बादाम डाइट: दिल कि है अगर चिंता स्नेक्स को करके अलविदा, जाने इसके फायदे 

आप अपने मौजूदा स्नैक्स को जैसे बिस्किट्स, चिप्स, नमकीन को बादाम से बदल लेते हैं। उनके बजाय बादाम खाते हैं तो आपकी अंदरूनी कोशिकाओं के फंक्शन में यह बहुत कारगर साबित होता है। यह यह बुरे कोलेस्‍ट्रॉल को कम कर आपके हृदय स्वास्थ्य का ख्‍याल रखता है।
हर दिन अपने आहार में मुट्ठी भर बादाम शामिल करके अपनी हड्डियों का ख्याल रखें। चित्र सौजन्य: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Updated: 11 Jun 2020, 05:36 pm IST
  • 92

क्या आपको स्‍नैक्‍स खाना पसंद है? लेकिन आप अपने हृदय और वजन से संबंधित समस्याओं से घबराते हैं। तो आप स्‍नैक्‍स के रूप में बादाम को चुन सकते हैं, क्योंकि वैज्ञानिक तौर पर साबित हुआ है यह एक ऐसा नट है जो आपको किसी बीमारी में नहीं पड़ने देगा। 

स्नेक्स खाना किसे पसंद नहीं है? लेकिन समस्या यह है कि जब हम चटर-पटर कुछ भी खाते हैं तो वह हमारी सेहत पर असर डालता है। यह हमारा वजन बढ़ा देता है और इनका साथ हमारे लिए बहुत सी अन्य बीमारियां लेकर आता है चाहे फिर वह दिल की बीमारी हो, वजन बढ़ने की परेशानी हो या कुछ और।

शुक्रिया उन वैज्ञानिकों का, जिन्होंने इस बात का पता लगाया और शोध किया। यदि हम बादाम खाते हैं, तो यह हमारे दिल को ना सिर्फ बहुत तेजी से स्वस्थ करता है, बल्कि उस से जुड़ी कई बीमारियों को भी खत्म कर देता है। 

यूरोपियन जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन पब्लिक नामक एक शोध कहता है कि यदि आप अपने मौजूदा स्नैक्स को जैसे बिस्किट्स चिप्स नमकीन को बादाम से बदल लेते हैं। उनके बजाया बादाम खाते हैं तो आपकी अंदरूनी कोशिकाओं के फंक्शन में यह बहुत कारगर साबित होता है। यह आपके हृदय के स्वास्थ्य को भी बढ़ाता है यह बुरे कैस्ट्रॉल को कम करता है। 

बादाम सबसे आसानी से उपलब्ध हो सकता है और आपकी ज़रूरत में बदल सकता है। चित्र सौजन्य: शटरस्टॉक

वजन घटाने में भी कमाल का है बादाम

इस पर हुए कई शोध इस बात की पुष्टि करते हैं कि बदाम ना खाने वालों कि कमर से बादाम खाने वालों की कमर का साइज कम होता है, यह बादाम न खाने वालों से लगभग 2.1cm तक कम होता है आपके बॉडी मास इंडेक्स यानी BMI से जो से।

वेंडी हॉल फ्रॉम किंग्स कॉलेज लंदन,यूके के एक रिसर्च में कार्डियोमेटाबॉलिक हेल्थ मेकर्स ने दो ग्रुप के बीच कंपैरिजन किया। 

बादाम आपकी नींद का ख्याल रखकर अनिद्रा को ठीक कर सकता है! चित्र सौजन्य: शटरस्टॉक

शोधकर्ताओं ने यह पाया कि कि स्नैक्स कीी जगह बादाम लेने के बाद एंडोथेलियल फंक्शन और एलडीएल-कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार हुआ है, क्योंकि इसमें कुल कैलोरी सेवन में 20% के जोखिम को कम करने की क्षमता है। जिसके कारण ह्रदय रोग होने का खतरा कम रहता है।

इस शोध में पाया गया कि बादाम खाने मैं वालों में टिपिकल स्नैक्स खाने वालों के मुकाबले हृदय स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं कम देखी गई उनका एलडीएल (LDL) लेवल भी कम था, कोलेस्ट्रॉल कम था और उनकी हृदय धमनियों में इंप्रूवमेंट देखा गया। 

वह कहते हैं, “इस शोध के अनुसार हम कह सकते हैं कि बादाम खाने वालों में कार्डियोवैस्कुलर डिजीज सीवीडी टिपिकल स्नैक्स खाने वालों के मुकाबले 30% तक कम देखा गया है। उनमें दिल की बीमारी होने का खतरा रिलेटिवली कम होता है।” 

बादाम के मुकाबले स्नैकिंग और जंक फूड पर अंकुश क्यों ?

अगर आप सोच रहे हैं कि फ्राइज और बर्गर खाने का मुकाबला बादाम कैसे कर सकता है? तो हम आपसे कहते हैं कि निश्चित ही यह कोई बुरा सौदा नहीं होगा क्योंकि रिसर्च ऐसा कहती हैं कि जो लोग बादाम का सेवन करते हैं उनमें अन-हेल्थी स्नैक्स को खाने की क्रेविंग कम देखी गई है। 

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

शोधकर्ताओं ने 4 दिन के लिए एक फूड डायरी मेंटेन की, जिसमें 6,802 व्यस्कों के भोजन का को एग्जामिन किया।  इसकी रिपोर्ट के अनुसार जो लोग बादाम खाते हैं और अच्छा पौष्टिक भोजन खाते हैं उनमें प्रोटीन, टोटल फैट, विटामिन सी, फाइबर, पोटैशियम और दूसरे सप्लीमेंट्स अधिक मात्रा में देखने को मिलते हैं

हॉल कहते हैं, “बादाम खाना महत्वपूर्ण है, और यह आपको एक हेल्दी डाइट देता है वह कहते हैं हमने यूके के लोगो पर रिसर्च की और हमारे पास एक बड़ा डेटाबेस तैयार हुआ। जिसमें पाया गया कि व्यस्क इसे बहुत कम खाते हैं। लेकिन जो भी लोग इसे खाते हैं उनकी डाइट हेल्दी होती है, उनका बॉडी फैट कम होता है।”  

यदि आप हेल्दी रहना चाहते हैं, आप अपना वजन कंट्रोल में रखना चाहते हैं और दिल की किसी बीमारी से जूझना नहीं चाहते ? तो आपको बाकी सभी स्नेक्स को छोड़कर सिर्फ बादाम अपने भोजन में शामिल करना चाहिए यह आपके लिए बहुत अच्छा है बहुत पौष्टिक है। 

  • 92
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख