और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

क्या सर्दी के मौसम में आपको कोविड-19 होने की संभावना बढ़ सकती है? चलिये पता करते हैं

Published on:24 November 2021, 16:05pm IST
अगर आपको लग रहा है कि कोविड - 19 का जोखिम अब कम होने लगा है, तो आप बिल्कुल गलत सोच रही हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, सर्दियों का मौसम इस वायरस से संक्रमित होने की संभावना को बढ़ा सकता है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 111 Likes
सर्दी के मौसम में बढ़ सकती है कोविड-19 होने की संभावना। चित्र ; शटरस्टॉक

कोविड-19 की दो लहर हम देख चुके हैं। और तीसरी लहर से डरे हुए हैं। पर इसके साथ ही बाज़ारों में भीड़ बढ़ चुकी है, लोग ऑफिस जाने लगे हैं और अन्य आयोजन भी शुरू हो गए हैं। यह सब देखकर अगर आपको लग रहा है कि कोविड-19 का खतरा अब कम होने लगा है, तो आपको दोबारा गंभीरता से सोचना चाहिए। असल में गिरता तापमान कोरोना वायरस को फैलने के लिए अनुकूल माहौल दे सकता है। इसलिए इस समय आपको और भी ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है।

आखिर क्यों आप सर्दियों के मौसम में कोविड -19 के रडार पर हैं

वॉकहार्ट अस्पताल मीरा रोड के सलाहकार चिकित्सक डॉ प्रीतम मून के अनुसार, सर्दी के मौसम में कोविड-19 फैलने का प्रमुख कारण तापमान है। वह कहते हैं, “ठंडा मौसम खांसी, जुकाम और सांस की अन्य गंभीर बीमारियों को बढ़ाता है। ”

यहां कुछ कारण बताए गए हैं कि क्यों यह वायरस सर्दियों के दौरान ज़्यादा संक्रामक हो जाता है:

SARS-CoV-2 वायरस आसानी से ठंड के मौसम के अनुकूल हो जाता है। एक मोटी बाहरी झिल्ली विकसित की जाती है, जिससे वायरस फैलने के लिए संभावित रूप से अधिक उपलब्ध हो जाता है। इसलिए सर्दी के मौसम में कोविड-19 के मामलों में तेजी आने की संभावना है।

सर्दियों का मौसम इस वायरस से संक्रमित होने की संभावना को बढ़ा सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

1. कम ह्यूमिडिटी एक और कारण हो सकता है

यह व्यापक रूप से बताया गया है कि कोविड -19 वायरस ठंडी और शुष्क हवा में जीवित रहता है। दुर्भाग्य से, सर्दी का मौसम इसी तरह का होता है। इसके अलावा, कम ह्यूमिडिटी श्वसन वायरल एरोसोल कणों को बढ़ा देती है, जो लंबे समय तक हवा में रहते हैं। इसका मतलब है कि सर्दियों के मौसम में हवाई संचरण का उच्च जोखिम होता है। इसलिए सर्दी के मौसम में वायरल लोड ज्यादा होता है। जैसे-जैसे हयूमिडिटी घटती है, कोविड -19 के मामले बढ़ने की संभावना है।

2. बंद स्थानों में रहना

इन सर्द महीनों के दौरान घर के अंदर अधिक समय बिताना एक बड़ा कारण है। कम ह्यूमिडिटी इन्फ्लूएंजा वायरस को घर के अंदर लंबे समय तक रहने में सक्षम बनाती है। सर्दियों के मौसम में, हम घर के अंदर और निकट संपर्क में अधिक समय बिताते हैं। इससे संचरण और संक्रमण का खतरा काफी बढ़ जाता है।

3. खराब वेंटिलेशन

लोग अपने घरों में ठंड को मात देने के लिए हीटर का इस्तेमाल करते हैं और हवा अक्सर शुष्क रहती है। सर्दी के मौसम के दौरान घर के अंदर की स्थिति वायरल स्थिरता के लिए काफी अनुकूल होती है। यही वजह है कि सर्दियों में कोविड-19 से ज्यादा लोगों के संक्रमित होने की संभावना है।

कुछ इनडोर स्थान जैसे कि दुकानें, रेस्तरां और घर अमूमन ठीक से हवादार नहीं होते। जिससे सर्दी, फ्लू और अन्य सांस की बीमारी जैसे कोविड -19 आसानी से फैलती है।

अगर आपके ऑफि‍स में वेंटिलेशन कम है तो वहां जाना आपके लिए रिस्‍की हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

पर आप कुछ उपाय अपनाकर कोविड -19 के प्रसार को रोक सकती हैं

विशेषज्ञ द्वारा फ्लू शॉट लें :

फ्लू को एक वायरल संक्रमण के रूप में कहा जा सकता है, जो श्वसन प्रणाली पर हमला करता है। जैसे कि कोविड -19, और दोनों समान लक्षण साझा करते हैं, जो भ्रमित करने वाले हो सकते हैं। इस प्रकार, यदि अधिकांश लोग फ्लू की गोली लेते हैं, तो कम लोग फ्लू से बीमार पड़ेंगे और इससे अस्पताल में भर्ती होने की दर भी कम होगी। इसलिए फ्लू शॉट को स्किप न करें।

डॉ मून की सिफारिश है, “कोविड -19 के लिए टीका लगवाएं और अगर आपको अभी तक जैब नहीं मिला है, तो अपना शॉट लेने का यह सही समय है। यह रोग की गंभीरता, रुग्णता दर को कम कर सकता है। साथ ही, यह अस्पताल में भर्ती होने की गंभीरता को भी कम करता है।”

अब भी मास्क पहनना है ज़रूरी :

आजकल आपको अधिक सावधान रहना होगा। जहां बहुत अधिक लोग हों, या खराब वेंटिलेशन हो, तो घर के अंदर भी मास्क लगाएं। भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें और बीमार लोगों के पास न रहें।

अन्य चीजें जो आप कर सकते हैं वे हैं:

अपने हाथ धोएं

हाथों पर मौजूद कीटाणुओं और जीवाणुओं को मारने के लिए समय-समय पर हाथ धोएं। वायरस नाक, मुंह या आंखों के माध्यम से आपके शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। साथ ही एक अच्छे हैंड सैनिटाइजर का भी इस्तेमाल करें।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। चित्र-शटरस्टॉक।

सोशल डिस्टेंसिंग हो सकती है मददगार

घर पर भी अपने परिवार के सदस्यों से सुरक्षित दूरी बनाए रखने की कोशिश करें। बार-बार छुए जाने वाली सतहों जैसे कि डोर नॉब्स, फ़र्नीचर, काउंटरटॉप्स और फ़ॉक्स को कीटाणुरहित करें।

नियमित जांच के लिए जाएं

जिन लोगों को मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियां हैं, उन्हें समय-समय पर खुद पर नजर रखनी चाहिए। डॉक्टर के बताए अनुसार ही दवा लें।

संतुलित आहार लें और घर पर रोजाना व्यायाम करें।

ताजे फल, सब्जियां, साबुत अनाज, फलियां और दाल का चुनाव करने की कोशिश करें और प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के लिए हर दिन व्यायाम करें।

तो लेडीज, सर्दी के मौसम में कोरोना वायरस के प्रति लापरवाही न बरें। यह इस समय और भी खतरनाक हो सकता है।

यह भी पढ़ें : भारत में 72 फीसदी लोग नहीं करते दिन में दो बार भी ब्रश, खराब ओरल हाइजीन है कई स्वास्थ्स समस्याओं का कारण

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।