फॉलो

क्‍या वातानुकूलित क्षेत्र में जाने पर आपको covid-19 हो सकता है? जानिए क्या है सच्चाई

Published on:8 June 2020, 14:33pm IST
शुक्र है कि अनलॉक 1.0 में ऑफि‍स, मॉल और रेस्तरां खुलने लगे हैं, ऐसे में हर किसी के होठों पर बस एक ही सवाल है कि क्या एयर कंडीशनिंग कोविद -19 के फैलने का कारण हो सकती है। आइए जानते हैं कि विशेषज्ञ इस बारे में क्या कह रहे हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 78 Likes

2020 की शुरुआत में जब हम शायद भारत में ठंडी सी फरवरी का आनंद ले रहे थे, तब कोविड -19 चीन में जंगल की आग की तरह फैल रहा था। यह इतना तेज था कि वुहान शहर से अन्‍य क्षेत्रों में यह जैसे प्रकाश की गति से पहुंच रहा था।

शुरुआत में नोवल कोरोना वायरस का प्रसार इतना दुखद था कि उसने एक साथ खाना खा रहे तीन परिवारों को एक साथ इस खतरनाक वायरस से संक्रमित कर दिया। यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना गुआंगज़ौ, चीन में एक रेस्तरां की है।

कुछ दिनों के बाद, गुआंगजौ सेंटर फोर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन में हुए एक शोध में शोधकर्ताओं ने दावा किया कि रेस्तरां की एयर कंडीशनिंग के कारण इन परिवारों में यह खतरनाक वायरस फैला। `

और फि‍र एयर कंडीशनर के उपयोग पर एक दहशत फैलने लगी

किसी और की बात पर भरोसा करने से बेहतर है कि हम डॉ. राहुल भार्गव से इस बारे में बात करें। डॉ. राहुल भार्गव फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट, गुरुग्राम में  निदेशक और हेड हैं  ऑन्कोलॉजी एंड बोन मेरो ट्रांसप्‍लांट के। वे हमें बता रहे हैं कि इस दावे में कितनी सच्‍चाई है।

वे कहते हैं:

एयर कंडीशनिंग कोविड-19 नहीं फैलाता। तो, आप घर पर बिना किसी डर के एसी यूनिट्स का उपयोग कर सकते हैं।

तब फि‍र एयर कंडीशनर पर यह आरोप क्‍यों लगे ?

इसके लिए हमने घटना पर हुए पूरे शोध को पढ़ा। ताकि इस जटिल स्थिति को ठीक से समझ सकते। शुक्र है कि हम उस तथ्‍य तक पहुंच गए। असल में, रेस्तरां पांच मंजिला इमारत में स्थि‍त था – जिसमें कोई खिड़की नहीं थी।

इसे और विस्‍तार से समझाते हुए डॉ. भार्गव कहते हैं,  “ऐसे क्षेत्रों में जहां सेंट्रल एयर कंडीशनिंग का उपयोग किया जाता है, वहां अंदर की हवा सर्कुलेट होती रहती है और तापमान गिर जाता है। ठंडी हवा का यह बार-बार सर्कुलेशन स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से ठीक नहीं है। ऐसे में बाहरी हवा को अंदर आने दिया जाना चाहिए, जिससे अंदर की हवा की एयर क्‍वालिटी में सुधार होता रहे।”

इसके अतिरिक्त,न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन के  अनुसार , जब कोरोनावायरस 5 माइक्रोमीटर से भी छोटे ड्रॉपलेट्स में शामिल हो जाता है, जिसे एयरोसोल कहा जाता है, तो यह आधे घंटे तक हवा में बना रह सकता है।

Coronavirus update
अगर किसी में कोविड-19 के लक्षण दिख रहे हैं, तो एसी चलाने से बचें। चित्र : शटरस्टॉक

ऐसे में, अगर कोई संक्रमित व्‍यक्ति उस एरिया में होता है और हवा उससे संक्रमित होती है, तो कोविड-19 के प्रसार की संभावना बढ़ जाती है।

तो, एक एयर कंडीशंड एरिया में सुरक्षित रहने के लिए आपको क्या करना चाहिए?  

डॉ. भार्गव इसके लिए सुझाव देते हैं कि आपको उस एरिया की खिड़कियां थोड़ी-थोड़ी के लिए खोलनी चाहिए, भले ही एसी चालू हो।

वे कहते हैं, “ आदर्श रूप से, एयर कंडीशनिंग में प्रति घंटे में 25 परिसंचरण होते रहना चाहिए।  इसमें 60% से 70% की आर्द्रता, और हवा का तापमान 26 से 27 डिग्री होना चाहिए। इसके लिए ताजा हवा के अंदर आने के लिए खिड़कियों को थोड़ा खोल सकते हैं।”

लेकिन उन ऑफि‍स में क्‍या किया जाए जहां खिड़कियां नहीं हैं और वे सेंट्रल एसी का प्रयोग करते हैं ?

अनलॉक 1.0 के दौरान ऑफि‍स, मॉल और रेस्तरां धीरे-धीरे और लगातार खुल रहे हैं। इनमें यह संभावना बढ़ जाती है कि बहुत से लोग सेंट्रली एयर कंडीशंड एरिया में शामिल होंगे। तब आपको क्‍या करना चाहिए।

शुरुआत के लिए बेहतर है कि आप मॉल और रेस्तरां में जाने से बचें। अगर यहां जाना भी पढ़ रहा है तो सोशल डिस्‍टेंसिंग बनाए रखें। अपनी नाक और मुंह को छूने से बचें, और नियमित रूप से हाथ धोते रहें। जहां तक ऑफि‍स जाने की बात है तो आप इससे बच नहीं सकते। ऐसे में आपको ज्‍यादा सावधान रहना चाहिए।

यदि खिड़कियां हैं जिन्हें खोला जा सकता है, तो सुनिश्चित करें कि वेंटिलेशन होती रहे। हर समय अपना चेहरा मास्‍क से ढके रहें। सामाजिक दूरी बनाए रखें। यह सबसे अच्छा तरीका है जो आपको इस संक्रमण से बचा सकता है।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री