वैक्सीन लगी होने के बावजूद कोराेना, मंकीपॉक्स और एचआईवी तीनों से एक साथ संक्रमित हुआ इटली का व्यक्ति

यह दुनिया भर में अपनी तरह का पहला मामला है। जहां स्पेन यात्रा से लौटे एक व्यक्ति में तीनाें संक्रमणों की पुष्टि हुई है।

covid-19-monkeypox-HIV
कोविड - 19, मंकीपॉक्स और एचआईवी तीनों से एक ही बार में संक्रमित हुआ व्यक्ति। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 25 August 2022, 16:13 pm IST
  • 131

कोरोना महामारी के बाद से कई ऐसी बीमारियां देखने को मिली हैं, जिनका पहले कभी नाम तक नहीं सुना था। कोविड – 19 के पहले शायद गिनीचुनी बीमारियां ही होंगी, जिनका इलाज ढूंढने में विज्ञान असफल रहा है – जैसे एचआईवी (HIV)। हर कोई इस बात से अवगत है कि इसका अब तक कोई प्रभावी इलाज संभव नहीं है। पहले कोविड – 19 (Covid -19) और अब मंकीपॉक्स (Monkeypox) दोनों गंभीर बीमारियां हैं। इन दोनों ही बीमारियों को रोका जा सकता है, लेकिन इनका सटीक इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है।

ऐसे में इन सभी के बीच इंटरनेशनल एजेंसी BNO News की ओर से एक हैरान और परेशान कर देने वाली खबर सामने आई है, जिसमें इटली में एक 36 वर्षीय व्यक्ति मंकीपॉक्स, कोविड ​​-19 और एचआईवी तीनों बीमारियों के लिए एक साथ पॉज़िटिव पाया गया है।

जानिए क्या है पूरा मामला

जर्नल ऑफ इंफेक्शन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, उसे पांच दिन की स्पेन की यात्रा से लौटने के लगभग नौ दिन बाद बुखार, गले में खराश, थकान, सिरदर्द और कमर के हिस्से में सूजन महसूस होने लगी। लक्षण प्रकट होने के तीन दिन बाद व्यक्ति कोविड – 19 के लिए पॉज़िटिव पाया गया।

इस बीच मरीज को चेहरे और शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चकत्ते भी होने लगे, जिसके बाद वे फुंसी बन गए। हालत की गंभीरता को देखते हुए, मरीज को अस्पताल के इमेर्जेंसी विभाग में भेजा गया।

रिपोर्ट के अनुसार, आदमी की शारीरिक जांच में पेरिअनल क्षेत्र सहित शरीर के विभिन्न हिस्सों में धब्बे और त्वचा के घावों का पता चला। लिवर, प्लीहा और लिम्फ नोड्स भी बढ़ने लगीं। इसके बाद वे मंकीपॉक्स और एचआईवी के लिए भी पॉज़िटिव पाया गया।

covid-19-monkeypox-HIV
वे मंकीपॉक्स और एचआईवी के लिए भी पॉज़िटिव पाया गया। चित्र शटरस्टॉक।

अच्छी तरह वैक्सीनेटेड था मरीज

इसके अलावा, SARS-CoV-2 जीनोम के अनुक्रमण ने पुष्टि की है कि वे ओमिक्रोन वेरिएंट (Omicron) BA.5.1 से संक्रमित थे। रिपोर्ट के अनुसार, उन्हें फाइजर वैक्सीन की दोनों डोज़ लग चुकी हैं। उस व्यक्ति को लगभग एक सप्ताह के बाद अस्पताल से छुट्टी मिल गई। वह कोविड -19 और मंकीपॉक्स से ठीक हो गए। मगर, उनका एचआईवी का इलाज जारी है।

शोधकर्ताओं ने अपनी केस रिपोर्ट में कहा, “यह मामला इस बात पर प्रकाश डालता है कि मंकीपॉक्स और कोविड ​​​​-19 के लक्षण कैसे ओवरलैप हो सकते हैं। साथ ही, यह भी बताता है कि को-इन्फेक्शन के मामले में, सेक्सुअल हैबिट्स को ध्यान में रखा जाना चाहिए।

निष्कर्ष

शोधकर्ताओं ने यह भी कहा कि चूंकि यह मंकीपॉक्स वायरस, कोविड -19 और एचआईवी को-इन्फेक्शन का एकमात्र रिपोर्ट किया गया मामला है, इसलिए अभी यह कहना मुश्किल है कि यह दोनों बीमारियां रोगी की स्थिति को और खराब कर सकती हैं या नहीं।

यह भी पढ़ें : आपका मेटाबॉलिज़्म कमजोर करते हैं आर्टिफिशियल स्वीटनर्स, जानिए सेहत को कैसे पहुंचाते हैं नुकसान

  • 131
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory