Aliv seeds : वेट लॉस करना है, तो हर रोज़ लें 1 चम्मच हलीम के बीज, मक्खन की तरह गलेगी चर्बी

हलीम के बीजों के स्वास्थ्य लाभों के बारे में दुनिया भर में रिसर्च हो रही है। जिनमें यह सामने आया है कि ये सीड्स ने केवल पोषण की कमी को दूर करते हैं, बल्कि वेट लॉस में भी आपकी मदद कर सकते हैं।
halim seeds
फ्लेवोनोइड्स जैसे बायोएक्टिव यौगिकों के कारण यह एंटी-डायरियल, एंटी बैक्टीरियल, हाइपोग्लाइसेमिक, ब्रोन्कोडायलेटर और कार्डियोटोनिक गुण वाला होता है। चित्र : एडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 19 Mar 2023, 15:30 pm IST
  • 126

वजन घटाने के लिए हम तरह-तरह के खाद्य पदार्थ हम अपने आहार में शामिल करते हैं। कई तरह के नट्स, सीड्स इसमें हमारी मदद भी करते हैं। हाल में लोगों ने हलीम के बीज को लेना शुरू किया। यह लोगों के बीच इन दिनों खूब लोकप्रिय है।यदि आप गूगल सर्च करें, तो पायेंगे हलीम के बीज सबसे अधिक सर्च किये जाने वाले खाद्य पदार्थों में से एक है। दरअसल, हलीम (Lepidium sativum ), जिसे हम गार्डन या ग्रास क्रेस (Garden Cress) भी कहते हैं। यह पौधा भारत का नहीं, बल्कि अरब देश का निवासी है। यह वजन घटाने में कारगर ((Halim Seeds for weight loss) है।

खाद्य पदार्थों का फोर्टिफिकेशन बीज से 

औषधीय गुणों के कारण इसका प्रयोग वहां सदियों से होता आया है। गार्डन क्रेस के बीज (Aliv seeds) अरबी देशों में बड़े पैमाने पर कई उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाते हैं। आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा पद्धति में इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। इसके विभिन्न पोषण और औषधीय गुणों के कारण विभिन्न खाद्य पदार्थों का फोर्टिफिकेशन इसके विभिन्न उपयोगों में से एक है। हलीम के बीज वजन घटाने में कैसे कारगर (Halim Seeds for weight loss) है, यह जानने से पहले इसके पोषक तत्वों को जान लें।

बीज के पोषक तत्व (Aliv Seeds Nutrients)

इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फार्मास्युटिकल रिसर्च एंड एलाइड साइंसेज में हलीम बीज के फायदों पर शोधकर्ता हाना एल सईद, एस ज़िदान आदि के किये गये शोध के निष्कर्ष को प्रकाशित किया गया। शोधकर्ता अपने आलेख में बताते हैं कि बीजों में औषधीय गुणों के लिए जिम्मेदार कई फाइटोकेमिकल पदार्थ होते हैं। इनमें लेपिडीन कंपाउंड होता है जो मूत्रवर्धक (Diuretic) के रूप में काम करता है। बीजों में मौजूद इमिडाज़ोल यौगिक एंटीहाइपरटेंसिव होते हैं।

ग्लूकोसिनोलेट्स, फ्लेवोनोइड यौगिक और सेमीलेपिडिनोसाइड एंटीकैरिकनोजेनिक, एंटीऑक्सिडेंट और एंटीस्थमैटिक के रूप में भी कार्य करते हैं। हलीम बीज या ग्रास क्रेस सीड उन महत्वपूर्ण औषधीय पौधों में से एक हैं, जिनमें काफी मात्रा में वसा, खनिज, प्रोटीन, फाइबर और फाइटोकेमिकल्स होते हैं। ये कई कार्यात्मक पेय पदार्थों (Functional Beverages) और खाद्य पदार्थों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट है  (Natural Anti oxidant Aliv Seeds)

फ्लेवोनोइड्स जैसे बायोएक्टिव यौगिकों के कारण यह एंटी-डायरियल, एंटी बैक्टीरियल, हाइपोग्लाइसेमिक, ब्रोन्कोडायलेटर और कार्डियोटोनिक गुण वाला होता है। यह फाइटोकेमिकल्स से भी भरपूर होता है। फेनोलिक कंपाउंड एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो इसकी एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि के लिए जिम्मेदार होता है। इसके अलावा, बीज में अतिरिक्त औषधीय गुण जैसे अपेरिएंट, अल्टरेटिव, मूत्रवर्धक, टॉनिक, कामोत्तेजना बढाने वाला, इमेनगॉग और कार्मिनेटिव गुण होते हैं। बीज का उपयोग हाई ब्लड प्रेशर और किडनी डिजीज के इलाज में किया जाता है।

कैसे कम करता है वजन 

आयुर्वेद एक्सपर्ट डॉ. नीतू बताती हैं, ‘ हलीम के बीज (Halim Seeds) या क्रेस सीड्स (Cress Seeds) शरीर के अतिरिक्त वजन को कम करने में आपकी मदद करते हैं। यह फंक्शनल खाद्य पदार्थ के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।

फाइबर होने के कारण हलीम के बीज वजन घटाने में मददगार हैं । चित्र : एडोबी स्टॉक

यह फाइबर से भरपूर होता है। इसे लेने के बाद देर तक भूख नहीं लगती है। यह न केवल वजन कम (Weight Loss) करने में मदद करते हैं, समग्र स्वस्थ आहार के हिस्से के रूप में सेवन करने से वजन बेहतर ढंग से प्रबंधित हो पाता है।

खाली पेट कर सकती हैं सेवन

डॉ. नीतू बताती हैं, ‘हलीम के बीज को सुपरफूड माना जाता है। क्योंकि ये प्रोटीन का समृद्ध स्रोत हैं। यदि आप नियमित रूप से व्यायाम करती हैं और अपनी मांसपेशियों के स्वास्थ्य को सुधारना चाहती हैं, तो अधिक पोषण के लिए नियमित रूप से आहार में बीजों को शामिल करें। इसे खाली पेट भी पानी के साथ लिया जा सकता है

पानी या दूध के साथ कर सकती हैं ।सेवन चित्र : शटर स्टॉक

कितनी मात्रा लें बीज की

यदि आप नियमित रूप से हलीम के बीज लेना चाहती हैं, तो 1 टी स्पून-1 टेबल स्पून लिया जा सकता है। सप्ताह में 3-4 बार भी ले लेती हैं, तो यह आपके लिए पर्याप्त है

किन्हें नहीं करना चाहिए हलीम के बीजों का सेवन

हलीम के बीजों का सेवन ब्लड प्रेशर को घटा सकता है। यदि आपको लो ब्लड प्रेशर की शिकायत है, तो नहीं लें। हाइपोथायरायडिज्म होने पर भी इसका सेवन नहीं करें। यदि पोटैशियम को शरीर से बाहर निकालता है। यदि आपको लो पोटैशियम की शिकायत है, तो नहीं लें। याद रखें कि बिना डॉक्टर की सलाह के इसे लेने पर स्वास्थ्य जोखिम भी हो सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें :- कब्ज और बढ़ते वजन से परेशान हैं, तो अपने आहार में शामिल करें काला जीरा, बेहद खास है यह मसाला

  • 126
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

अगला लेख