बच्चे को नहीं लगी है वैक्सीन, तो कोविड – 19 से उसे बचाने के लिए रखना होगा खास ध्यान

बच्चों में तेज़ी से बढ़ते कोविड - 19 एक्सई वेरिएंट के मामलों को देखते हुये उन्हें संक्रमण से बचना बहुत ज़रूरी है। ऐसे में यदि बच्चा वैक्सीनेटेड नहीं है, तो जानिए उन्हें कोविड के जोखिम से कैसे बचाया जाए।

bacche ko covid - 19 se bachaen
बच्चे को नहीं लगा है टीका तो उन्हें कोविड - 19 से कैसे बचाएं. चित्र : शटरस्टॉक
  • 121

हाल ही में हम सभी लोगों नें मास्क लगाना बंद ही किया था कि कोविड ने एक बार फिर दस्तक देदी है। इस बार यह और भी घातक रूप में हमारे सामने आया है। कोविड -19 की फोर्थ वेव (Covid-19 4th wave) के साथ एक्सई वेरिएंट (XE variant) कई लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। ऐसे में अपने बच्चों का ख्याल रखना बहुत ज़रूरी है। कोविड – 19 का नया वेरिएंट तेज़ी से बच्चों को अपनी चपेट में ले रहा है। दिल्ली एनसीआर में कई बच्चे कोविड – 19 पॉज़िटिव मिल रहे हैं। ये उस उम्र के बच्चे हैं, जिन्हें वैक्सीन का प्रावधान नहीं है। ऐसे में जानिए कैसे आप अपने अनवैक्सीनेटेड चाइल्ड को कोविड-19 के जोखिम (How to protect unvaccinated child from covid-19) से बचा सकती हैं।

कोविड – 19 से बचने के लिए यदि एक तरीका जो हम सभी के पास है, वो है वैक्सीनेशन। मगर, यदि आपके बच्चों को टीका नहीं लगा है तो यह समस्या का कारण बन सकता है। ऐसे में कोविड 19 ओमिक्रोन के एक्सई वेरिएंट से अपने बच्चों को कैसे बचाया जाए? यह सवाल बहुत महत्वपूर्ण है और हर माता – पिता की चिंता का विषय बना हुआ है। स्कूल कॉलेज अभी खुले ही हैं और बच्चों पर इसका खतरा मंडरा रहा है।

लेकिन आपको चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है, क्योंकि हम आपको देने जा रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स जो आपके बच्चे को संक्रमित होने से बचाएंगे।

1 पेरेंट अपना टीकरण करवाएं

पबमेड सेंट्रल द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार 150,000 से अधिक घरों के डेटा से पता चलता है कि जिन बच्चों के माता – पिता वैक्सीनेटेड हैं, उनके बच्चे SARS-CoV-2 संक्रमण के जोखिम से काफी हद तक बचे हुये हैं। इसलिए, यदि आपका बच्चा वैक्सीनेटेड नहीं है, तो खुद वैक्सीन लगवाएं, इससे आपका बच्चा भी सुरक्षित रहेगा।

covid vaccine ko behtar aur unnat tarike se taiyar kiya gaya hai
कोविड वैक्सीन को बेहतर और उन्नत तरीके से तैयार किया गया है। चित्र: शटरस्टॉक

2 बच्चों को ऐसी जगहों पर न ले जाएं जहां गंदगी हो

ज़्यादा भीड़भाड़ वाली जगहों पर अपने बच्चों को न ले जाएं। क्राउडेड प्लेस पर संक्रमित होने का खतरा ज़्यादा होता है। यदि आपको मजबूरी में कहीं जाना पड़ रहा है, तो सभी कोविड गाइड लाइंस का पालन करें और बच्चों से भी करवाएं। यदि आपके बाचे की उम्र दो साल से ऊपर है, तो उसे भी मास्क ज़रूर लगवाएं।

3 बच्चों के लिए एक्सरसाइज़ या खेलकूद ज़रूरी है

शारीरिक स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के लिए शारीरिक गतिविधि बहुत ज़रूरी है। फ़िज़िकल एक्टिविटी करने से इम्युनिटी बढ़ती है। कोविड के डर से यदि आप बच्चों को घर पर बिठा कर रखेंगी, तो उनकी सेहत और खराब हो सकती है। इसलिए उन्हें खुली हवा में खेलने – कूदने के लिए भजें और जब वो लौटें तो उनके हाथ पैर धुलवाएं।

4 उनके खानपान पर ध्यान दें

खानपान पर ध्यान देने से बाचोन की इम्युनिटी बड़ी ही आसानी से बढ़ाई जा सकती है। इतना ही नहीं, अच्छे और संतुलित खानपान की वजह से बच्चों की भूख भी बढ़ती है और उनकी ग्रोथ भी अच्छी होती है। इसलिए अपने बाचोन को हरी सब्जियां और ताज़े फल खिलाएं।

यह भी पढ़ें : World Earth Day : मिनरल वॉटर की बोतल में कहीं आप ज़हर तो नहीं पी रहीं? यहां जानिए उसके स्वास्थ्य जोखिम

  • 121
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory