वैलनेस
स्टोर

पर्यावरण के प्रति आभार जताने में मदद करेंगे ये 6 इको फ्रेंडली लाइफस्टाइल टिप्स

Updated on: 5 June 2021, 16:29pm IST
दुनिया भर अब इको फ्रेंडली लाइफस्‍टाइल पर जोर दिया जा रहा है। जो न केवल हमारी सेहत के लिए फायदेमंद है, बल्कि वह पर्यावरण संरक्षण में भी मददगार है।
अंबिका किमोठी
  • 92 Likes
ईको फ्रेंडली लाइफस्‍टाइल आपको और आपके पर्यावरण को लंबे समय तक स्‍वस्‍थ बनाए रखता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

5 जून को हर साल विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment) के रूप में मनाया जाता है। स्‍वस्‍थ रहने के लिए यह जरूरी है कि हम पर्यावरण के प्रति संवेदनशील रहें और उसका ख्याल रखें। अगर आप सोेच रहीं हैं कि अपने बिजी लाइफस्टाइल के चलते आप ऐसा नहीं कर सकतीं, तो हम आपके लिए कुछ टिप्‍स लेकर आए हैं। असल में दुनिया भर अब इको फ्रेंडली लाइफस्‍टाइल पर जोर दिया जा रहा है। जो न केवल हमारी सेहत के लिए फायदेमंद है, बल्कि वह पर्यावरण संरक्षण में भी मददगार है।

आज सारे विश्व के वैज्ञानिक एवं सम्बन्धित वैज्ञानिक समुदाय ईको-फ्रेंडली एवं प्रदूषण मुक्त उपायों पर अत्यधिक जोर दे रहे हैं। कारण साफ है जब पर्यावरण शुद्ध और सुरक्षित होगा तभी हम और आप जीवित रह पाएंगे। इस पर्यावरण दिवस पर क्यों न हम भी ईको फ्रेंडली लाइफस्टाइल अपनाने की शपथ लें।

क्‍या हो सकते हैं ईको फ्रेंडली लाइफस्‍टाइल अपनाने के उपाय

1 ईको-फ्रेंडली ग्रीन होम

जैसा कि नाम से ही समझ आ रहा है एक ऐसा घर जो पर्यावरण के अनुकूल ही डिजाइन एवं तैयार किया गया हो। अपने घरों में तथा घरों के चारों तरफ आप अलग-अलग तरह से अपने बजट में हरियाली बनाए रख सकती हैं।

पर्यावरण प्रेमी हैं तो ये टिप्‍स आपके लिए मददगार होंगी। चित्र: शटरस्‍टॉक

जैसे- इंडोर गार्डन, आउटडोर गार्डन, बालकनी में या टेरेस गार्डन, किचन गार्डन, ब्लैंक प्लान्टेशन आदि। कुछ ऐसे पौधे भी हैं, जिन्‍हेें आप अपने घर के अंदर भी लगा सकती हैं। इससे घर के अंदर का पर्यावरण बहुत हद तक प्रदूषण मुक्‍त होगा।

2 सौंदर्य के DIY टिप्‍स

इसमें फेस पैक के लिए बेसन का इस्‍तेमाल करने से लेकर रीठा, आंवला से अपने लिए खुद शैंपू बनाने तक सभी कुछ शामिल है। कैमिकल वाले प्रोडक्‍ट पर भरोसा करने की बजाए सौंदर्य के वे नुस्‍खे अपनाएं जो हमारी दादी-नानी बरसों पहले अपनाती थीं।

प्रकृति में इतने सारे पेड़ पौधे और जड़ी बुटियां समेत अनेकों उत्पाद मौजूद हैं जिनका इस्तेमाल कर हम बाजार में बिकने वाले महंगे शैंपूओं को मात दे सकते हैं और हैरानी की बात ये है कि ये कीमत में भी हमें बेहद कम पड़ेंगे।

3 बागवानी की जगह गमलवानी

हम समझ सकते हैं कि सभी के पास बगीचे या किचन गार्डन की सुविधा नहीं होती। पर क्‍या आप जानती हैं कि कुछ ऐसी सब्जियां भी हैं, जिन्हें आप गमले में आसानी से लगा सकती हैं। पुदीना, टमाटर, धनिया, हरी मिर्च, भिंडी आदि ऐसी ही सब्जियां हैं, जो गमलों में भी आसानी से उग सकती हैं। बस जरूरत है खाद पानी के साथ धूप की। तो अब बागवानी की जगह आप गमलवानी भी ट्राई करें।

जी हां, गमलबानी ट्रेंड में भी हैं और आपके बजट में भी। चित्र: शटरस्‍टॉक

4 कम करें इलेक्‍ट्रॉनिक उपकरणों का इस्तेमाल

हम आपको पूरी तरह से इनका इस्तेमाल बंद कर देने की सलाह नहीं देंगे, पर आप इनका इस्तेमाल सीमित कर सकती हैं। कम से कम हेयर ड्रायर का तो कर ही सकती हैं। कुछ उपकरण ऐसे होते हैं, जिनका हम जरूरत से ज्‍यादा इस्‍तेमाल कर रहे होते हैं। जैसे छाछ बनाने के लिए ग्राइंडर का इस्तेमाल करना। जबकि इसके लिए लकड़ी का उपकरण हमारी रसोई में बरसों से रखा है।

जब हमें बिजली की जरूरत न हो तब हम बिजली का बटन बंद कर सकते हैं जब हम खुद प्रदूषण नहीं करेंगे तो इसका सीधा लाभ भी हम ही उठाएंगे।

5 साइकिल का इस्तेमाल करें

क्‍या आप जानती हैं कि आपकी लोअर बॉडी के फैट को कम करने का सबसे अच्‍छा व्‍यायाम साइकिलिंग है। जी हां, ये न सिर्फ बेहतरीन व्यायाम है, बल्कि आपके बजट और पर्यावरण दोनों के अनुकूल भी है। हालांकि अभी हम सभी ऑनलाइन डिलीवरी का इस्तेमाल कर रहे हैं। पर सामान्य जीवन में आसपास की दूरियों को हम सभी साइकिल से तय कर सकते हैं।

यह समय है जब आप ट्रांसपोर्ट के इन साधनों पर दोबारा विचार कर सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

6 प्लास्टिक का उपयोग करने से बचें

प्लास्टिक कितनी हानिकारक है न सिर्फ मनुष्यों के लिए बल्कि पशु, पक्षी और पेड़-पौधे व जानवरों के लिए भी हो सके तो इसे इस्तेमाल में लाने से बचा जाए।

अपने आस पास के लोगों को जागरूक कर हमें इको फ्रेंडली होने की जरूरत है। क्योंकि आज हम पर्यावरण की रक्षा करेंगे तभी तो पर्यावरण हमें जीवित रहने में और हमारी आने वाली पीढ़ियों को जीवित रखने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें – World Environment Day 2021 : अपनी और पर्यावरण दोनों की सेहत के लिए आपको कम कर देना चाहिए एयर कंडीशनर का इस्तेमाल

अंबिका किमोठी अंबिका किमोठी

योगा, डांस और लेखनी, यही सफर के साथी हैं। अपनी रचनात्‍मकता में देखूं कि ये दुनिया और कितनी प्‍यारी हो सकती है।