ऐप में पढ़ें

कोविड-19 के गंभीर प्रभावों से सुरक्षा प्रदान कर सकता है फ्लू का टीका : अध्ययन

Published on:8 August 2021, 20:00pm IST
एक अमेरिकी अध्ययन में यह सामने आया है कि इंफ्लुएंजा का टीका जो आपको साल में एक बार लगवाना चाहिए, वह कोविड-19 के प्रभाव को कम कर सकता है।
योगिता यादव
  • 80 Likes
covid-19 se bachav ke liye flu shot le sakte hai
फ्लू शॉट कोविड-19 के घातक होने के जोखिम को कम करता है। चित्र: शटरस्टॉक

अमेरिका में हुए एक हालिया अध्ययन में सामने आया है कि अगर आपको फ्लू या इंफ्लुएंजा का टीका लगा हुआ है, तो आपके लिए कोविड-19 से उबरना ज्यादा आसान हो सकता है। यह टीका आपको कोरोनावायरस के हमले में गहन आघात से बचाता है। साथ ही ऐसे मरीजों को आईसीयू में जाने की भी जरूरत नहीं पड़ती। आइए जानते हैं इस बारे में और विस्तार से।

कोविड-19 और इंफ्लुएंटा का टीका

पीएलओएस वन जर्नल में तीन अगस्त को प्रकाशित अध्ययन में यह दावा किया गया है कि साल में एक बार लगाया जाने वाला इंफ्लुएंजा का टीका कोविड-19 के मरीजों में आघात, सेप्सिस (घाव का सड़ना), खून के थक्के जमना और कई अन्य गंभीर प्रभावों के जोखिम को कम करता है। अपने तरह के सबसे बड़े अध्ययन में यह जानकारी दी गई है।

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ मियामी मिलर स्कूल ऑफ मेडिसिन के अनुसंधानकर्ताओं ने यह भी पाया कि कोविड-19 के जिन मरीजों को फ्लू का टीका लगा हुआ है, उन्हें आपातकालीन विभाग में जाने की और गहन देखभाल कक्ष (आईसीयू) में भर्ती कराने की जरूरत भी कम पड़ती है।

agle saptah tak badh sakte hai covid-19 ke cases
कोविड-19 के मामले बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। चित्र: शटरस्टॉक

क्या कहते हैं विशेषज्ञ 

मिलर स्कूल में प्राध्यापक, अध्ययन के वरिष्ठ लेखक देविंदर सिंह ने कहा, “आज की तारीख तक कोविड-19 के खिलाफ दुनिया के केवल छोटे से हिस्से को टीके की सभी खुराकें दी जा चुकी हैं और वैश्विक महामारी के कारण हुई बर्बादी के साथ ही वैश्विक समुदाय को गंभीर बीमारियों और मृत्यु की आशंका को कम करने के तरीके अब भी तलाशने की जरूरत है।

मुख्य लेखकों सुजैन तागीओफ और बेंजमिन स्लेविन के साथ अनुसंधान करने वाले सिंह ने कहा, “मेरी टीम फ्लू के टीके और कोविड-19 मरीजों में गंभीर बीमारियों के जोखिम कम होने के बीच संबंध स्थापित कर पाई है।”

बच्चों के लिए भी हो सकता है मददगार 

कोरोनावायरस की तीसरी लहर को लेकर सबसे ज्यादा डर बच्चों के लिए लग रहा है। जानकारों का मानना है कि कोविड-19 की तीसरी लहर का हमला बच्चों पर होने की आशंका है। ऐसे में इंफ्लुएंजा शॉट बच्चों के लिए भी एक सुरक्षात्मक उपाय हो सकता है।

मदरहुड हॉस्पिटल, बैंगलोर में पीडिट्रिशियन डॉ. विकास सात्विक मानते हैं कि इंफ्लुएंजा शॉट कोविड-19 से बच्चों के लिए एक सुरक्षात्मक उपाय हो सकता है। मानसून और कोरोनावायरस की थर्ड वेव को देखते हुए बच्चों को यह दिया जाना और भी ज्यादा जरूरी है।”

Bachcho ko flu shot zarur dilwana chahiye
बच्चों को कोविड – 19 से बचा सकता है इन्फ्लुएंजा शॉट. चित्र : शटरस्टॉक

डाॅ. विकास आगे कहते हैं,”हालांकि फ्लू का टीका और कोविड-19 वैक्सीन दोनों अलग-अलग उद्देश्यों की पूर्ति करते हैं। इसलिए इसे कोविड वैक्सीन का विकल्प नहीं माना जा सकता है। परंतु भारत में अभी तक 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए वैक्सीन उपलब्ध नहीं है। ऐसे में फ्लू शॉट एक सुरक्षात्मक उपाय हो सकता है।”

विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी पर देना चाहिए ध्यान 

अब जबकि कोरोनावायर का डेल्टा स्ट्रेन दुनिया भर के 135 देशों में फैल चुका है, तब आपके लिए यह जानकारी फायदेमंद हो सकती है। हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी थी कि यह इतनी तेजी से बढ़ रहा है कि अगर लोगों की भीड़ और उनकी सोशलाइजिंग को नियंत्रित नहीं किया गया तो अगले एक सप्ताह में कोविड-19 के मामले बीस करोड़ के पार हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें – अपने खानपान का खास ख्याल रखें! क्योंकि पोषण की कमी से बढ़ सकता है कोविड-19 में मृत्यु का जोखिम

(समाचार एजेंसी भाषा से प्राप्त इनपुट के साथ)

योगिता यादव योगिता यादव

पानी की दीवानी हूं और खुद से प्‍यार है। प्‍यार और पानी ही जिंदगी के लिए सबसे ज्‍यादा जरूरी हैं।