क्या बंद गोभी के कीड़े मनुष्यों को नुकसान पहुंचा सकते हैं? चलिए पता करते हैं

सब्जियों में कीड़े निकलना आम बात है, मगर बंद गोभी में निकलने वाला टेपवर्म (tapeworm) स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।
patta gobhi mein nikalne wala keeda
यह जानकारी जरूरी है कि साफ-सफाई के बढ़िया संसाधनों से टेप वर्म प्रभावित नहीं कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

अक्सर बारिश के मौसम में हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने से मना किया जाता है। आपने कई बार घर पर अपनी मम्मी को कहते सुना होगा कि बारिश में गोभी नहीं खाते! ऐसा इसलिए, क्योंकि इसमें कीड़ा आने लगता है।

हम में से बहुत कम लोग इस तथ्य से अवगत हैं कि हरी पत्तेदार सब्जियां कीड़े और परजीवियों का घर हैं। कीड़े तो किसी भी सब्जी में पैदा हो सकते हैं। मगर चिंताजनक बात यह है कि क्या बंद गोभी में पाया जाने वाला कीड़ा हमें नुकसान पहुंचा सकता है? चलिये पता करते हैं, लेकिन उससे पहले समझते हैं कि यह कीड़े आखिर होते कैसे हैं?

कैसा होता है बंद गोभी का कीड़ा?

गोभी में कुछ कीड़े दिखाई देते हैं, जिनका रंग हल्का हरा और कभी – कभी सफ़ेद होता है। मगर कुछ कीड़े ऐसे भी होते हैं जो दिखाई नहीं देते जैसे कि टेपवर्म। ये कीड़े और परजीवी इतने छोटे होते हैं कि इन्हें हमारी नग्न आंखों से नहीं देखा जा सकता है।

patta gobhi ka keeda
पत्ता गोभी का कीड़ा नग्न आखों से नज़र नहीं आता है। चित्र-शटरस्टॉक

स्वास्थ्य के लिए कैसे हानिकारक है बंद गोभी का कीड़ा?

बंद गोभी की परतों में इसका कीड़ा बहुत गहराई तक छिपा होता है। इस परजीवी के लार्वा और अंडे कठोर खोल वाले होते हैं। यह उन्हें उच्च तापमान से बचाता है। यही कारण है कि टेपवर्म और उसके लार्वा हमारे तेज तापमान पर खाना पकाने के बाद भी जीवित रहते हैं। इतना ही नहीं, यह टेपवर्म खुद को मल्टिप्लाइ भी कर सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार जितनी बार हम इसे काटेंगे यह उतनी बार खुद की तादाद बढ़ा सकता है।

टेपवर्म कच्ची या अधपकी सब्जियों, के जरिए हम तक पहुंचता है। पेट में पहुंचने के बाद ये कीड़ा सबसे पहले आंतों में प्रवेश करता है। उसके बाद यह ब्लड फ्लो के साथ नसों के जरिए दिमाग तक भी पहुंच सकता है। मस्तिष्क में पहुंचने पर यह जानलेवा साबित हो सकता है और किसी घातक बीमारी को जन्म दे सकता है।

चाइनीज फूड में इस्तेमाल होने वाला बंद गोभी और भी ज्यादा खतरनाक होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि चाइनीज़ फूड उच्च तापमान पर नहीं पकाए जाते हैं, जिससे ये खाद्य पदार्थ हमारे लिए और भी अस्वस्थ हो जाते हैं।

band gobhi ko pka kar khaen
बंद गोभी को अच्छे से पका कर खाएं. चित्र : शटरस्टॉक

तो इस कीड़े से आप कैसे बच सकती हैं?

जैसा हमारे बड़े – बुजुर्गों ने सिखाया है कि बारिश के मौसम में बंद गोभी से दूर रहें और बाहर का खाना न खाएं।

घर पर बना रही हैं तो बंद गोभी या फूल गोभी को अच्छे से पका कर खाएं। पकाने से पहले इसे कुछ देर विनेगर डालकर गर्म पानी में रखें।

भूलकर भी बंद गोभी को कच्चा न खाएं, जैसे सलाद के रूप में या सैंडविच में, इससे पेट में कीड़े पहुंचने का जोखिम बढ़ सकता है।

अन्य सब्जियों की तरह बंद गोभी भी पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है, इसलिए गोभी खाना न छोड़ें और उपरोक्त सावधानियों का पालन करें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें : बंद गोभी का ये वेट लॉस सूप है वज़न घटाने का हेल्दी ऑप्शन, हम बता रहे हैं रेसिपी

  • 122
लेखक के बारे में

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं। ...और पढ़ें

अगला लेख