रॉकरी से ज्यादा फायदेमंद हैं धातु के बर्तन, जानिए सेहत के लिए 4 धातुओं के लाभ

  • 120
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory