वैलनेस
स्टोर

अपने किशोर बच्‍चों को ध्‍यान से सुनना उनके साथ आपकी बॉन्डिंग बढ़ा सकता है

Updated on: 10 June 2021, 09:35am IST
इस अध्ययन के अनुसार, आपको अपने बच्‍चों के साथ हमेशा आंख मिलाकर बात करनी चाहिए। सिर हिलाना चाहिए और सकारात्मक शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। ताकि आपके बच्चों को लगे कि आप उन पर ध्यान दे रही हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
अध्ययन से पता चलता है कि आपके बच्चे का दोस्त बनने के लिए ये कुछ बहुत ही सरल तरकीबें हैं। चित्र: शटरस्टॉक

यूनिवर्सिटी ऑफ रीडिंग एंड हाइफा के शोधकर्ताओं ने 13 से 16 साल के 1001 बच्चों पर परीक्षण किया। जिसमें माता-पिता और किशारों के बीच बातचीत करने को कहा। इसमें माता-पिता अलग-अलग बॉडी लैंग्वेज और अलग-अलग तरीकों से बातें सुन रहे थे।

अध्ययन का क्या कहना है

जिन प्रतिभागियों ने उन संस्करणों को देखा जहां माता-पिता स्पष्ट रूप से चौकस थे , उन्होंने कहा कि वो किशोर के रूप में अपने बारे में बेहतर महसूस कर रहे हैं। पहले अध्ययन से पता चला कि ध्यान से सुनने के दौरान किशोर अधिक प्रामाणिक और माता-पिता के साथ जुड़ा हुए महसूस करते हैं।

अध्ययन के सह-नेतृत्व करने वाले यूनिवर्सिटी ऑफ रीडिंग में नैदानिक ​​और सामाजिक मनोविज्ञान में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ नेट्टा वेनस्टीन ने कहा, “हम सभी जानते हैं कि किशोरों से उनकी समस्याओं के बारे में बात करते रहना चाहिए। उन्हें आश्वस्त करना चाहिए क्योंकि ये संबंध स्थापित करने का एक प्रभावी तरीका है। हालांकि, अब तक इस तरीके के बारे में कम ही सोचा गया है।

एक अच्छी हंसी साझा करने से उनका आत्मविश्वास भी बढ़ता है। चित्र: शटरस्टॉक

“इस अध्ययन से पता चलता है कि जब माता-पिता-किशोरों की बातें समझते हैं, जब वो उसकी बातों को अहमियत देते हैं, तो ये व्यवहार बच्चों को जल्दी ओपन-अप होने में मदद करता है।

जर्नल ऑफ एक्सपेरिमेंटल चाइल्ड साइकोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन के लिए, पुरुष और महिला किशोरों के लगभग समान विभाजन की भर्ती की गई। जिसमें तीन की पहचान दूसरे लिंग के रूप में हुई। टीम ने पाया कि सक्रिय रूप से सुनना सभी प्रतिभागियों के लिए समान रूप से महत्वपूर्ण था।

सिर हिलाना और आंख मिलाकर बात करना है संवाद का सर्वश्रेष्ठ तरीका

पहले वीडियो में एक किशोर लड़के ने अपनी मां से बात करते हुए ये स्वीकार किया कि उसने स्मोकिंग की थी और ये बात करते हुए वो काफी शर्म महसूस कर रहा था। दूसरे विडियो में वो अपनी मां से ये कहता है कि उसके साथियों ने उसे जबदस्ती स्मोकिंग करने के लिए कहा, जब उसने मन किया तो उन्होंने उसे पीटा भी।

अपने बच्चे के लिए एक सुरक्षित जगह बनाना। चित्र: शटरस्टॉक

प्रत्येक वीडियो परिदृश्य में एक संस्करण था जहां माता-पिता ध्यान से सुनते थे। दूसरा जहां वे अधिक विचलित दिखाई देते थे और कम आंखों के साथ संपर्क का उपयोग करते थे।

डॉ वीनस्टीन ने कहा: “प्रतिभागियों के इतने बड़े समूह में एक बात सामान्य थी, और वह यह कि सभी को यह पसंद था कि उनके माता-पिता उन्हें सक्रिय तरीके से सुनें।

तो लेडीज अब तो आप जान गई हैं कि आपको अपने टीनएज बच्चों से कैसे बात करनी है। उनको ध्यान से सुनें और उनकी बातों को अहमियत दें।

इसे भी पढ़े :कोविड-19 से संक्रमित हो चुके लोगों में अगले 10 महीने कम होता है पुर्नसंक्रमण का खतरा

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।