इस मानसून बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले, सिरदर्द है इस बार कोविड – 19 का प्रमुख लक्षण

कोविड - 19 की चौथी लहर ने दे दी है दस्तक और यह अपने साथ नए तरह के लक्षण लेकर आई है। जिसमें करीब 69 प्रतिशत लोगों में सिरदर्द एक बड़ा लक्षण बन कर आ रहा है।
सिरदर्द है इस बार कोविड – 19 का प्रमुख लक्षण। चित्र : शटरस्टॉक
ऐप खोलें

बरसात का मौसम अपने साथ कई बीमारियां लेकर आता है। इस बार मॉनसून में कोरोनावायरस की चौथी लहर ने भी दस्तक दे दी है। भारत समेत कई देशों में इसके मामले बढ़ते नज़र आ रहे हैं। हालांकि इसके सबसे ज़्यादा मामले चीन, अमेरिका और यूरोप के कुछ राज्यों में देखे जा रहे हैं। मगर भारत में बीते 10 – 15 दिनों से कोविड – 19 पॉज़िटिव (Covid – 19 Positive) मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

क्या हैं ताजा आंकड़े

पिछले 24 घंटों में, भारत ने 16,315 कोविड ​​-19 के नए मामले दर्ज किए हैं। जिससे कोरोना संक्रमण के कुल मामले 4,28,79,477 हो गए हैं। इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, अब तक 24 लोगों की इससे मौत हो चुकी है। अब मरने वालों की संख्या बढ़कर 5,25,223 हो चुकी है।

प्राप्त रिपोर्टों के अनुसार, भारत ने पिछले एक सप्ताह में कोविड – 19 के 1 लाख से अधिक मामले दर्ज किए हैं। यह चार महीने से अधिक समय में सबसे अधिक साप्ताहिक गणना है।

सक्रिय मामलों (Active Cases in India) की संख्या भी बढ़कर 1,13,864 हो गई है। ऐसे में राहत की बात यह है कि 3,958 रोगी हर घंटे ठीक हो रहे हैं। जिससे कुल मामले 4,28,79,477 हो गए। रिकवरी रेट फिलहाल 98.53 फीसदी है।

कोविड-19 की चौथी लहर। चित्र शटरस्टॉक।

नई लहर में नए हैं लक्षण (Covid – 19 Symptoms)

कोविड – 19 में अभी तक खांसी – जुकाम, बुखार जैसे लक्षण देखने को मिल रहे थे, लेकिन अब चौथी लहर के साथ इसके लक्षण भी बदले हुए नज़र आ रहे हैं। हालांकि, इस बार ज़्यादा गंभीर लक्षण देखने को नहीं मिल रहे हैं, लेकिन फिर भी विशेषज्ञ सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं।

यूनाइटेड किंगडम ZOE Cov Symptom Study App के अनुसार 69 प्रतिशत लोगों में सिरदर्द (Headache) एक बड़ा लक्षण बन कर आ रहा है। बताया जा रहा है कि इस बार वायरस के अटैक करने के बाद लोगों को सबसे पहले सिर दर्द का सामना करना पड़ रहा है।

इसलिए कोविड – 19 को हल्के में न लें और सभी कोविड गाइडलाइंस (Covid Guidelines) का पालन करें। मास्क पहनकर रखें और घर के आसपास की जगहों की साफ-सफाई पर भी ध्यान दें। खासतौर से उन जगहों पर जिन्हें आप हर रोज छूती हैं। जैसे सीढ़ियां और लिफ्ट आदि।

यह भी पढ़ें : क्या कई भाषाएं जानने वाले बच्चों को बोलने में देरी होती है? कब बच्चे का न बोलना हो सकता है चिंताजनक 

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story