ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम को बढ़ा सकता है सोया मिल्क का ज्यादा सेवन, जानिए इसके स्वास्थ्य जोखिम

Published on: 15 March 2022, 15:30 pm IST

क्या आप भी वेजिटेरियन हैं और अपनी प्रोटीन की जरूरतों को पूरा करने के लिए आहार में सोया या उससे बने उत्पादों का सेवन कर रही हैं? तो सावधान हो जाइए क्योंकि, यह आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है।

janiye soya milk ke baare mein
आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है सोया दूध। चित्र : शटरस्टॉक

यदि आप शाकाहारी हैं या वीगन डाइट फॉलो कर रही हैं, तो हर कोई आपको अपनी प्रोटीन इंटेक को पूरा करने के लिए सोय (Soy) का सेवन करने की सलाह देगा। पोषण विशेषज्ञ से लेकर आपके जिम फ्रेंड तक, सभी यह जानते हैं कि सोयाबीन या उससे बने उत्पाद आपके शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा कर सकते हैं। साथ ही, यह वेजिटेरियन प्रोटीन का अच्छा स्रोत है।

मगर क्या आप यह जानती हैं कि सोया का ज़्यादा सेवन आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है? जी हां… जितना यह आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है, इसकी ओवरडोज आपकी सेहत को उतना ही नुकसान पहुंचा सकती है।

कैसे आपके लिए स्वास्थ्य जोखिम बढ़ा सकता है सोया

1 ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम को पैदा कर सकता है सोया दूध (Soy Milk)

सोया दूध में आइसोफ्लेवोन्स शामिल हैं, जिनकी रासायनिक संरचना एस्ट्रोजन हार्मोन के समान है। शरीर में दो एस्ट्रोजन रिसेप्टर्स होते हैं। जब आइसोफ्लेवोन्स एक से जुड़ते हैं, तो वे एस्ट्रोजन जैसे प्रभाव पैदा करते हैं, लेकिन जब वे दूसरे से जुड़ते हैं, तो उनके पास एक एंटी-एस्ट्रोजन प्रभाव होता है। इस वजह से, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार सोया दूध में आइसोफ्लेवोन्स को कुछ मामलों में स्तन कैंसर से जोड़ा गया है।

सितंबर 2014 में जर्नल ऑफ द नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट में प्रकाशित एक अध्ययन में कहा गया है कि – सोया दूध का सेवन युवा महिलाओं के लिए समस्याग्रस्त हो सकता है।

2 शरीर में पोषक तत्वों कि कमी का कारण बन सकता है सोयाबीन

फाइटोएस्ट्रोजेन एकमात्र समस्या नहीं है। सोया में फाइटेट्स भी होते हैं, जो एंटी-पोषक तत्व होते हैं। ये आयोडीन, जस्ता, लोहा, मैग्नीशियम, तांबा और क्रोमियम जैसे कुछ खनिजों के अवशोषण को अवरुद्ध कर सकते हैं। यदि आप बहुत अधिक सोया दूध पी रहे हैं और सोया युक्त प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ खा रहे हैं, तो इससे पोषक तत्वों की कमी होने का खतरा बढ़ सकता है।

janiye soya se bani instant idli ki recipe
सोया चंक्‍स के तो सभी दीवाने हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

जानिए सोया का सेवन करने के अन्य नुकसान

सोया के सबसे आम दुष्प्रभाव हैं पाचन विकार, जैसे कब्ज और दस्त।

यह उन लोगों में थायराइड प्रक्रिया को बदल सकता है, जिनमें आयोडीन की कमी होती है।

अधिक मात्रा में सोया का उपयोग गर्भावस्था के दौरान असुरक्षित हो सकता है, क्योंकि सोया से एस्ट्रोजन जैसे पदार्थ भ्रूण के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

इस बारे में बहुत कम जानकारी है कि स्तनपान के दौरान सोया का उपयोग खाद्य पदार्थों में सामान्य से अधिक मात्रा में करना सुरक्षित है या नहीं।

सोया के साइड इफेक्ट्स में गले में खुजली और सूजन शामिल हैं। यह शरीर में प्रोटीन संश्लेषण को भी अवरुद्ध कर सकता है।

चलते – चलते

मॉडरेशन में, ओर्गेनिक सोया दूध और सोया उत्पाद एक स्वस्थ आहार का हिस्सा हो सकते हैं। मगर यह सुनिश्चित करना ज़रूरी है कि आप उच्च गुणवत्ता वाले सोया उत्पादों का चयन कर रहे हैं।

हार्वर्ड हेल्थ पब्लिशिंग के अनुसार सोया दूध, एडमैम, टोफू जैसे सोया खाद्य पदार्थों का सेवन करना ठीक है। मगर आपको सोया आइसोफ्लेवोन की खुराक से बने प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए, जिनमें उच्च मात्रा में होते हैं आइसोफ्लेवोन (isoflavones) की खुराक होती है।

यह भी पढ़ें : क्या आपने कभी चखा पान आइसक्रीम का स्वाद? यहां है इसकी लाजवाब रेसिपी

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें