ऐप में पढ़ें

33,000 लोगों के इस सर्वेक्षण में सामने आया कि पैसों से खरीदी जा सकती है खुशी

Published on:22 January 2021, 17:33pm IST
अधिक पैसा कुछ लोगों के लिए अधिक परेशानी का कारण हो सकता है, लेकिन अमेरिका के एक एंथ्रोपोलॉजिकल अध्ययन से पता चलता है कि जो लोग अधिक कमाते हैं वे ज्यादा खुश रहते हैं।
ये जरूरी है कि आप अपन आर्थिक मामलों का निपटारा सावधानी से करें। चित्र: शटरस्‍टॉक

हम सभी जानते हैं कि एक पुरानी कहावत है कि पैसे से खुशी नहीं खरीदी जा सकती। फिर भी, हम में से ज्यादातर का मानना ​​है कि पैसा खुशी की कुंजी है, है ना? ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आपके पास ज्यादा पैसा होता है, तब यह बात आती है कि आप अपना जीवन कैसे बदलना चाहते हैं, तो उस दौरान आपके पास अधिक विकल्प होते हैं।

लेकिन अगर आपको लगता है कि पैसे को खुशी से जोड़ना भौतिकवादी बीएस (materialistic BS) के अलावा कुछ नहीं है, तो हम आपको बता दें, कि इसके पीछे कानूनी विज्ञान है।

प्रोसीडिंग्स ऑफ नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज की पत्रिका में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन में पाया गया है कि पैसा खुशी को प्रभावित करता है।

अध्ययन ने इस सवाल पर बहस की, कि धन और कल्याण के बीच क्या संबंध है? मैथन किलिंग्सवर्थ, पन्न के व्हार्टन स्कूल के एक सीनियर फेलो, जो मानव खुशी का अध्ययन कर रहे हैं, कहते हैं कि यह मेरे क्षेत्र में सबसे अधिक अध्ययन किए गए प्रश्नों में से एक है। मैं इसके बारे में बहुत उत्सुक हूं। अन्य वैज्ञानिक इसे लेकर उत्सुक हैं। यहां तक कि लोग भी इसे लेकर काफी उत्सुक हैं। यह सब कुछ हर समय नेविगेट कर रहा है।

किलिंग्सवर्थ ने 33,000 से अधिक प्रतिभागियों से 1.7 मिलियन डेटा अंक एकत्र किए, जिन्होंने अपने दैनिक जीवन के दौरान अपनी भावनाओं का विवरण प्रदान किया। उन्होंने कल्याण को मापने के लिए दो तरीकों का इस्तेमाल किया, धन की भूमिका में फैक्टरिंग (factoring)।

शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों के कल्याण का अध्ययन करने के लिए एक ऐप का इस्तेमाल किया

किलिंग्सवर्थ ने अनुभव नमूनाकरण (experience sampling) नामक एक तकनीक का उपयोग किया। उन्होंने ट्रैक योर हैप्पीनेस (track your happiness) नामक एक ऐप बनाया, जो लोगों के साथ रेंडम चेक-इन के माध्यम से अनुभवों और कल्याण को मापता है। ऐप ने उनसे कुछ सवाल पूछे जैसे- “आप अभी कैसा महसूस करते हैं?” और “कुल मिलाकर आप अपने जीवन से कितने संतुष्ट हैं?”

खुशियों का अर्थ अब सुविधा भी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
खुशियों का अर्थ अब सुविधा भी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

जीवन की संतुष्टि को मापने के लिए एक अन्य विधि में 12 विशिष्ट भावनाओं को शामिल किया गया, जो पांच सकारात्मक भावनाओं जैसे- आत्मविश्वास (confident), अच्छा (good), प्रेरणा (inspire), रुचि (interested) और गर्व (proud) में विभाजित हैं और सात नकारात्मक भावनाएं जैसे- डर (afraid), गुस्से (angry), बुरा (bad), ऊबना (bored), उदास (sad), तनावग्रस्त (stressed) और परेशान (upset) में विभाजित है।

इन मापदंडों का उपयोग करते हुए, किलिंग्सवर्थ ने तब प्रत्येक व्यक्ति के औसत स्कोर की गणना की और विश्लेषण किया जो लोगों की आय से संबंधित है। उनका सुझाव है कि जीवन पर नियंत्रण की बढ़ती भावना के कारण, उच्च आय वाले लोग खुश हैं। बड़े और छोटे फैसले लेने में, अधिक पैसा होने की वजह से व्यक्ति को अधिक विकल्प और स्वायत्तता का अधिक एहसास होता है।

क्‍या रहा परिणाम 

वे कहते हैं, मौद्रिक संदर्भ में सफलता को परिभाषित नहीं करना सबसे अच्छा हो सकता है। हालांकि पैसा खुशी के लिए अच्छा हो सकता है, मैंने पाया कि जिन लोगों ने पैसे और सफलता की बराबरी की, वे उन लोगों की तुलना में अधिक खुश थे जिनके पास पैसे कम थे। मैंने यह भी पाया कि जिन लोगों ने अधिक पैसा कमाया, उन्होंने घंटों काम किया और समय के लिए अधिक दबाव महसूस किया।

पैसा आपको संसाधन चुनने की आजादी देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
पैसा आपको संसाधन चुनने की आजादी देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

किलिंग्सवर्थ कहते हैं, जब कुछ भी होता है, तो शायद लोग तब पैसे पर अधिक जोर देते हैं। जब वे सोचते हैं कि उनका जीवन कितना अच्छा चल रहा है। हां, यह एक ऐसा कारक है जो इस तरह से मायने रखता है कि पहले हम पूरी तरह से महसूस नहीं करते थे, लेकिन यह बहुतों में से एक है, जिसे लोग नियंत्रित कर सकते हैं।

और अंततः, सिर्फ ये ही नहीं है मैं बहुत चिंतित हूं कि लोग इसका मूल्यांकन नहीं कर रहे हैं। इसके बजाय, वह कहते हैं कि उन्हें उम्मीद है कि यह शोध “मानव खुशी के लिए समीकरण” खोजने की कोशिश में बातचीत को आगे बढ़ाने में मदद कर सकता है।

यह भी पढ़ें – आपकी सेहत, सौंदर्य और रिश्‍तों के लिए अच्‍छा हो सकता है ड्राई जनवरी ट्रेंड, जानिए क्‍या है यह

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।