Vestibular Hypofunction : जानिए क्या है यह बीमारी, जिससे जूझ रहे हैं अभिनेता वरुण धवन

एक साक्षात्कार के दौरान अभिनेता वरुण धवन ने बताया कि वे शरीर के संतुलन और विज़न को प्रभावित करने वाली इस बीमारी से जूझ रहे हैं। इससे कई और भी प्रभाव सकते हैं।
vestibular hypofunction
अभिनेता वरुण धवन वेस्टिबुलर हाइपोफंक्शन से जूझ रहे हैं. चित्र : शटरस्टॉक

हाल ही में मीडिया के साथ एक इंटरव्यू के दौरान मशहूर बॉलीवुड एक्टर वरुण धवन ने अपनी सेहत के बारे में एक गंभीर खुलासा किया। उन्होंने बताया कि वे वेस्टिबुलर हाइपोफंक्शन (vestibular hypofunction) नमक बीमारी से जूझ रहे हैं। अपनी बातचीत को आगे बढ़ाते हुये उन्होंने बताया कि इस बीमारी की वजह से उनका बैलेन्स बिगड़ने लगा है। साथ ही, उन्होंने यह भी बताया कि इस बीमारी की वजह से उन्हें कोरोनाकाल के लॉकडाउन (lockdown) में कई तकलीफें उठानी पड़ी हैं। इसके अलावा, उनका काम भी इससे प्रभावित होने लगा है।

उनके इस खुलासे के बाद बॉलीवुड में हलचल मच गई और सोशल मीडिया पर फैंस उनका हाल चाल पूछने लगे। जिसका ट्विटर के माध्यम से रिप्लाइ करते हुये वरुण धवन ने लिखा कि योगा, स्विमिंग, फिजियो थेरेपी और अपने लाइफस्टाइल में बदलाव (lifestyle) करने के बाद अब उनकी हालत में काफी सुधार है।

यहां देखें उनका ट्वीट :

एक्टर वरुण धवन ने जब वेस्टिबुलर हाइपोफंक्शन से पीड़ित होने के बारे में बताया, तो हर कोई सोच में पड़ गया है, क्योंकि यह बीमारी उतनी कॉमन नहीं है। तो चलिये जानते हैं इस बीमारी के बारे में विस्तार से।

क्या है वेस्टिबुलर हाइपोफंक्शन?

जॉन हॉपकिंस मेडिकल जर्नल के अनुसार वेस्टिबुलर हाइपोफंक्शन कान में होने वाला एक डिसऑर्डर है, जो मस्तिष्क के काम काज में दिक्कतें पैदा कर सकता है। इससे व्यक्ति का वेस्टिबुलर सिस्टम प्रभावित होता है, जो शरीर का बैलेन्स बनाए रखने में मदद करता है। इसकी वजह से मरीज को कान, नाक और आंख में कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

क्या हो सकते हैं वेस्टिबुलर हाइपोफंक्शन के लक्षण?

चक्कर आना
असंतुलित महसूस करना
उल्टी
एंग्जाइटी होना
डर लगना
हार्ट बीट में बदलाव
ऐसा महसूस होना कि आप तैर रही हैं
धुंधला दिखाई देना
गिरना या बार – बार ठोकर लगना
जी मिचलाना
दस्त होना।

संतुलन में कमी आना वेस्टिबुलर हाइपोफंक्शन के सबसे गंभीर लक्षणों में से एक है। इसलिए इस तरह के कोई भी लक्षण दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

लाइफस्टाइल में बदलाव करके इस समस्या को ठीक किया जा सकता है?

वेस्टिबुलर बैलेंस डिसऑर्डर के लक्षण दैनिक गतिविधियों जैसे गाड़ी चलाने, काम करने या मनोरंजन गतिविधियों का आनंद लेने में हस्तक्षेप कर सकते हैं। मगर इससे उबरने में कई चीज़ें हैं जो आपकी मदद कर सकती हैं जैसे –

जीवनशैली में बदलाव करना। जिसमें धूम्रपान छोड़ना या निकोटीन से परहेज करना शामिल है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यदि आपकी समस्या ज़्यादा गंभीर है, तो डॉक्टर आपको सर्जरी कराने की सलाह दे सकता है।

आप किसी एक्सपर्ट की मदद से अपना डेली रूटीन चेंज कर सकती हैं जिससे आपको कोई समस्या न आए जैसे

सीढ़ियों से ऊपर और नीचे कब जाना है

चलना और व्यायाम कब और कैसे करना है

बाथरूम का उपयोग कैसे करें

अपने जूते या कपड़े बदलना, जैसे कम एड़ी के जूते पहनना

अपनी दैनिक आदतों को बदलना, जैसे रात में कहीं बाहर न जाना

आते जाते समय वॉकर का उपयोग करना

यह भी पढ़ें : Air pollution : प्रदूषित हवा कर रही है बीमार, तो एक्सपर्ट के बताए इन टिप्स को करें फॉलो 

  • 101
लेखक के बारे में

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं। ...और पढ़ें

अगला लेख