ओमिक्रोन के बाद डेल्मीक्रोन ने दी दस्तक, समझिए क्या है कोविड-19 का ये नया वैरिएंट

Published on: 24 December 2021, 22:00 pm IST

कोविड-19 वायरस का परिवार बढ़ता ही जा रहा है। क्रिसमस और नए साल की पार्टियों की योजनाओं के बीच एक नए वैरिएंट डेल्मीक्रोन (Delmicron) ने दस्तक दे दी है।

Delmicron kya hai
ओमीक्रोन और डेल्टा से बना नया वेरिएंट डेल्मीक्रोन। चित्र : शटरस्टॉक

दुनिया के वैज्ञानिक अभी पूरी तरह ओमिक्रोन के बारे में जानकारी नहीं जुटा पाए थे। वहीं एक और नए वेरिएंट ने दस्तक दे दी है। इस नए वेरिएंट को डेल्मीक्रोन (Delmicron) के नाम से जाना जा रहा है। डेल्मीक्रोन का नाम सामने आने के बाद से चर्चाएं तेज हो रही हैं कि क्या भारत में भी कोविड-19 का यह नया स्वरूप दस्तक दे सकता है? क्योंकि ओमीक्रोन वैरिएंट पहले से ही भारत में काफी तेजी से अपने पैर पसार रहा है।

क्या है डेल्मीक्रोन, कोविड-19 का नया वैरिएंट? 

अमेरिका में जिन मामलों के पीछे ओमीक्रोन को समझा जा रहा था, अब उनके लिए डेल्मीक्रोन को जिम्मेदार बताया जा रहा है। डेल्मीक्रॉन वैरिएंट डेल्टा (Delta) और ओमिक्रॉन (Omicron) वैरिएंट का संयोजन यानी इनसे मिलकर बना है। जो और भी ज्यादा तेजी से अपने पैर पसार रहा है। 

coronavirus third waveकोरोनावायरस की तीसरी लहर बच्चों को प्रभावित कर सकती है। चित्र: शटरस्टॉक

यह वेरिएंट ओमिक्रॉन SARS-CoV-2 के ही परिवार का हिस्सा है। यह वैरिएंट B.1.1.1.529 है, जिसका म्यूटेशन हो चुका है। ठीक उसी प्रकार जैसे डेल्टा वेरिएंट डेल्टा प्लस हो गया था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इसका सबसे पहला मामला दक्षिण अफ्रीका में ही रिपोर्ट किया गया था।

कैसे हैं इस वेरिएंट के लक्षण? क्या वैक्सीन आएगी काम?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा हाल ही में कहा गया कि ओमिक्रोन वेरिएंट काफी तेजी से फैल रहा है। यह अब तक दुनिया के 106 देशों में पहुंच चुका है। जो शुरुआती डाटा प्राप्त किया गया है उसके अनुसार इस पर भी वैक्सीन प्रभावी रहेगी।

जबकि एक्सपर्ट्स का कहना है कि डेल्मीक्रॉन वैरिएंट के कम डाटा होने के कारण कुछ भी कहना अभी संभव नहीं है। बस इतना बताया जा रह है कि इसके लक्षण डेल्टा वैरिएंट से कम हैं। ज्यादा जानकारी जुटाने के लिए एक्सपर्ट फिलहाल डाटा का इंतजार कर रहे हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन को छोड़कर, अमेरिका स्थित सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने नए संक्रमण के उत्पर्वित होने को लेकर अभी तक कोई भी आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है। भारत में कोविड-19 और आईसीएमआर के लिए बनाई गई नेशनल टास्क फोर्स ने भी डेल्मीक्रोन शब्द का प्रयोग अभी तक नहीं किया है।

कौन देता है किसी भी वायरस को नाम ? 

किसी भी वायरस को संयुक्त राष्ट्र के वैश्विक स्वास्थ्य निकाय द्वारा पहचाना जाता है और फिर उसके बाद उसका नामकरण किया जाता है। वेरिएंट के नाम रखने के लिए व्यापक परामर्श और कई संभावित नामकरण प्रणालियों की समीक्षा की जाती है। जिसके बाद इसके लक्षणों को देखते हुए वैरिएंट ऑफ इनट्रेस्ट (Variant of interest) या फिर वेरिएंट ऑफ कंसर्न (Variant of concern)  की लिस्ट में शामिल किया जाता है।

delmicron varient ke kya hain lakshan कोविड नए वेरिएंट बन रहे हैं चिंता का विषय. चित्र : शटरस्टॉक

हालांकि अभी तक इस वैरिएंट की भारत में उपस्थिति का कोई मामला सामने नहीं आया है। मगर विशेषज्ञ इसे लेकर पहले ही आशंका जता चुके हैं। डेल्टा का प्रसार भारत में बहुत अधिक हुआ था, जो कोरोनवायरस की दूसरी लहर का कारण बना। 

इसलिए जरूरी है कि विदेश यात्राओं, भीड़, पार्टियों से परहेज किया जाए।

यह भी पढ़े : ऑर्गन ट्रांसप्लांट के बाद ज्यादा हो सकता है कोविड-19 का खतरा, जानिए कैसे करनी है देखभाल

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें