मोमोज के साथ खाये जाने वाले चिली ऑयल और शेज़वान सॉस बन सकते हैं कैंसर का कारण

Published on: 25 June 2022, 15:00 pm IST

यदि आप चाइनीज़ खाने की शौकीन हैं, तो यकीनन आपने इसके साथ शेज़वान चटनी ज़रूरी खाई होगी। पर क्या आप जानती हैं कि ये चटनी कैंसर का कारण बन सकती है!

chilli oil ke side effects
चाइनीज व्यंजनों के साथ खाई जाने वाली शेज़वान चटनी और चिली ऑयल है स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह। चित्र : शटरस्टॉक

नूडल्स, स्प्रिंग रोल्स, मंचूरियन, ये सब तो आपने कई बार खाया होगा, यकीनन आपका फेवरिट भी यही होगा। और मोमोज़ तो आपने खाये ही होंगे, ये सबकी पसंदीदा चाइनीज़ डिश हैं। यदि आप भी चाइनीज़ खाने की शौकीन हैं, तो आपने इन व्यंजनों के साथ मिलने वाली चटनी भी ज़रूर खाई होगी। पर क्या आप जानती हैं कि चाइनीज व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने वाली ये चटनियां कैंसर (schezwan chutney and chili oil side effects) का भी कारण बन सकती हैं! आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

चाइनीज़ डिशेज़ के साथ आपने शेज़वान सॉस, चिली ऑयल और मेयोनीज़ ज़रूरी खाई होंगी। अब इसमें कोई दो राय नहीं है कि ये सारी चटनियां या डिप, इन चाइनीज़ व्यंजनों का स्वाद दोगुना कर देती हैं। इतना ही नहीं ये डिप किसी भी चीज़ का स्वाद बढ़ा सकती हैं, क्योंकि शेज़वान सॉस और चिली ऑयल में मसालों की भरमार होती है, खासकर लाल मिर्च की।

यूं तो मिर्च अगर थोड़ी मात्रा में खाई जाए तो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है, लेकिन सिर्फ हरी मिर्च। लाल मिर्च आपके स्वास्थ्य को भारी नुकसान पहुंचा सकती है। अब ऐसे में जब चाइनीज़ डिश में इन सॉस का ज़्यादा मात्रा में इस्तेमाल किया जाएगा, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे नुकसान दायक है चिली ऑयल और शेज़वान सॉस (schezwan chutney and chilli oil side effects)

चिली ऑयल तिल के तेल जैसे बेस ऑयल के साथ लाल मिर्च या चिली पैपर डालकर तैयार किया जाता है। इसी तरह शेज़वान सॉस भी बनाया जाता है। इन दोनों डिप में लाल मिर्च का इतना ज़्यादा इस्तेमाल किया जाता है कि ये आपकी त्वचा के लिए हानिकारक साबित हो सकती है।

chilli sause ke side effects
चाइनीज़ डिश की चटनियों में मिर्च बहुत ज़्यादा होती है। चित्र : शटरस्टॉक

1 फूड पॉइजनिंग और पेट की समस्याओं का कारण

यदि आप ज़्यादा दिनों तक रखा हुआ या स्टोर किए हुये चिली ऑयल (chilli oil side effects) का सेवन करेंगी तो इसमें मौजूद लहसुन सड़ सकता है। जिसकी वजह से क्लोस्ट्रीडियम बोटुलिनम बैक्टीरिया आपके शरीर में फैल सकते हैं – जो फूड पॉइजनिंग और पेट की समस्याओं का कारण बन सकता है।

2 शरीर में तेज़ जलन

चिली ऑयल का सेवन करने पर आपके शरीर में एक शक्तिशाली प्रतिक्रिया होती है जो न्यूरॉन्स को उत्तेजित करती है। कैप्साइसिन है, जो दर्द रिसेप्टर्स को बांधता है और तीव्र जलन का कारण बनता है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार उच्च मात्रा में, यह गंभीर दर्द, सूजन, जलन और लालिमा का कारण बनता है।

laal mirch hanikarak hai
आपके लिए हानिकारक है लाक मिर्च। चित्र: शटरस्‍टॉक

3 पेट दर्द और दस्त

मिर्च खाने से कुछ लोगों को आंतों में तकलीफ हो सकती है। इसके लक्षणों में पेट में दर्द, पेट में जलन, ऐंठन और दर्दनाक दस्त शामिल है। एनसीबीआई के अनुसार लाल मिर्च ज़्यादा सेवन इंफ्लेमेटरी बोवेल सिंड्रोम (IBS) का कारण बन सकता है या इसकी गंभीरता को और बढ़ा सकता है।

6 कैंसर पर मिर्च के प्रभाव

पब मेड सेंट्रल के अनुसार टेस्ट-ट्यूब और जानवरों के अध्ययन से संकेत मिलता है कि मिर्च मिर्च में एक पौधे का यौगिक कैप्साइसिन, आपके कैंसर के खतरे को बढ़ा सकता है। इसके अलावा मिर्च पाउडर को भारत में मुंह और गले के कैंसर का मुख्य कारण माना गया है। लाल मिर्च खाने से कैंसर नहीं होता है, लेकिन यदि आप इसका लगातार हर रोज़ सेवन करेंगे तो ऐसा हो सकता है।

इसलिए बेहतर है कि यदि आप चाइनीज़ फूड खा रही हैं, तो इन चटनियों से दूरी बना लें।

यह भी पढ़ें : हार्ट हेल्थ से लेकर वज़न कम करने तक, आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं भांग के बीज

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें