माइक्रो ब्रेकेज के कारण भी रुक सकती है हेयर ग्रोथ, जानिए क्या है यह और इससे कैसे निपटना है

बालों की लंबाई या स्वास्थ्य आपके खान-पान और रख रखाव पर भी निर्भर करता है। पर क्या आप यह जानते हैं कि हम सभी के बाल एक निश्चित बिंदु तक ही बढ़ते हैं। फिर चाहें आप कितनी भी कोशिश कर लें।
micro breakage apke baalon ko badhne se rokta hai
माइक्रो ब्रेकेज वह अदृश्य नुकसान है जो आपके बालों को आपके ध्यान में आए बिना क्षति करते है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 16 Aug 2023, 19:36 pm IST
  • 145

हम सभी आपने बालों को बढ़ाने के लिए कई उपाय अपनाते हैं। अपने सिर में रात में तेल मालिश करने से लेकर बालों को घना करने वाले शैंपू का इस्तेमाल करने तक हम बालों के लिए क्या कुछ नहीं करते। फिर भी आपने देखा होगा कि आपके बाल अभी भी आपके कंधों, कॉलरबोन या जो भी लंबाई आप चाहते हैं उससे आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं। आखिर क्या है इसकी वजह और क्यों एक निश्चित लंबाई से ज्यादा नहीं बढ़ते आपके बाल। आइए जानने की कोशिश करते हैं।

आनुवांशिक होता है हेयर ग्रोथ सर्कल

बाल के बढ़ने का चक्र आनुवांशिक होता है मतलब, आपके बाल एक निश्चित लंबाई के बाद स्थिर हो सकते हैं, और इसके बारे में बहुत कुछ नहीं किया जा सकता है। अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी के अनुसार ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बालों में माइक्रो ब्रेकेज होता है। माइक्रो ब्रेकेज वह अदृश्य नुकसान है जो आपके बालों को आपके ध्यान में आए बिना क्षति करते है। भले ही आपके बाल जड़ों से बढ़ रहे हों, पर ऐसा लग सकता है कि सिरों पर टूटने के कारण वे लंबे नहीं हो रहे हैं।

baalon ko girne se bachata hai vitamin
कुछ विटामिन होते है जो बालों को बढ़ाने के लिए बहुत जरूरी होते है उनका सेवन करें। चित्र : अडोबी स्टॉक

कैसे पता करें कि आप माइक्रो ब्रेकेज का शिकार है

आप में से कई लोग ये सोच रहें होंगे कि इस बात का पता कैसे लगाएं कि आप माइक्रो ब्रेकेज से जूझ रहे हैं। इसके लिए बस आपको एक काम करने की जरूरत है कि आपको अपने टूटे हुए बालों को लेना है और अपने बालों की लंबाई से नाप कर देखना है। अगर ये आपके बालों के बराबर हुए, तो आप माइक्रो ब्रेकेज की शिकार नहीं है। पर अगर आपके टूटे हुए बाल छोटे हैं, तो आपको माइक्रो ब्रेकेज हो रहा है।

अंतर बहुत मामूली हो सकता है, इसलिए इसे माइक्रो-ब्रेकेज कहा जाता है। लेकिन फिर भी आपको इस पर ध्यान देने की जरूरत है। आपके बाल स्टाइल करते समय और सुलझाते समय कितने टूटते हैं इस पर भी ध्यान देने की जरूरत है। अगर आपको बहुत अधिक माइक्रो ब्रेकेज हो रहा है, तो आपको इनकी देखभाल पर ध्यान देने की जरूरत है।

माइक्रो ब्रेकेज से कैसे निपटें

1 बालों के साथ बहुत कठोर न हो

अपने बालों को सुलझाते, ब्रश करते और स्टाइल करते समय सावधान रहें। बालों की जड़ों पर तनाव कम करने के लिए चौड़े दांतों वाली कंघी या सुलझाने के लिए डिज़ाइन किए गए ब्रश का उपयोग करें।

हीट स्टाइलिंग को जितना संभव हो उतना कम करने का प्रयास करें। गर्मी आपके बालों को नुकसान पहुंचाती है, उनकी नमी छीन लेती है और केराटिन संरचना को कमजोर कर देती है।

2 मजबूती और मॉइस्चराइजिंग उपचार करें

बालों को कोमल बनाए रखने के लिए सीरम और तेल लगाएं और नियमित रूप से बालों को मजबूत बनाने वाले उपचारों का उपयोग करें। सीरम और तेल बालों को हाइड्रेट करने का काम करते हैं। इसके अलावा बालों को और अधिक अच्छा और मरम्मत करने के लिए आप प्रोटीन ट्रिटमेंट का सहारा ले सकते है। प्रोटीन ट्रिटमेंट क्यूटिकल्स को सील करने के लिए बहुत अच्छे हैं, लेकिन इसे बहुत अधिक करने से बचें।

hair fall ke liye test
हीट स्टाइलिंग को जितना संभव हो उतना कम करने का प्रयास करें। चित्र शटरस्टॉक।

3 बालों को स्वस्थ बानने वाले विटामिन लें

कुछ विटामिन होते है जो बालों को बढ़ाने के लिए बहुत जरूरी होते है और इसके सप्लीमेंट भी मिलते है। ये सप्लीमेंट आवश्यक विटामिन, खनिज और पोषक तत्वों से मिलकर बने होते है।

बालों के विटामिन में पाए जाने वाले सामान्य तत्वों में बायोटिन, विटामिन डी, विटामिन ई, विटामिन सी, आयरन, जिंक, ओमेगा -3 फैटी एसिड और विभिन्न बी विटामिन शामिल हैं। ये पोषक तत्व बालों के रोम के स्वास्थ्य, कोलेजन उत्पादन, स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन और ऑक्सीडेटिव तनाव से सुरक्षा जैसे कारकों में योगदान करते हैं।

ये भी पढ़े- अंडर आई स्किन होती है ज्यादा पतली और सेंसिटिव, इन 4 तरह से तैयार करें DIY अंडर आई क्रीम

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख