वैलनेस
स्टोर

कोविड – 19 वैक्सीनेशन से पुरुष प्रजनन क्षमता को कोई खतरा नहीं है : अध्ययन

Published on:11 July 2021, 18:00pm IST
कोविड-19 टीकाकरण की प्रक्रिया अपने ज़ोरों पर है। ऐसे में जो जोड़े फैमिली प्लानिंग कर रहे हैं उन्हें वैक्सीनेशन के प्रभाव के बारे में चिंता करने की कोई ज़रुरत नहीं है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
फ्यूचर डैड के लिए एक अच्छी खबर है! कोविड - 19 वैक्सीनेशन से पुरुष प्रजनन क्षमता को कोई खतरा नहीं है. चित्र : शटरस्टॉक

फ्यूचर डैड के लिए एक अच्छी खबर है! यूनिवर्सिटी ऑफ मियामी मिलर स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं द्वारा JAMA.1, में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, मॉडर्ना और फाइजर कोविड-19 वैक्सीनेशन पुरुष प्रजनन क्षमता को प्रभावित नहीं करते हैं।

क्लीवलैंड क्लिनिक के यूरोलॉजिस्ट, एमडी, नील पारेख का कहना है कि, “जिस तरह से इन टीकों को बनाया गया है, उसका न तो शुक्राणु उत्पादन पर कोई प्रभाव पड़ता है और न ही शुक्राणु के डीएनए पर।”

क्या मेल फर्टिलिटी को प्रभावित कर सकता है कोविड-19

जहां वैक्सीनेशन का मेल फर्टिलिटी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। वहीं दूसरी ओर कोविड – 19 वायरस के प्रजनन क्षमता पर कुछ प्रभाव देखने को मिले हैं। एक अन्य अध्ययन में पाया गया कि कुछ पुरुष जिन्हें कोविड-19 हुआ है, वे ठीक होने के बाद इरेक्टाइल डिसफंक्शन से जूझ रहे हैं।

डॉ. पारेख ने कहा कि ”अन्य शोध से पता चलता है कि कोविड ​​​​-19 संक्रमण, या उससे होने वाली प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया, लगभग छह महीने तक एक पुरुष के शुक्राणु पैदा करने की की क्षमता को प्रभावित कर सकती है।

”साथ ही उनका कहना है कि अध्ययन जारी हैं और पुरुष प्रजनन क्षमता पर कोविड-19 के दीर्घकालिक परिणाम अभी भी अज्ञात हैं।

हालांकि, उनकी सलाह है कि प्रजनन आयु के पुरुष कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए विशेष ध्यान रखें और ऐसा करने का सबसे अच्छा तरीका टीकाकरण है।

डॉ. पारेख का कहना है कि, “टीका सुरक्षित है और यही सबसे सही चीज है जो आप अपनी प्रजनन क्षमता की रक्षा के लिए कर सकते हैं। यदि आपकी कोई कोविड-19 टीकाकरण और प्रजनन स्वास्थ्य संबंधी चिंताएँ हैं, तो आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि इस मामले में बहुत सारी गलत सूचनाएँ हैं, इसलिए एक विश्वसनीय चिकित्सक की सलाह लेना सबसे अच्छा है।

यह भी पढ़ें : मधुमेह और कोलेस्ट्रोल के जोखिम को कम करना है, तो आज ही से आहार में शामिल करें मुट्ठी भर बादाम

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।