फिटनेस फ्रीक्स के हार्ट अटैक की खबरों के बाद आपने भी जिम जाना बंद कर दिया है तो सुष्मिता का ये मैसेज आपके लिए है

इन दिनों एक नई बहस छिड़ गई है, कि जिम जाने वाले भी हार्ट अटैक से नहीं बच पा रहे, तो इतना वर्कआउट करने की क्या जरूरत है! पर वास्तव में ऐसा नहीं है। जानिए वर्कआउट और हार्ट हेल्थ के बारे में क्या कह रहीं हैं सेलिब्रिटी।
heart health ke liye jaruri hai protein
अगर आप हार्ट हेल्थ को बनाए रखना चाहती हैं, तो डाइट में शामिल करें हेल्दी प्रोटीन। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 23 Oct 2023, 09:10 am IST
  • 146

जिम करते समय सेलिब्रिटी का मौत, कई फिट लोगों का हार्ट अटैक से मौत इन सभी खबरों ने कई लोगों को डरा दिया है। इससे वो लोग सबसे ज्यादा घबरा गए हैं, जो लोग जिम जाते है और फिटनेस फ्रीक हैं। हाल ही में मिस युनिवर्स सुष्मिता सेन ने भी हार्ट अटैक और उसके बाद एंजियोप्लास्टी की सूचना दी। इसके बाद फिर से ये चर्चा तेज हो गई कि सुष्मिता जैसे फिटनेस फ्रीक कैसे हार्ट अटैक के शिकार हो सकते हैं! पर अगर आपको भी यह लग रहा है कि जिम में की जाने वाली एक्सरसाइज हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार हैं, तो सुष्मिता सेन का यह संदेश आपके लिए है। असल में हार्ट अटैक के लिए एक नहीं, कई फैक्टर जिम्मेदार होते हैं। आइए जानते हैं हार्ट हेल्ट और वर्कआउट के बारे में सब कुछ।

अगर आप हार्ट हेल्थ को बनाए रखना चाहती हैं, तो वर्कआउट छोड़ने की गलती बिल्कुल न करें। आपको सुष्मिता के दिए और मैसेज पर भी ध्यान देना चाहिए। सुष्मिता सेन ने एक इंस्टाग्राम लाइव किया था, जिसमें उन्होंने विस्तार से अपने हार्ट अटैक के बारे में बात की थी और कहा था कि कई लोगों ने इस बात को सोचकर जिम जाना छोड़ दिया है कि इतने फिट लोगों को भी हार्ट अटैक आ रहा है।

ये भी पढ़े- आपको उम्र से पहले बूढ़ा बना सकती हैं कूल लगने वाली कार्बोनेटेड ड्रिंक्स, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

उन्होंने आगे कहा कि ये गलत है वो जिम जाती थीं, फिट रहती हैं, तभी वो हार्ट अटैक के बाद भी बच पाईं। आपके स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए शारीरिक गतिविधि का ठीक होना बहुत जरूरी है। एक हेल्दी लाइपस्टाइल को फॉलो करके भी कई तरह की बीमारियों और स्वास्थ्य जोखिमों से बचा जा सकता है।

समझिए हार्ट अटैक के लिए जिम्मेदार कारणों के बारे में

1 जीन और हेरिडिटरी

इस बारे में और विस्तार से बात करते हुए डायटीशियन और न्यूट्रीशनिस्ट गरिमा अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में बताती हैं कि हार्ट अटैक का कारण जीन और हेरिडिटरी भी हो सकता है। गरिमा कहती हैं कि अगर आपके परिवार में किसी को हार्ट से जुड़ी हुई समस्या है तो आपको अपनी जांच करवाते रहनी चाहिए। हार्ट अटैक से बचने के लिए आपको ब्लड टेस्ट और हार्ट एस्समेंट कराते रहना चाहिए।

यह बात सच है है कि अगर परिवार में दिल के रोगों की समस्या रही है, तो हमें भी यह समस्या होगी। लेकिन अब दवाईयों, बीमारी का जल्दी पता लगाने और जीवनशैली में बदलाव करने जैसे उपायों को अपनाकर हम इन बीमारियों के बढ़ने की गति को कम कर सकते हैं।

ये भी पढ़े- ये 7 दिन का मील प्लान आपकी जंक फूड की क्रेविंग को कंट्रोल कर, वेट लॉस में हो सकता है मददगार

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

2 खराब लाइफ स्टाइल

खराब लाइफस्टाइल आपके हार्ट अटैक को ट्रिगर करता है। अगर आपके परिवार में कोई हार्ट की समस्या का इतिहास रहा है तो आपको अपनी लाइफस्टाइल में सुधार करने की जरूरत है। फिजिकल एक्टिविटी का कम होना भी इन चाजों को बढ़ा सकता है। आपकी खराब डाइट भी हार्ट ब्लोकेज की समस्या को बढ़ा सकती है इसलिए बैंलस डाइट को फॉलो करना बहुत जरूरी है।

3 हेल्दी वेट मेंटेन करें

यदि आपका वजन ज्यादा है या बढ़ रहा है तो आपको सावधान होने की जरूरत है क्योंकि बढ़ा हुआ वजन ही सबसे ज्यादा हार्ट की समस्या का कारम बनता है। बढ़ा हुआ वजन कई प्रकार के स्वास्थ्य खतरों की भी घंटी होती है। आपको अपने खानपान और शारीरिक गतिविधि पर ध्यान देना चाहिए।

ज्यादा वजन शरीर में ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है और इसे अनियंत्रित कर देता है। इससे हार्ट काफी प्रभावित होता है जिसकी वजह से हार्ट खराब हो सकता है। जिसकी वजह से मोटापा हार्ट स्ट्रोक और हार्ट फेलियर का कारण बनता है।

dil ka daura padne ke sanket
खराब कोलेस्ट्रॉल या एलडीएल आपकी धमनियों पर नकरात्मक प्रभाव डालता है चित्र : शटरस्टॉक

4 खराब कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर

खराब कोलेस्ट्रॉल या एलडीएल आपकी धमनियों पर नकरात्मक प्रभाव डालता है इससे आपकी नसें सिकुड़ जाती हैं। ट्राइग्लिसराइड जिसे ब्लड फैट के रूप में जाना जाता है वह भी दिल का दौरा पड़ने की वजह बन सकता है। ये दोनों चीजें इस बात पर निर्भर करती है कि आप क्या डाइट ले रहे है। अगर आप अपने हार्ट अटैक के जोखिम को कम करना चाहती है तो ये बेहद जरूरी है कि आप अपने खान पान का ध्यान रखें। आपने गुड कोलेस्ट्रॉल का सेवन करना है न की बैड।

5 तनाव

ऐसे कई कारण हैं जो आज के समय में युवा आबादी में हार्ट अटैक या दिल के दौरे की वजह बन सकते हैं। इनमें सबसे मुख्य है तनाव, जो हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल, अनिद्रा, खराब खान-पान और स्वस्थ जीवन शैली का पालन न करने जैसे मुद्दों को ट्रिगर करता है।

ये भी पढ़े- बालों का झड़ना रोककर, उन्हें फिर से लंबा और घना बना सकते हैं ये 5 आयुर्वेदिक नुस्खे

  • 146
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख