वैलनेस
स्टोर

पोस्ट कोविड लक्षण हो सकता है लगातार वजन कम होना, जानिए कोविड के बाद के दुष्‍प्रभाव के बारे में

Published on:27 June 2021, 14:00pm IST
कोविड के बाद ज्यादातर लोगों का वजन कम हो जाता है, इसके अलावा और भी कई तरह से यह महिलाओं के स्वास्थ्य को प्रभावित करता है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 100 Likes
कोविड - 19 का महलों के स्वास्थ्य पर कई तरह से प्रभाव पड़ता है. चित्र : शटरस्टॉक

टीवी सीरियल से राजनीति की दुनिया में कदम रखने वाली स्मृति इरानी पिछले दिनों काफी चर्चा में थीं। इसकी वजह थी उनका कम हुआ वजन। जिसने लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया था। असल में सामने आई कुछ तस्वीरों में स्मृति ईरानी मशहूर टीवी एंकर और एक्टर ‘मनीष पॉल’ के साथ दिखाई दी। मनीष ने अपने सोशल मीडिया पर इन तस्वीरों का साझा किया, जिसमें स्मृति का वज़न पहले के मुकाबले काफी कम नज़र आ रहा है। हमने वायरल के वायरस से संक्रमित होने की बजाए इस पर गहन पड़ताल की।

वजन को लेकर खुद भी बात करती रहीं है स्‍मृति

अभिनेत्री से केंद्रीय मंत्री बनी स्मृति इरानी, ने अपने सेंस ऑफ ह्यूमर से लोगों का मनोरंजन किया है। वे आये दिन अपनी व्यंग्यात्मक टिप्पणियों और सेंस ऑफ़ ह्यूमर के लिए सोशल मीडिया पर छाई रहती हैं और उनके फॉलोअर्स को भी उनका यह अंदाज़ बहुत पसंद है।

ठीक एक साल पहले स्मृति ईरानी ने अपने सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरें साझा की थी। एक तस्वीर कई वर्षों पुरानी थी, जिसमें वे स्लिम और टोन्ड दिख रही थीं। तो वहीं दूसरी तस्वीर हाल ही की थी, जिसमें उनका वज़न बढ़ा हुआ नज़र आ रहा था।

उम्र के साथ बढ़ जाता है ज्यादातर महिलाओं का वजन

इन्ही तस्वीरों के कैप्शन में उन्होंने लिखा था कि ”क्या से क्या हो गये देखते देखते”! तब भी उनके फॉलोअर्स को उनका यह अंदाज़ काफी पसंद आया था। स्मृति जैसी बहुत सी महिलाएं उम्र के साथ वजन बढ़ने का अनुभव कर सकती हैं। गर्भावस्था और प्रसव भी महिलाओं को अतिरिक्त वजन बढ़ा सकते हैं, जिसे कम करना मुश्किल है।

कोरोना संक्रमण में भी कम होने लगता है वजन

अभी कुछ महीनो पहले ही केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी कोरोना संक्रमित हुई थी, यह जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर सबके साथ साझा की थी। अब वे कोविड – 19 से रिकवर हो चुकी हैं, परन्तु इसके बाद उनका वजन काफी कम हो गया है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maniesh Paul (@manieshpaul)

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कोविड – 19 से रिकवर होने के दौरान वज़न घटना एक आम बात है। कोविड के बाद वज़न घटना और काफी महीनों तक इसकी कमज़ोरी से जूझना, बेहद आम पोस्ट कोविड रिकवरी सिम्पटम्स हैं।

जानिये इससे जुड़े अध्ययन में क्या सामने आया

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन के अनुसार कोविड-19 शरीर के वजन और पोषण की स्थिति को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। उनके द्वारा किये गये एक अध्ययन में सामने आया कि कोविड-19 से रिकवर होने के बाद कुल 29% लोगों का वज़न कम हुआ। आपको बता दें कि यह अध्ययन 213 मरीजों पर किया गया जिनमें से 61 लोगों के साथ वेट लॉस और कुपोषण देखने को मिला।

कमज़ोरी से लेकर वज़न घटने तक पोस्ट कोविड इफेक्ट महिलाओं की सेहत पर काफी प्रभाव डाल सकते हैं जैसे –

1 इर्रेगुलर पीरियड्स

जी हां.. आपने सही सुना लेडीज! कोविड – 19 से रिकवरी के बाद कई महिलाओं को हैवी फ्लो और इर्रेगुलर पीरियड्स का सामना करना पड़ता है। ऐसा इसलिए क्योंकि कोविड – 19 शरीर में हार्मोनल असंतुलन उत्पन्न कर देता है, जिससे हमारे तनाव का स्तर सीधा प्रभावित होता है। यही कारण है कि महिलाएं कोरोना से रिकवर होने के बाद इर्रेगुलर पीरियड्स से जूझती हैं।

2 कमजोरी की वजह से बाल झड़ना

कोविड – 19 से लड़ने के बाद शरीर की इम्युनिटी काफी लो हो जाती है। जिसकी वजह से हमें कमज़ोरी महसूस होती है और यही कारण है कि कुछ महिलाओं के बाल भी ज्यादा झड़ने लगते हैं। इसके अलावा, अगर आपका ट्रीटमेंट स्टेरॉयड से हुआ है तो भी आपके बाल झड़ सकते हैं।

कोविड – 19 के बाद आपकी त्वचा रूखी और बेजान दिखाई दे सकती है। चित्र-शटरस्टॉक।

3 बेजान और रूखी त्वचा

गर्म दवाइयों और भारी इलाज का असर सीधा आपकी त्वचा पर पड़ सकता है। कोविड – 19 के दौरान शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है, जिसकी वजह से शरीर के सभी अंगों तक ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती है। इसकी वजह से आपकी त्वचा भी रूखी और बेजान दिख सकती है।

तस्वीरों में कोरोनावायरस का असर सिर्फ स्‍मृति ईरानी के कम वजन के रूप में ही नहीं, बल्कि मुरझायी हुई त्वचा पर भी नजर आ रहा है। खैर, हमें उम्मीद है कि स्मृति जल्दी ही पोस्ट कोविड इफैक्ट से उबर आएंगी।

और आप भी अपना बहुत ध्‍यान रखें। हेल्‍दी खाएं, तनावमुक्‍त रहें और सुरक्षित रहें।

यह भी पढ़ें : तनाव आपके बालों को उम्र से पहले सफेद कर सकता है, पर इससे बचना मुश्किल नहीं है

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।