कोविड-19 संक्रमण के कारण स्थगित हुई मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता, क्या कम्युनिटी स्प्रेडिंग का हो सकता है खतरा?

मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में शामिल होने वाली भारतीय सुंदरी मनसा वाराणसी समेत 17 लोग कोरोना पॉजिटिव।
मनसा वाराणसी हुई कोरोना संक्रमित। चित्र : इंस्टाग्राम -( मनसा वाराणसी )
अक्षांश कुलश्रेष्ठ Published on: 18 December 2021, 16:00 pm IST
ऐप खोलें

दुनिया भर में कोविड-19 के बढ़ते मामले चिंता का विषय बन रहे हैं। हर तरफ नए वेरिएंट ओमिक्रोन की चर्चा चल रही है। वहीं हाल ही में संक्रमण के कारण दुनिया भर में चर्चित मिस वर्ल्ड 2021 (Miss world 2021) प्रतियोगिता को आयोजकों ने स्थगित कर दिया है। बता दें कि कई कंटेस्टेंट कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। प्रतियोगिता के ऑफिशियल पेज पर इस आशय की सूचना जारी की गई है। अगर हालात ठीक रहते हैं, तो अगले 90 दिनों में इस प्रतियोगिता को आयोजित किया जा सकेगा। 

मिस वर्ल्ड 2021 प्रतियोगिता गुरुवार को प्यूर्टो रिको ( Puerto Rico ) के सैन जुआन कोलिसियो डी (coliseo de san juan) में होने वाला था। हालांकि फिलहाल इसे पोस्टपोन ( postponed ) कर दिया गया है। 

भारतीय प्रतिभागी मनसा वाराणसी समेत 17 लोग कोरोना पॉजिटिव 

रिपोर्ट के अनुसार 17 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। जिसमें भारत की मनसा वाराणसी भी शामिल है। इंस्टाग्राम पर मिस वर्ल्ड अधिकारिक पेज पर इसकी पुष्टि की गई है। 

23 साल की मनसा वाराणसी हैदराबाद की रहने वाली हैं और अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिता मिस वर्ल्ड 2021 में भारत का प्रतिनिधित्व कर रहीं हैं। मिस इंडिया पेज पर जारी बयान में कहा गया है कि ,”हमें विश्वास नहीं हो रहा है कि मानसा इतने परिश्रम और समर्पण के बाद भी विश्व स्तर पर अपना जलवा नहीं बिखेर पाएंगी। हालांकि, उनकी सुरक्षा हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है।”  

आयोजकों ने बताया कि मिस वर्ल्ड 2021 प्रतियोगिता में शामिल होने वाली प्रतिभागियों समेत कुल 17 लोग कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। इसमें वो लोग भी शामिल हैं, जो पहले से आइसोलेशन में हैं। वहीं अन्य प्रतिभागियों के लिए जरूरी सुरक्षा मापदंड अपनाए जा रहे हैं। जिससे कोरोना संक्रमण रोका जा सके।

90 दिनों के भीतर फिर होगा आयोजन 

मिस वर्ल्ड 2021 के आयोजकों ने जानकारी साझा की है कि अगले 90 दिन के भीतर उसी स्थान पर मिस वर्ल्ड 2021 प्रतियोगिता दोबारा आयोजित की जाएगी। सभी प्रतियोगियों को और अन्य कर्मचारियों को डॉक्टरों की निगरानी में रखा जा रहा है। जैसे ही स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा मंजूरी दी जाएगी सभी लोगों को वापस लौटने की अनुमति मिल जाएगी।

मिस वर्ड केआयोजकों ने यह निर्णय प्यूर्टो रिको स्वास्थ्य विभाग के वायरोलॉजिस्ट और चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ बैठक के बाद लिया। 

कम्युनिटी स्प्रेडिंग का हो सकता है खतरा

मिस वर्ल्ड 2021 एक ऐसा मंच है, जहां हजारों की भीड़ इकट्ठा होती है ऐसे में कंटेस्टेंट का कोरोना वायरस संक्रमण से पॉजिटिव होना कम्युनिटी स्प्रेड का कारण बन सकता है। यह बात सब जानते हैं कि कोरोना वायरस संक्रमण काफी तेजी से एक दूसरे से फैलता है। भले ही सिर्फ 17 लोग ही पॉजिटिव पाए गए हैं, लेकिन स्प्रेडिंग का खतरा अभी भी बरकरार है। 

हालांकि मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता की अध्यक्ष जूलिया का कहना है कि मिस वर्ल्ड संयुक्त राष्ट्र संगठन के दिशा निर्देशों का पालन कर रहा है। हम एक अनुभवी और जिम्मेदार संगठन हैं। हमारे लिए पार्टिसिपेंट्स के स्वास्थ्य की सुरक्षा सबसे अहम है।

क्या होती है कम्युनिटी स्प्रेडिंग? ( What is Community Spreading? ) 

कम्युनिटी स्प्रेडिंग को कम्युनिटी ट्रांसमिशन ( community transmission )  के नाम से भी जाना जाता है। यह तब होता है जब व्यक्ति किसी ज्ञात संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए बिना संक्रमण का शिकार हो जाए। यह संक्रमण का तीसरा सबसे बड़ा स्तर होता है। जिससे कोई भी संक्रमण काफी तेजी से फैलना शुरू हो जाता है।

कब बढ़ जाता है कम्युनिटी ट्रांसमिशन का जोखिम 

आईसीएमआर के हवाले से मौजूद जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस फैलने के चार चरण होते हैं : 

पहला चरण ( First stage ) : इसमें लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए या दूसरे देश से संक्रमित होकर भारत आए वह लोग शामिल होते हैं।

दुसरा चरण ( Second stage )  : इसमें स्थानीय स्तर पर संक्रमण फैलना शुरू होता है, लेकिन यह वे लोग होते हैं, जो किसी न किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हुए होते हैं।

तीसरा चरण ( Third Stage ) : तीसरा चरण कम्युनिटी स्प्रेडिंग या ट्रांसमिशन होता है। इसमें ट्रांसमिशन के सूत्र का पता चलना काफी मुश्किल होता है।

चौथा चरण ( Fourth Stage )  : यह चरण कम्युनिटी स्प्रेडिंग के दौरान ही शुरू हो जाता है। जब संक्रमण स्थानीय स्तर पर महामारी के रूप में मिलने लगता है। यह एक दिन में लाखों लोगों को संक्रमित कर सकता है।

क्या है भारत की स्थिति 

भारत ( India ) में इस वक्त नए वेरिएंट ओमिक्रोन ( Omicron Varient )  का खतरा मंडरा रहा है। बीते 24 घंटे में इसके 24 नए मामले सामने आए हैं जिसमें 12 राजधानी दिल्ली, महाराष्ट्र में 8 मामले और दो-दो मामले केरल और उत्तर प्रदेश में सामने आए हैं। जिसके बाद देश में नए वेरिएंट से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 113 हो गई है।

भारत में अब तक ओमीक्रोन के 113 मामलें आए सामने । चित्र : शटरस्टॉक

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार देश में 24 घंटों में 7175 नए मामले दर्ज किए गए हैं और 289 मरीजों की मौत की खबर है। इसी बीच देश भर में कोरोना से पीड़ित 8,706 मरीज़ों को ठीक किया गया है। देश में कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर 3 करोड़ 47 लाख 33 हज़ार 194 हो गयी है।

वकेशन, क्रिसमस, एग्जाम, चुनाव, सार्वजनिक आयोजन आदि 

देश में बढ़ते संक्रमण के प्रकोप को देखते हुए सावधानियां और प्रतिबंध तेज कर दिए गए हैं। हालांकि त्योहार और वेकेशन के वक्त कोरोना को संभालना काफी मुश्किल हो सकता है। इसी बीच कई राज्यों में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं, जो स्वयं में एक चिंता का विषय है क्योंकि कई ऐसी रिपोर्ट सामने आई हैं जिसमें दावा किया जा रहा है कि अगले महीने यानी जनवरी 2022 से कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो सकती है। बच्चों के बोर्ड एग्जाम, स्कूल में शुरू होने वाले नए सेशन अतिरिक्त सावधानी की मांग कर रहे हैं। 

यह भी पढ़े : Year Ender 2021 : सेहत पर मंडराता रहा कोरोना के नए वेरिएंट और अन्य संक्रमणों का खतरा

लेखक के बारे में
अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story