फॉलो
वैलनेस
स्टोर

कोविड-19 : क्‍या सब्जियों और पैकेज्‍ड फूड पर हो सकता है कोरानावायरस? एक्‍सपर्ट से जानिए इसका जवाब

Published on:16 October 2020, 15:21pm IST
कोरोनावायरस से डरते, खुद को और अपने परिवार को बचाते हमें लंबा समय हो चुका है। अब समय है कुछ चीजों पर रुककर गौर करने का। सब्‍जी से लेकर फूड पैकेट तक एक्‍सपर्ट हमें बता रहे हैं, वायरस की मौजूदगी।
Dr. S.S. Moudgil
  • 90 Likes
एक्‍सपर्ट बता रहे हैं कोरोनावायरस कैसे फैल सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कोरोनावायरस जो COVID-19 रोग का कारण बनता है, वह संक्रमित व्‍यक्ति की खांसी, छींक के साथ निकलने वाली लार की बूंदों से फैलता है। ये ड्रॉपलेट्स जब किसी सतह या वस्तु के संपर्क में आती हैं, तो यहीं से ये अन्‍य व्‍यक्तियों तक भी फैलती हैं। इनमें कागज, धातु, पत्‍थर, गत्‍ता कुछ भी हो सकता है। अब हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि इनमें से कौन सी वस्‍तु संक्रमण को कितनी देर रिटेन कर सकती है।

कैसे फैलता है कोरानावायरस 

कोरोनावायरस काउंटरटॉप्स और डोरनॉब्स जैसी सतहों पर घंटों या कई दिन तक रह सकता है। यह कितनी देर तक जीवित रहता है, सतह किस सामग्री यथा प्लास्टिक काठ या मेटल किस से बना है पर निर्भर करता है ।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

विषाणु विज्ञानी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी, जॉनवाईट ने अमेरिकी सर्जन जनरल जेरोम एडंस के साथ आम सवालों और इस वायरस के बारे में गलत सूचना फैलाव रोकने पर हुई बातचीत पर आधारित इस लेख में हम बात करते हैं कि कोरोनावायरस कहां कितनी देर जीवित रह सकता है।

अब भी आपको बंद जगहों पर रहने से परहेज करना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक
अब भी आपको बंद जगहों पर रहने से परहेज करना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

आइए जानें कोरोना कहां पर कितने दिन जीवित रह सकता है

प्लास्टिक

यथा : दूध कंटेनर और डिटर्जेंट की या अन्य बोतलें, मेट्रो और बस सीटें, बैकपैक, लिफ्ट बटन, पर यह 2 से 3 दिन तक जीवित रह सकता है।

स्टेनलेस स्टील

यथा : रेफ्रिजरेटर, बर्तन और धूपदान, सिंक, पानी की बोतल आदि पर भी यह 2 से 3 दिन तक जीवित रह सकता है।

गत्ता

यथा : शिपिंग बॉक्स, कुरियर पैकेट्स पर यह 24 घंटे तक ही जीवित रह सकता है।

तांबे

यथा : सिक्‍के, बर्तन, कुकवेयर आदि पर यह 4 घंटे तक एक्टिव रह सकता है।

कोरोनावायरस से बचाने में हाथ धोना मददगार हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
कोरोनावायरस से बचाने में हाथ धोना मददगार हो सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

एल्यूमीनियम

यथा : सोडा के कंटेनर, टिनफॉइल, पानी की बोतलें आदि पर इसकी उम्र 2 से 8 घंटे तक हो सकती है।

कांच

यथा : चश्मा, ग्लास, कप, दर्पण, खिड़कियों के कांच आदि पर यह 5 दिनों तक रह सकता है।

सेरेमिक -मिट्टी

यथा : सजावट की चीजें, मिट्टी के बर्तन, मग पर यह लंबे समय तक यानी 5 दिन तक भी जीवित रह सकता है।

कागज

यथा : डाक से प्राप्त पत्र, केरी बेग्स लिफाफे , अखबार आदि पर
इसकी उम्र कागज किस सामग्री से बना है के अनुसार अलग-अलग होती है। कोरोनावायरस के कुछ उपभेद कागज पर केवल कुछ मिनट के लिए रहते हैं। जबकि अन्य 5 दिनों तक रहते हैं।

खाद्य पदार्थ

यथा : टेकआउट, उत्पादन
कोरोनावायरस भोजन के माध्यम से फैलने के अब तक कोई प्रमाण नहीं मिले हैं। लेकिन फूड पैकेट्स और रैपर इसके वाहक हो सकते हैं।

पानी

कोरोनावायरस पीने के पानी में नहीं पाया गया है।

कपड़े

यथा : कपड़े, लिनन
वहां कितनी देर तक वायरस कपड़े पर रहता है, के बारे में ज्यादा शोध सामने नहीं आया है, लेकिन संभावना है कि यह कपड़े पर उतनी लंबी अवधि तक नहीं रह सकता, जितनी लंबी अवधि तक ठोस सतहों पर रहता है।

जूते

एक चीनी अस्पताल में गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में चिकित्सा कर्मचारियों के जूते तलवों का परीक्षण किया और पाया कि आधे कर्मचारियों के जूते वायरस के न्यूक्लिक एसिड के लिए सकारात्मक थे। अस्पताल के जनरल वार्ड के कर्मचारियों के जूते जिसमें हल्‍के लक्षणों वाले कोरोना के मरीज दाखिल थे, आईसीयू के कर्मचारियों के जूतों की तुलना में कम दूषित पाए गए।

कोरोनावायरस जूतों से फैल सकता है। चित्र: शटरस्टॉक
कोरोनावायरस जूतों से फैल सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

त्वचा और बाल

वास्तव में कितनी देर तक वायरस आपकी त्वचा या बालों पर रह सकते हैं, इस पर भी अभी तक कोई शोध नहीं हो पाया है। राइनोवायरस, जो जुकाम का कारण बनता है, घंटों जीवित रहता है। यही कारण है कि अपने हाथों को धोना या कीटाणुरहित करना महत्वपूर्ण है। इसकी वजह है इनका दूषित सतहों के संपर्क में आने की सबसे अधिक संभावना।

अब जानिए हम कैसे बच सकते हैं 

कोरोनावायरस से ग्रस्‍त होने या फैलने को कम करने के लिए, रोज घर और कार्यालय में आम सतहों और वस्तुओं को साफ और कीटाणुरहित करें। यथा

काउंटरटॉप्स, टेबल, डोरनॉब्स, बाथरूम फिक्स्चर, फोन, कीबोर्ड, चाबियां, रिमोट कंट्रोल, शौचालय आदि।

घरेलू सफाई में स्प्रे का उपयोग करें। यदि सतहें गंदी हैं, तो उन्हें पहले साबुन और पानी से साफ करें और फिर उन्हें कीटाणुरहित करें।

आप ब्लीच सॉल्यूशन भी बना सकते हैं, जो 24 घंटे तक स्टरलाइज रखेगा। पानी के एक गैलन में घरेलू ब्लीच के 3 बड़े चम्मच (एक तिहाई कप) या एक लीटर पानी प्रति 1 चम्मच मिलाएं।

अमोनिया या किसी अन्य क्‍लींजर के साथ ब्लीच कभी न मिलाएं। कम से कम 1 मिनट के लिए सतहों पर क्लीनर या ब्लीच छोड़ दें फिर पोंछें।

होम हाइजीन के लिए बेकिंग सोडा का करें इस्तेमाल । चित्र: शटरस्‍टॉक

सतहों को साफ रखें, भले ही आपके घर में हर कोई स्वस्थ हो। लोग बिना लक्षणों के भी संक्रमित हो सकते हैं और वायरस फैला सकते हैं।

दवा की दुकान या सुपरमार्केट जाने या टेकआउट भोजन या अखबार में लाने के बाद कम से कम 20 सेकंड के लिए साबुन और गर्म पानी के साथ अपने हाथों को धोएं।

सब्जियों और फलों के बारे में ध्‍यान रखें 

फल और सब्जियों को बहते पानी के नीचे धोना एक अच्छा उपाय है। किसी भी कीटाणु को दूर करने के लिए एक ब्रश या अपने हाथों से उन्हें साफ़ करें। यदि आपका इम्‍यून सिस्‍टम कमजोर है, तो आप फ्रोजन या डिब्बाबंद उत्‍पाद खरीदना चाहती हैं, तो भी ज्‍यादा चिंता न करें। अब तक किसी खाद्य पैकेजिंग में वायरस नहीं पाया गया है।

अगर आप चाहें तो ले-आउट कंटेनर्स या ग्रॉसरी आइटम्स को भी साबुन से साफ करने के बाद एयर ड्राई होने पर ही इस्तेमाल करें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Dr. S.S. Moudgil Dr. S.S. Moudgil

Dr. S.S. Moudgil is senior physician M.B;B.S. FCGP. DTD. Former president Indian Medical Association Haryana State.