पेट फूलना और स्किन रैश हो सकते हैं लिवर खराब होने के संकेत, जानिए आपको क्या करना है और क्या नहीं

लिवर हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग हैं। जो न केवल शरीर से टॉक्सिक पदार्थों को निकालने का काम करता है बल्कि बॉडी को संक्रमण से लड़ने में भी मददगार साबित होता है। जानते हैं लिवर खराब होने के संकेत और उससे बचने के उपाय भी।
Chawal ka aata liver ko banaye healthy
चावल के आटे में मौजूद कोलीन की मात्रा लिवर को हेल्दी बनाए रखने में मदद करती है। चित्र- अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 23 Oct 2023, 09:17 am IST
  • 144

शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक लिवर खाने को पचाने और गैर ज़रूरी पदार्थों को डिटॉफक्सिफाई (Detoxify) करने का काम करता है। लिवर के बीमार होते ही हमारा शरीर हमें कई प्रकार के संकेत देने लगता है। ब्लोटिंग (Bloating), पेट में सूजन (inflammation) का आना, त्वचा पर खुजली (itching) और थकान व कमज़ोरी इसके शुरूआती लक्षण है। गलत लाइफस्टाइल और अनियमित खान पान हमारे लिवर को नुकसान पहुंचाने का काम करते हैं। मेडिकल न्यूज़ टुडे के मुताबिक लिवर शरीर में डिटॉक्सिफिकेशन (Detoxification), प्रोटीन सिनथीसाज और पाचन के लिए कैमिकल्स के प्रोडक्शन का काम करता है। जानते हैं कि अपने लिवर को स्वस्थ रखने के लिए क्या करें और क्या न करें ( Do’s and Don’ts for healthy liver)

मेडिकल न्यूज टुडे के मुताबिक सबसे कॉमन लिवर कैंसर पेटोसेलुलर कार्सिनोमा और कोलेंजियोकार्सिनोमा हैं। इनका मुख्य कारण अत्यधिक शराब पीना और हेपेटाइटिस हैं। यह विश्व स्तर पर कैंसर का छठा सबसे आम रूप है और दुनिया भर में कैंसर से होने वाली मौत का तीसरा सबसे बड़ा कारण है।

नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ डायबिटीज़ एंड डायजेस्टिव एंड किडनी डिसीज़ीज़ के मुताबिक लिवर कई तरह के मेटाबॉलिक फंकशंस को निभाने का काम करता है। लिवर में होने वाली समस्या के लिए जेनेटिक म्यूटेशंस के अलावा, हेपेटाइटिस बी और सी भी मुख्य कारण साबित होते हैं। लिवर से जुड़े रोगों को ऑटोइम्यून प्रतिक्रियाओं या दवा टॉक्सिविटी से दूर किया जा सकता है। द लिवर फाउनडेशन इंडिया के मुताबिक अब तक 600 मिलियन लोग लिवर कैंसर और उससे जुड़ी समस्या की चपेट में आ चुके हैं। ये लोग फैटी लिवर, वायरल हेपेटाइटिस और लिवर मेलिगनेनसी के शिकार हुए हैं।

लिवर को स्वस्थ रखने के लिए रखें इन बातों का खास ख्याल

1. पानी पीएं

लिवर को हेल्दी रखने के लिए नियमित मात्रा में पानी पीना बेहद ज़रूरी है। पानी आपको निर्जलीकरण की समस्या से बचाता है। इसके अलावा आपके शरीर को मिनरल्स की प्राप्ति होती है। अगर आप एक हेल्दी लिवर चाहते हैं तो हाइड्रेटेड रहना बहुत ज़रूरी है। पानी एक प्राकृतिक डीटॉक्सिकेटिंग एजेंट के रूप में कार्य करता है। इससे लिवर शरीर में मौजूद टाक्सिंस को हटाने का काम करता है।

pani apke samagra swasthye ke liye bahut zaruri hai
पानी हमारे सभी शारीरिक अंगों को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है। चित्र : शटर स्टॉक

2. फलों और सब्जियों का सेवन करें

हरी पत्तेदार सब्जियां आपके शरीर को हेल्दी बनाने का काम करती है। ये सब्जियां शरीर में एक नेचुरल क्लींज़र का काम करती हैं। इसके अलावा अखरोट, एवोकाडो और जैतून के तेल में पाए जाने वाले गुड फैटस को लेने के लिए इन चीजों को अपनी मील में शामिल करें। अपनी डाइट में विटामिन सी रिच फलों को ज्यादा मात्रा में लें।

3. व्यायाम करें

लिवर को हेल्दी बनाने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करें। निरंतर व्यायाम करने से ट्राइग्लिसराइड्स को बर्न करने में मदद मिलती है। इससे लिवर का फैट कम होने लगता है।

4. वज़न घटाएं

अमेरिकन लिवर फाउंनडेशन के मुताबिक अगर आप मोटापे का शिकार हैं, तो फैटी लिवर होने का खतरा बना रहता है। इसके लिए आप एनएएफएलडी का शिकार हो सकते है। वजन घटाने से फैटी लिवर का खतरा कम होने लगता है। वज़न कम करने के लिए आप ग्रीन टी पी सकते हैं। जो लिपिड मेटाबॉलिज्म को रेगुलेट करने का काम करती है।

slim rehne ke liye in galatiyon se bachein
दृढ संकल्प से ही हम फैट लॉस के गोल को अचीव कर पाते हैं। चित्र : शटर स्टॉक

लिवर को हेल्दी रखने के लिए इन चीजों से बचें

टॉक्स्कि पदार्थों से बनाएं दूरी

लिवर को हेल्दी रखने के लिए विषाक्त पदार्थों से बच कर रहें। इससे लिवर सेल्स के डैमेज होने का खतरा रहता है। साफ सफाई के लिए इस्तेमाल होने वाले प्रोडक्टस के सीधे संपर्क में न आएं। जब आप इनका प्रयोग करें तो कमरे का दरवाज़ा और खिड़किया खुली रखें। इसके अलावा मास्क पहन कर रखें। साथ ही धूम्रपान से बचें और अल्कोहल के सेवन से बचकर रहें। खुद को हेल्दी रखने के लिए शराब का प्रयोग सीमित करें और फिर छोड़ दें।

तली और फैटी चीजों को न खाएं

लिवर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए रेड मीट खाने से बचें। इससे लिवर फैटी होने लगता है। इसके अलावा फ्राइड फूड से परहेज़ करें, जो बैड फैट्स को बॉडी में बढ़ने से रोकता है।

हेपेटाइटिस की करें रोकथाम

खुद को हेपेटाइटिस डिसीस से बचाकर रखें और वेक्सीनेशन ज़रूर लगवाएं। हेपेटाइटिस एक ऐसी समस्या है, जिसमें लिवर में स्वैलिंग आने लगती है। ये किसी भी प्रकार के वायरल संक्रमण या टॉक्सिक पदार्थों के कारण हो सकती है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़ें- आयरन की कमी भी हो सकती है हेयर फॉल के लिए जिम्मेदार, जानिए इससे कैसे पानी है निजात

  • 144
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख