फॉलो

अनलॉकिंग संकट : 31-40 वर्ष के लोगों में बढ़ रही कोविड -19 संक्रमण की दर

Published on:9 October 2020, 15:48pm IST
ऐसा लगता है कि हम अनलॉक के बाद कोविड -19 को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं क्योंकि संक्रमण की दर में उल्‍लेखनीय वृद्धि हो रही है, खासकर 31 से 40 वर्ष की उम्र के लोगों में।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 75 Likes
31 से 40 वर्ष के लोगों में अब ज्‍यादा जो रहा है कोविड-19 का संक्रमण। चित्र : शटरस्‍टॉक

31-40 वर्ष के आयु वर्ग के लोग कोविड -19 संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं। इस मामले में उनका प्रतिशत 21.34% सबसे अधिक है। अनलॉक के बाद इस आयु समूह में संक्रमण का प्रतिशत बढ़ गया है, क्योंकि इसी उम्र के लोग नौकरियों और व्यवसाय के लिए बाहर निकलने लगे हैं।

महारष्‍ट्र सरकार के चिकित्सा शिक्षा और औषधि विभाग द्वारा जारी किये गए डेटा के अनुसार महाराष्ट्र में पिछले सप्‍ताहांत तक 14,43409 कोविड -19 मामले और 38084 मौतें हो चुकी थीं। संक्रमित लोगों का उच्चतम प्रतिशत 21-30 वर्ष की आयु से है, इसके बाद फर्मवेयर वर्ष (17.90%), 21-30 वर्ष (16.98%) और 51-60 वर्ष (15.95%) हैं।

अनलॉक के साथ बढ़ा युवाओं में संक्रमण 

विश्लेषणात्मक आंकड़ों से पता चलता है कि अधिकारियों द्वारा सामाजिक गतिविधियां खोल दिए जाने के बाद संक्रमणों के मामलों में बढ़ोतरी देखी गई है। चार महीने पहले संक्रमण का प्रतिशत 20.54% था, जो 04 अगस्त को बढ़कर 20.74% हो गया और 4 सितंबर को बढ़कर 21.14% हो गया है।

कोरोनावायरस में सिर्फ मृत्‍यु का ही जोखिम नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

“इंटर स्‍टेट मूवमेंट, ऑफि‍स स्‍टाफ में बढ़ोतरी, वाणिज्यिक गतिविधियों सहित प्रमुख गतिविधियां सितंबर के पहले सप्ताह में खोली गईं। इससे पिछले एक महीने में इस आयु वर्ग के रोगियों की संख्या में अचानक उछाल लाया। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि लोगों में जागरूकता ने परिवारों के बीच इस विचार को बढ़ाया कि युवा बाहर निकलेंगे जबकि बुजुर्ग लोग घर बैठेंगे।

बुजुर्गों में कम हो रहे हैं संक्रमण के मामले 

दिलचस्प बात यह है कि 51-60 साल के लोगों में संक्रमण धीरे-धीरे कम हो गया है। 04 जून को 18.03% से, यह 41-50 वर्ग के आयु समूह में 17.9% तक गिर गया है और 51-60 वर्ष के समूह में यह 16.69% से घटकर 15.95% पर आ गया है। हैरानी की बात यह है कि 21-30 वर्ष आयु वर्ग में भी संक्रमण के प्रतिशत में गिरावट देखी जा रही है।

4 जून को 19.55% से, यह 4 अक्टूबर को घटकर 16.98% हो गया और गिरावट का श्रेय स्कूलों, कॉलेजों को बंद करने और युवाओं में उच्च जागरूकता को दिया जाता है। 61-70 और 71-80 वर्ष के समूहों में संक्रमण की दर इस अवधि के दौरान क्रमशः 9.72% से बढ़कर 10.63% और 4.19 से 5.02% हो गई।

अनलॉक 4.0 में आपको ज्‍यादा सतर्क रहने की जरूरत है। चित्र: शटरस्‍टॉक

डॉ. प्रदीप आवटे कहते हैं, “इस साल के दौरान संक्रमण के प्रतिशत में वृद्धि नौकरियों और अन्य गतिविधियों की खातिर उनकी गतिशीलता के कारण होती है। जब अनलॉक होने के बाद अन्य गतिविधियां होती हैं। इसका सकारात्मक हिस्सा यह है कि इस आयु समूह के लोग संक्रमण से लड़ सकते हैं और इससे तेजी से बाहर निकल सकते हैं।

यह हर्ड इम्‍युनिटी को विकसित करने और सकारात्मक एंटीबॉडी वाले लोगों के प्रतिशत को बढ़ाने में भी मदद करता है। हालांकि संक्रमण का प्रतिशत इस आयु वर्ग में अधिक है पर मृत्यु दर कम है।”

यह भी पढ़ें – कोविड-19 के साथ अब कांगो फीवर भी बढ़ा रहा है चिंता, जानिए इसके बारे में सब कुछ

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।