योग या कार्डियो- वेट लॉस के लिए क्या है बेहतर विकल्प, देखिए हमने पता लगाया

जब बात आती है वेट लॉस के लिए परफेक्ट वर्कआउट चुनने की, तो क्या आप भी योग और कार्डियो के बीच कन्‍फ्यूज हो जाती हैं? हमने इस कन्‍फ्यूजन को दूर करने की कोशिश की है।
योग और कार्डियो को लेकर आप भी अगर कन्‍फ्यूज हैं, तो आपको दोनों के बारे में जानना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 23 Nov 2023, 03:51 pm IST
  • 75

अक्सर जब वेट लॉस की बात आती है, तो हम कार्डियो ही चुनते हैं क्योंकि कार्डियो के रिजल्ट्स हमें जल्दी दिखने लगते हैं। मगर क्या आप जानती हैं कि ये रिजल्ट्स लॉन्ग लास्टिंग नहीं होते, जैसे ही आप कार्डियो करना बन्द करेंगे, वेट दोगुनी तेज़ी से बढ़ेगा।

योग भी है वेट लॉस का बेहतर विकल्प

यूरोपियन जर्नल ऑफ प्रिवेंशन कार्डियोलॉजी के अनुसार योग साइक्लिंग, स्विमिंग और ब्रिस्क वाकिंग के समान ही है। और योग ग्रैंड मास्टर अक्षर जी भी इस बात को मानते हैं।

योग शरीर पर कई तरह से प्रभाव डालता है- वेट लॉस, फैट बर्न करना, शरीर को फ्लेक्सिबल बनाना, रिलैक्स करने के साथ-साथ मन को स्थिर और शांत करना, ये सभी योग के फायदे हैं।
ग्रैंड मास्टर अक्षर कहते हैं, “यदि आप प्राणायाम करती हैं तो आपको श्वसन तंत्र की परेशानियों का भी समाधान कर पाएंगी।

कपाल भाति प्राणायाम पेट की चर्बी कम करने साथ-साथ कैलोरी बर्न भी करता है। तीव्र गामी, जो कि प्राणायाम करने की सबसे तेज़ गति होती है, अपने आप में कार्डियो के बराबर है। तीव्र गामी केवल बहुत प्रशिक्षित योग गुरु ही कर पाते हैं।”

योग से भी आप वेट लॉस टार्गेट को पूरा कर सकती हैं। चित्र: तेजिंदर कौर

इन बातों का रखें योग के समय ख्‍याल

योग हमेशा किसी योग गुरु के प्रशिक्षण में ही करें। कम से कम शुरुआत में गाइडेंस ज़रूर लें। योग ठीक तरह से करने से ही बेस्ट रिजल्ट मिल पाते हैं।

ग्रैंड मास्टर अक्षर इन योगासनों को वेट लॉस के लिए बेस्ट मानते हैं-

संतुलनासन (प्लैंक) से शुरुआत करते हुए चतुरंग दण्डासन (हाफ प्लैंक) में आयें। फिर सांस खींचते हुए स्वानासन में आयें और सांस छोड़ते हुए पादहस्तासन में आ जाएं।
इस रूटीन को 4-5 बार करें।

कार्डियो वर्कऑउट के बारे में यह जानना है ज़रूरी

रोज़ाना कार्डियो को अपनी दिनचर्या में शामिल करने का सबसे अच्छा तरीका है रनिंग। ऐसा हम नहीं कहते, ऐसा कहती हैं वोमेन फ़िटनेस एंड हेल्थ केयर कोच रुचिका राय। रुचिका कॉम्बैट योगिनी प्रोग्राम की फाउंडर भी हैं।

जानिए क्यों रुचिका कार्डियो पर करती हैं भरोसा

रूचिका कहती हैं, “अगर आपका टारगेट जल्दी वेट लॉस करने का है तो कार्डिया ही बेस्ट है, मगर सही रूटीन चुनना है ज़रूरी।” अगर आप वर्क डेज़ में एक घण्टे एक्सरसाइज़ करती हैं, तो वीकेंड के दिन ब्रेक लेने के बजाए आपको दो घण्टे एक्सरसाइज़ करनी चाहिए।

Equipment-free-cardio-workout
आपको अपने शरीर की जरूरत के हिसाब से ही कार्डियो करना चाहिए। चित्र : इंटरनेट

इन कार्डियो एक्सरसाइज़ को आप अपने रूटीन में शामिल कर सकती हैं-

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

1. डांस- फिट रहने का सबसे बेहतर तरीका है डांस। अगर आपको एक्सरसाइज़ करना पसन्द नहीं है तो डांस सबसे अच्छा विकल्प है, डांस सबसे इंटरेस्टिंग तरीका है फिट रहने का।
2. टबाटा- टबाटा एक HIIT ( हाई इंटेंसिटी वर्कआउट) और कॉम्बैट ट्रेनिंग का मिश्रण है। ऑनलाइन इसके ट्यूटोरियल्स मौजूद हैं। यह वेट लॉस के लिए बेस्ट वर्कआउट है।
3. पिलाटेज- रुचिका बताती हैं कि पिलाटेज एक वेट लॉस ट्रेनिंग है, जो मसल गेन के लिए बेस्ट वर्कऑउट माना जाता है।

रूचिका साथ ही यह भी चेतावनी देती हैं, “सारी मेहनत बर्बाद हो जाएगी अगर आप खानपान का ध्यान नही रखेंगी। एक्सरसाइज़ पर सिर्फ 30% वेट निर्भर करता है। इसलिए सही डाइट बहुत ज़रूरी है।”

योग या कार्डियो- क्या है बेहतर विकल्प?

वेट लॉस के लिए योग ही सबसे बेहतरीन वर्कआउट है। यह न केवल आपके एक्स्ट्रा वज़न को दूर रखता है, बल्कि मस्तिष्क को भी स्वस्थ रखता है। आपका टारगेट जल्दी वेट लॉस करने का है तो कार्डियो का सहारा शार्ट टर्म के लिए ले सकते हैं। वहीं योग को नियमित रूप से अपने रूटीन में शामिल करें। योग आपके शरीर को फिट और फ्लेक्सिबल बनाता है। ज़रूरत है तो सिर्फ एक दृढ़ शुरुआत की।

यह भी पढ़ें – हारा हाची बू : यह है वेट लॉस के साथ हेल्‍दी लाइफ का जापानी फॉर्मूला

  • 75
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख