क्या वाकई एंटीबायोटिक लेने से कम किया जा सकता है एसटीआई का जोखिम? जानिए क्या कहती है स्टडी

क्या अनप्रोटेक्टेड सेक्स के बाद कम किया जा सकता है एसटीआई का जोखिम? जानिए इस बात में है कितनी सच्चाई और इससे जुड़े नए अध्ययन में क्या सामने आया।

sex par kaabu na paane ko hypersexuality kehte hain
लगातार सेक्स के बारे में सोचते हैं और सेक्स डिज़ायर्स पर काबू पाने में असमर्थ महसूस करते हैं, तो इस कंडीशन को हाइपरसेक्सुअलिटी कहा जाता है। चित्र शटर स्टॉक
  • 145

सेफ सेक्स (Safe Sex) के प्रति जागरूक होना कितना ज़रूरी है यह हम सभी जानते हैं। हर हेल्थ एक्सपर्ट कंडोम का इस्तेमाल करने की सलाह सिर्फ इसलिए नहीं देता है कि यह आपको प्रेगनेंसी से बचाती है, बल्कि इसलिए भी सुझाव दिया जाता है, क्योंकि कंडोम (Condom) एसटीआई के जोखिम को भी कम करती है। इसलिए इसे सेक्स के दौरान इस्तेमाल किया जाने वाला सबसे सेफेस्ट ऑप्शन माना जाता है। क्योंकि अनप्रोटेक्टेड सेक्स (Unprotected Sex) की वजह से सबसे बड़ा जो जोखिम पैदा होता है, वो है एसटीआई का यानी यौन संचारित रोग, जो जानलेवा साबित हो सकते हैं।

मगर यदि हम आपसे कहें कि अनप्रोटेक्टेड सेक्स के बावजूद एसटीआई का जोखिम कम किया जा सकता है, तो आप भी चौंक जाएंगे। जी हां… हाल ही में हुये नए शोध के अनुसार कुछ ऐसा ही सामने आया है। चलिये पता करते हैं इस शोध में क्या सामने आया।

अनप्रोटेक्टेड सेक्स और एसटीआई का जोखिम

मॉन्ट्रियल, कनाडा में 24 वें अंतर्राष्ट्रीय एड्स सम्मेलन में प्रस्तुत एक नैदानिक ​​शोध में दावा किया गया है कि असुरक्षित यौन संबंध के बाद लिया जाने वाला डॉक्सीसाइक्लिन नामक एंटीबायोटिक तीन जीवाणु यौन संचारित रोगों (STD) के जोखिम को काफी कम कर सकता है। उच्च जोखिम वाले समूहों में सिफलिस, गोनोरिया और क्लैमाइडिया।

डॉक्सीसाइक्लिन ने पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों में गोनोरिया (Gonorrhea) और क्लैमाइडिया (Chlamydia) जैसे एसटीडी से संक्रमित होने की संभावना को 60 प्रतिशत तक कम कर दिया। एंटीबायोटिक सिफलिस (Syphilis) के खिलाफ भी सफल दिखाई दिया, लेकिन परिणाम देने के लिए पर्याप्त मामले मौजूद नहीं थे।

कैसे किया गया अध्ययन

अध्ययन 500 लोगों पर किया गया था, जिनमें ज्यादातर समलैंगिक पुरुष और साथ ही ट्रांसजेंडर महिलाएं और विविध लिंग समूहों के अन्य लोग थे। इसमें उन्ही प्रतिभागियों को लिया गया जिन्हें पिछले वर्ष गोनोरिया या क्लैमाइडिया था। इस बीच, समूह के कुछ लोग एचआईवी प्री-एक्सपोज़र प्रोफिलैक्सिस की गोलियों पर थे और कुछ एचआईवी कैरी कर रहे थे।

antibiotic aur seti
असुरक्षित यौन संबंध के बाद एंटीबायोटिक एसटीडी के जोखिम को कम कर सकता है. चित्र : शटरस्टॉक

दो-तिहाई को डॉक्सीसाइक्लिन एंटीबायोटिक (Doxycycline Antibiotic) की 200 मिलीग्राम की गोलियां मिलीं, जबकि बाकी को नहीं मिली। प्रतिभागियों को जितनी जरूरत थी उतनी गोलियां लेने के लिए प्रोत्साहित किया गया। यह इस बात पर निर्भर करता है कि वे कितनी सेक्सुअल एक्टिविटी कर रहे थे।

अंत में, यह पता चला कि एंटीबायोटिक लेने से एचआईवी (HIV) के साथ रहने वाले समूह में एसटीडी के जोखिम में 62 प्रतिशत और एचआईवी समूह में 66 प्रतिशत की कमी आई।

नोट : अध्ययन में शामिल कई शोधकर्ताओं का यह कहना है कि लंबे समय के लिए अनप्रोटेक्टेड सेक्स के बाद एंटीबायोटिक का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। ऐसा करना सुरक्षित नहीं है।

तो आप एसटीआई या एसटीडी से जोखिम से बचने के लिए क्या कर सकते हैं

सीडीसी (CDC) के अनुसार एसटीआई संक्रमण से बचने के लिए इन टिप्स को अपनाएं

परहेज़ करें – संक्रमण को रोकने के लिए सेक्स नहीं करना (योनि, मौखिक या गुदा मैथुन सहित) सबसे आसान तरीका है।

टीका लगवाएं – अपने चिकित्सक से पूछें कि क्या आपको एचपीवी या हेपेटाइटिस बी का टीका लगवाना चाहिए।

सीमित यौन साथी होना – एक नए साथी के साथ यौन संबंध बनाने से पहले, एक साथ टेस्ट करें और अपने परिणाम साझा करें।

मोनोगैमी का अभ्यास करें – इसका मतलब है कि आप और आपका साथी केवल एक-दूसरे के साथ यौन रूप से सक्रिय होने के लिए सहमत हैं।

कन्डोम और डेंटल डैम का प्रयोग करें – लेटेक्स कंडोम का लगातार और सही उपयोग एसटीडी संचरण को कम करने में अत्यधिक प्रभावी है।

यह भी पढ़ें : पिलाटीज़ करते समय आपको चोट भी लग सकती है, जानिए इस दौरान आपको क्या करना है और क्या नहीं

  • 145
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें