क्या वाकई तुलसी आपकी फर्टिलिटी कम कर सकती है? आइए जानें तुलसी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्य 

ज्यादातर घरों में पूजी जाने वाली तुलसी को इसके औषधीय गुणों के कारण संजीवनी कहा गया है। पर क्या आप इसके इस्तेमाल का सही तरीका जानती हैं? 
तुलसी के रस से करें अपना बीपी कंट्रोल , चित्र: शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Published on: 7 August 2022, 12:30 pm IST
ऐप खोलें

धार्मिक रूपसे पवित्र माने जाने वाले तुलसी के पत्ते त्वचा ही नहीं पूरे शरीर के लिए  पर हैं . तुलसी या ओसीमम बेसिलिकम एक अद्भुत जड़ी बूटी है। शब्द ‘तुलसी’ बेसिलिकॉन से आया है, जो एक प्राचीन ग्रीक शब्द है, जिसका अर्थ है शाही, तुलसी की 6o से अधिक किस्में हैं जिनमें मीठी तुलसी से लेकर नींबू तुलसी इसकी बहुत सारी वेराइटीज हैं। इसके पत्ते भारतीय परिवार और संस्कृति का एक अभिन्न अंग हैं और आपको तकरीबन हर दूसरे घर में तुलसी मिल ही जाएगी। तुलसी इम्यूनिटी बूस्टर के तौर पर भी जानी जाती है। पर क्या आप जानती हैं कि इसका गलत तरीके से या ज्यादा मात्रा में सेवन आपकी प्रजनन क्षमता (Tulsi effect on fertility) को भी प्रभावित कर सकता है। 

तुलसी के पत्ते में  विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, मैंगनीज और कैल्शियम आदि भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसमें बीटा-क्रिप्टोक्सैन्थिन, ज़ेक्सैन्थिन, ल्यूटिन और बीटा-कैरोटीन सहित एंटीऑक्सिडेंट की अच्छाई भी है। तुलसी के ताजे पत्तों का ही सेवन किया जाना चाहिए क्योंकि इनमें ही इसके सरे गुणों की सारी गुडनेस है। 

तुलसी के पत्तों के फायदे 

 

ढेर सारे गुणों से भरपूर तुलसी सेहत से जुड़े फायदों का पूरा खजाना है. चलिए जानें इसके in लाभों के बारे में:

1) ऑक्सीडेटिव दबाव कम करें 

तुलसी एक ऐसी पावरफुल हर्ब जो कोशिकाओं को मज़बूत  बनाती हैं और आपको कई मधुमेह और जोड़ों के दर्द के खतरे से भी बचा सकती है। इसी तरह, तुलसी फ्लेवोनोइड्स में समृद्ध है, जो आपके सुरक्षित ढांचे का समर्थन करते हैं, हानिकारक वायरस या रसायनों के प्रभावों को वापस डायल करते हैं जो आपके शरीर तक पहुंच सकते हैं। 

2) कैंसर को रोकने में है मददगार 

तुलसी में फाइटोकेमिकल्स होते हैं। ये बायोएक्टिव प्लांट इंटेंसिटी हैं जो आपको विभिन्न बीमारियों से बचाते हैं, उदाहरण के लिए, त्वचा कैंसर, आपके फेफड़ों में कैंसर, मुंह का कैंसर और यकृत कैंसर। रोजाना तुलसी के ताजे पत्ते खाएं और आप अपने स्वास्थ्य में काफी अंतर देखेंगे।  

तुलसी सिर्फ सर्दी खांसी से राहत नहीं देती बल्कि इसमें और भी गुण हैं। चित्र: शटरस्टॉक 

3) डाइजेस्टिव सिस्टम को करती है दुरुस्त  

मीठी तुलसी में यूजेनॉल होता है। इसमें ऐसे गुण होते हैं कि आपकी आंतों की प्रणाली और आंत के स्वास्थ्य को अच्छी तरह से बनाए रखा जाता है। तुलसी आपके पाचन तंत्र से जुड़े हर मामले में मदद करती है। 

4) स्किन बेनिफिट्स से है भरपूर 

तुलसी में प्राकृतिक रूप से एसेंशियल ऑयल होते हैं, जो आपकी त्वचा को अंदर से पोषण देते हैं। तुलसी आपके रोमछिद्रों को बंद करने वाले रसायनों, गंदगी और त्वचा पर रिसे हुए तेल को भी हटाकर आपके स्किन को नरिश करती है। तुलसी के पत्तों के साथ चंदन पाउडर और गुलाब जल के साथ एक गाढ़ा पेस्ट बनाएं। इसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं और लगभग 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें और ठंडे पानी से धो लें। 

5) मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद करती है 

यदि आपको मधुमेह है, तो तुलसी को अपनी डाइट में शामिल करें। यह आपके ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करता है। कई अध्ययनों के अनुसार, तुलसी के पत्ते अन्य बीमारियों जैसे हाइपरिन्सुलिनमिया,  शरीर केअत्याधिक  वजन को कम करने में भी मदद कर सकते हैं। 

इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करती है तुलसी चित्र-शटरस्टॉक.

6) डिप्रेशन में भी है कारगर 

तुलसी में एडाप्टोजेन होता है, जो तनाव वाले पदार्थों का दुश्मन है। यह घबराहट और हताशा मैनेज करने में सहायता करता है । अगर आप डिप्रेशन से जूझ रही हैं और खुशी महसूस करना चाहती हैं तो रोजाना तुलसी के पत्तों का सेवन करना न भूलें। यहां तक ​​कि अगर आप अवसाद के लिए दवा ले रही हैं तो भी आप हल्का महसूस करेंगी और लंबे समय तक  मूड बनाए रखने में सक्षम होंगे।  

7) डिटॉक्सिफाइंग है तुलसी

तुलसी आपके लीवर के लिए एक चमत्कारी जड़ी बूटी है, जो आपके शरीर के सबसे अनिवार्य अंगों में से एक है। यह आपके लीवर को डिटॉक्सीफाई करता है और आपके लीवर में जमा फैट को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। तुलसी आपके सामान्य स्वास्थ्य के साथ-साथ आपके लीवर की भी मदद करती है। 

तुलसी के पत्ते आपके शरीर में संक्रमण को कम करने में भी मदद कर सकते हैं, अगर आपको कोई वायरस है जो सामान्य सर्दी, बुखार के साथ आता है या आप त्वचा के संक्रमण से जूझ रहे हैं तो तुलसी के लगभग 5-7 पत्तों का रोजाना सुबह खाली पेट सेवन करें। 

ज़्यादा खाना हो सकता है नुकसानदेह 

तुलसी के पत्ते के फायदे जादुई हैं। रोज सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तों का सेवन करना आपको हर तरह की बीमारियों से दूर रखेगा। पर ध्यान रखें कि इसका ज़्यादा इस्तेमाल  आपकी फर्टिलिटी को कम करता है, तो दूसरी ओर स्पर्म काउंट को भी कम करता है।

 इसके सेवन से दांतों में दर्द को दूर भी किया जा सकता है। लेकिन अगर आप ज्यादा मात्रा में तुलसी को चबाकर खाते हैं, तो यह आपके दांतों को नुकसान भी पहुंचा सकती है। 

दरअसल, तुलसी के पत्तों में पारा (Mercury) और आयरन होता है। साथ ही इसमें आर्सेनिक भी मौजूद होता है। ऐसे में अगर आप इसे अधिक चबाकर खाते हैं, तो आपके दांत खराब हो सकते हैं। जिसकी वजह से दांतों में दर्द भी हो सकता है

यह भी पढ़ें:खुश रहने के लिए कुछ चीजें भूलनी भी हैं ज़रूरी, जानिए खुश रहने के 5 टिप्स

लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story