फॉलो
वैलनेस
स्टोर

अमेरिकन वैज्ञानिक के अनुसार, कोविड-19 के नए स्‍ट्रेन को लेकर नहीं है चिंतित होने की जरूरत

Published on:23 December 2020, 16:04pm IST
यूके में कोविड-19 का एक नया स्‍ट्रेन संक्रमण के रूप में फैल रहा है। इस संक्रमण को लेकर चिंताएं काफी बढ़ रही है। लेकिन एक वैक्सीन वैज्ञानिक के अनुसार, हमें इसको लेकर चिंतित होने की जरूरत नहीं है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 81 Likes
यूके में कोरोनावायरस का एक नया स्‍ट्रेन सामने आया है। चित्र: शटरस्‍टॉक

हम सभी ने अभी फेस्टिव मोड में आना शुरू किया ही था, और सभी क्रिसमस और न्यू ईयर का इंतजार कर रहे थे। ऐसे में 2020 हमारे लिए एक नया सरप्राइज लेकर आता है। कोविड-19 का एक नया संक्रमण सामने आया है, जो फिलहाल यूके (United Kingdom) में चल रहा है और धीरे-धीरे पूरे यूरोप में फैल रहा है।

कयास लगाए जा रहे हैं कि यूनाइटेड किंगडम फि‍र से लॉकडाउन में जाने के लिए तैयार है। लेकिन पूरा विश्व इस नए स्‍ट्रेन को खत्म करने के लिए तैयार है या नहीं, अमेरिकी शोधकर्ता इसके बारे में जानने के लिए अध्ययन कर रहे हैं।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

अमेरिका में ऑपरेशन वार्प स्पीड वैक्सीन प्रोग्राम के मुख्य सलाहकार मोनसेफ़ सलोई (Moncef Slaoui) उम्मीद करते हैं कि प्रयोगशाला प्रयोग में मौजूदा टीकों और उपचार के जरिए, इस नए तनाव को जवाब देने में मदद मिलेगी।

हालांकि, कई देशों ने अपनी सीमाओं को ब्रिटेन के लिए बंद कर दिया है। मोनसेफ़ सलोई (Moncef Slaoui) का कहना है कि यह संभव था कि वेरिएंट लंबे समय से यूनाइटेड किंगडम में मौजूद था। लेकिन वैज्ञानिकों ने अब तक इसकी तलाश शुरू नहीं की थी, अब जब उन्होंने ऐसा किया तो इसके संक्रमण के मामलों में उछाल देखा गया।

कोविड -19 का नया स्‍ट्रेन अधिक खतरनाक नहीं हो सकता

वैक्सीन वैज्ञानिक और पूर्व दवा कार्यकारी का कहना है कि इस वायरस के वास्तव में अधिक संक्रमित होने के पर्याप्त प्रमाण नहीं हैं। लेकिन इस बात के स्पष्ट प्रमाण हैं कि जनसंख्या में इसकी संख्या अधिक है। अभी तक इस पर केवल कयास लगाए जा रहे हैं और हम इसमें बढ़ोतरी देख रहे हैं। यह शायद इसकी उच्च संप्रेषण क्षमता है।

वैज्ञानिक इस पर ज्‍यादा चिंता न करने की सलाह दे रहे हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
वैज्ञानिक इस पर ज्‍यादा चिंता न करने की सलाह दे रहे हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

यह स्पष्ट नहीं है कि यह अधिक रोगजनक नहीं है, उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि इसे अधिक गंभीर बीमारी का कारण नहीं दिखाया गया है। उन्होंने संक्रमण के सवाल पर कहा कि इसके कारण और प्रभाव को निर्धारित करने के लिए, जानवरों पर इसका प्रयोग किए जाने की आवश्यकता होगी।

वायरल लोड का स्तर दूसरे जानवर को संक्रमित करने के लिए आवश्यक होगा

सलोई ने कहा कि नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ (एनआईएच) ने कोविड -19 के अधिक प्रभावी तनाव के खिलाफ एंटीबॉडी निर्धारित करने के लिए वेरिएंट पर प्रयोगशाला अध्ययन शुरू किया था। जिसमें अपेक्षित परिणाम की बहुत संभावना है। परीक्षण में मरीजों से लिए गए एंटीबॉडीज, टीकों द्वारा उठाए गए एंटीबॉडी और सिंथेटिक लैब निर्मित एंटीबॉडी का उपयोग करेंगे। इसे बाहर ले जाने में कुछ सप्ताह लगेंगे।

न्‍यू नॉर्मल में अभी भी आपको सतर्क रहने की जरूरत है। चित्र: शटरस्‍टॉक
न्‍यू नॉर्मल में अभी भी आपको सतर्क रहने की जरूरत है। चित्र: शटरस्‍टॉक

सलोई ने कहा कि वह आशावादी थे कि कोविड -19 टीकों के जवाब में उत्पादित एंटीबॉडी प्रभावी होते रहेंगे, क्योंकि वे कई “एपीटोप्स” या स्पाइक प्रोटीन के क्षेत्रों से बंधे हैं। स्पाइक प्रोटीन तीन आयामी सतह वाला मोलेक्यूल है, जो मनुष्य की वायरस कोशिकाओं पर आक्रमण करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। उन्होंने कहा कि संभावना है कि एक ही उत्परिवर्तन एक बार में इन सभी क्षेत्रों को बदल देगा।

किसी दिन, कहीं, वैक्सीन द्वारा उत्पादित सुरक्षात्मक प्रतिक्रिया से बचने के लिए एक वायरस निकल सकता है, इसे बाहर करना असंभव है। इसलिए हमें पूरी तरह से सतर्क रहना होगा।

यह भी पढ़ें – विश्व को कोविड-19 जैसी किसी और माहामारी से बचाना है, तो चमगादड़ों पर करनी होगी स्टडी, मानते हैं वैज्ञानिक

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।