सोशल डिस्टेंसिंग के बजाय मास्क और वेंटिलेशन, कोविड-19 से बचाव में हैं ज्यादा कारगर : अध्ययन

अध्ययन बताते हैं कि, यदि आप कोविड -19 संक्रमण के प्रसार को रोकना चाहते हैं, तो मास्क पहनें और एक अच्छे हवादार कमरे में रहें।
मास्‍क कोविड-19 से बचने का ज्‍यादा सशक्‍त माध्‍यम है। चित्र: शटरस्‍टॉक
बाहर निकलने पर अस्थमा के मरीज मास्क का प्रयोग करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 11 Apr 2021, 16:00 pm IST
  • 88

एक ताजा अध्ययन से पता चलता है कि COVID-19 के एयरबोर्न प्रसार को कम करने के लिए मास्क और एक अच्छा वेंटिलेशन सिस्टम सोशल डिस्टेंसिंग से अधिक महत्वपूर्ण है। फिजिक्स ऑफ फ्लूइड्स नामक जर्नल में प्रकाशित शोध में, शोधकर्ताओं ने छात्रों और एक शिक्षक के साथ कक्षा का एक कंप्यूटर मॉडल बनाया।

मास्क कोविड-19 को हराने का सबसे अच्छा तरीका है

इसके बाद उन्होंने एयर फ्लो और बीमारी के प्रसारण का मॉडल तैयार किया और एयरबोर्न-संचालित ट्रांसमिशन जोखिम की गणना की। कक्षा मॉडल छोटे आकार की कक्षा के समान 9 फुट ऊंची छत के साथ 709 वर्ग फुट का था।

यह एक क्‍लासरूम पर आधारित अध्‍ययन है। चित्र:शटरस्टॉक
यह एक क्‍लासरूम पर आधारित अध्‍ययन है। चित्र:शटरस्टॉक

मॉडल में छात्रों पर मास्क था – जिनमें से कोई भी संक्रमित हो सकता है और कक्षा के सामने एक मास्क पहने हुए शिक्षक थे।

यूएस में सेंट्रल फ्लोरिडा विश्वविद्यालय में सहायक प्रोफेसर माइकल किंजेल ने कहा “शोध महत्वपूर्ण है क्योंकि यह इस बारे में मार्गदर्शन प्रदान करता है कि हम इनडोर वातावरण में सुरक्षा को कैसे समझ रहे हैं।”

किन्ज़ेल ने कहा, “अध्ययन में पाया गया है कि एयरोसोल ट्रांसमिशन में छह फीट सोशल डिस्टेंसिंग की जरूरत नहीं है।

शोधकर्ताओं ने कहा कि इस अध्ययन में बताया गया है कि मास्क के साथ, ट्रांसमिशन की संभावना शारीरिक दूरी के साथ कम नहीं होती। जो इस बात पर जोर देता है कि शोधकर्ताओं के अनुसार, स्कूलों और अन्य स्थानों पर क्षमता बढ़ाने के लिए मास्क कैसे महत्वपूर्ण हो सकते हैं।

टीम ने, वेल्स-रिले और कम्प्यूटेशनल द्रव गतिशीलता दो मॉडल्स का उपयोग करके कक्षा की जांच की – एक वेंटिलेटेड और दूसरा अनवेंटिलेटेड क्लासरूम।

हमेशा हवादार कमरे में रहें। चित्र : शटरस्टॉक
हमेशा हवादार कमरे में रहें। चित्र : शटरस्टॉक

हमेशा एक हवादार कमरे में बैठें

वेल्स-रिले का उपयोग आमतौर पर इंडोर ट्रांसमिशन संभावना और कम्प्यूटेशनल फ्लूइड डायनामिक्स का आकलन करने के लिए किया जाता है, जो अक्सर कारों, विमानों के वायुगतिकी और पनडुब्बियों के पानी के नीचे मूवमेंट को समझने के लिए उपयोग किया जाता है।

किन्जेल ने कहा कि ”एरोसोल के सीधे संपर्क को रोककर मास्क को फायदेमंद दिखाया गया, क्योंकि वे गर्म हवा का एक कमजोर कश प्रदान करते हैं। जिससे एरोसोल को लंबवत रूप से स्थानांतरित किया जाता है। इस प्रकार उन्हें छात्रों तक पहुंचने से रोका जाता है।”

शोधकर्ताओं ने उल्लेख किया कि एक अच्छे एयर फिल्टर के साथ एक वेंटिलेशन सिस्टम ने बिना वेंटिलेशन वाले एक कक्षा की तुलना में संक्रमण के जोखिम को 40 से 50 प्रतिशत तक कम कर दिया।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह इसलिए है क्योंकि वेंटिलेशन सिस्टम वायु प्रवाह की एक स्थिर धारा बनाता है, जो कई एयरोसोल को एक फिल्टर में प्रसारित करता है। जो एयरोसोल्स के एक हिस्से को नो-वेंटिलेशन परिदृश्य की तुलना में हटा देता है।

मास्‍क और वेंटिलेशन दोनों कोविड-19 से बचने में मदद करेंगे। चित्र-शटरस्टॉक।
मास्‍क और वेंटिलेशन दोनों कोविड-19 से बचने में मदद करेंगे। चित्र-शटरस्टॉक।

किन्ज़ेल ने कहा : ये नतीजे अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के हालिया दिशा निर्देशों को पुष्ट करते हैं। जो प्राथमिक विद्यालयों में सोशल डिस्टेंसिंग को कम करने की सलाह देते हैं, जब मास्क का उपयोग सार्वभौमिक होता है।

किन्ज़ेल ने कहा “अगर हम मास्क पहनने के दौरान संक्रमण की संभावनाओं की तुलना करते हैं।  तीन फीट की सोशल डिस्टेंसिंग ने छह फीट के संबंध में संक्रमण की संभावना में वृद्धि का संकेत नहीं दिया, जो स्कूलों और अन्य व्यवसायों को महामारी के माध्यम से सुरक्षित रूप से संचालित करने के लिए सबूत प्रदान कर सकता है।”

शोधकर्ताओं का मानना है, ”परिणामों से पता चलता है कि ट्रांसमिशन को रोकने के लिए वेंटिलेशन सिस्टम और मास्क का उपयोग सबसे महत्वपूर्ण है और यह कि सोशल डिस्टेंसिंग से राहत पहली चीज़ होगी।

यह भी पढ़ें – इस अध्‍ययन के अनुसार हल्‍के कोरोनावायरस लक्षणों के भी हो सकते हैं दीर्घकालिक परिणाम

  • 88
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख