समय से पहले मौत का कारण बन सकता है खाने में ऊपर से नमक डालना, कंट्रोल करें सॉल्ट इंटेक

Published on: 24 July 2022, 15:30 pm IST

खाने में एक्स्ट्रा साल्ट लेना शायद आपके खाने का स्वाद बढ़ा दें, परंतु क्या यह आपकी सेहत के लिए भी उतना ही फायदेमंद होता है? जी नहीं!

jyada namak khane se parhej kre
एक्स्ट्रा साल्ट से परहेज रखें। चित्र शटरस्टॉक।

हम में से अधिकांश लोग अपने डाइनिंग टेबल पर साल्ट शेकर जरूर रखते हैं। शायद आप यह सोचती होंगी कि यह आपकी डिश में फ्लेवर ऐड कर रहा है, परंतु यह फ्लेवर ऐड करने की जगह कहीं आपके लाइफ स्पैन को ही कम न कर दे। यूरोपियन हार्ट जर्नल द्वारा प्रकाशित एक नए अध्ययन में देखा गया कि वह लोग जो अपने खाने में ऊपर से नमक लेते हैं, उनमें अन्य लोगों की तुलना में प्रीमेच्योर डेथ होने की संभावना 28% तक ज्यादा (High sodium side effects) होती है।

नमक का प्रभाव पुरुषों की तुलना में महिलाओं की सेहत पर ज्यादा गंभीर रूप से पड़ता है। यदि एक आदमी की साधारण मृत्यु 50 में होने वाली है और वह खाने में एक्स्ट्रा साल्ट लेता हैं, तो उनकी एवरेज उम्र 1.5 साल घट जाती है। वहीं दूसरी ओर महिलाओं में 2.28 साल कम हो जाती हैं।

किए गए अध्ययन में 500,000 लोगों की डाइट की तुलना की गई। यह बात तो पूरी तरह साफ है कि सोडियम का अधिक सेवन स्वास्थ्य समस्याओं एवं समय से पहले मृत्यु होने की संभावना को बढ़ा देता है। रिसर्च में कहा गया कि “खाद्य पदार्थ में अधिक मात्रा में नमक मौजूद होने से होने वाली समस्याओं में से ज्यादातर प्रीमेच्योर डेथ का कारण कार्डियोवैस्कुलर डिजीज और कैंसर है।

extra salt
एक्स्ट्रा साल्ट हो सकता है हानिकारक। चित्र शटरस्टॉक।

यहां जानें किस तरह कम करना है साल्ट इंटेक

हम सभी खाने में फ्लेवर एड करने के लिए सॉल्ट कंसम्पशन को बढ़ा देते हैं। परंतु यह स्वाद बढ़ाने के साथ शरीर में सोडियम की मात्रा को बहुत ज्यादा बढ़ा देता हैं। जिस वजह से कई तरह के स्वास्थ्य जोखिम होने की संभावना भी बढ़ जाती है। हालांकि, हम लेकर आए हैं कुछ ऐसे तरीके जो आपके साल्ट इंटेक को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

1. खाना बनाते वक्त एक्स्ट्रा नमक ऐड करने से बचें।

2. नमक को खाने में ऐड करने से पहले अनुमानित रूप से माप लें। आप दिन में कितनी सोडियम ले रही हैं यह इसकी जानकारी देगा।

3. डाइनिंग टेबल पर कभी भी साल्ट शेकर को न रखें। यह सॉल्ट कंसम्पशन रिड्यूस करने का एक प्रभावी तरीका है।

4. साल्टी फूड्स जैसे कि अचार, पापड़ और चिप्स के उपभोग को सीमित रखने की कोशिश करें

5. ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करें जिसमे सोडीयम की बहुत कम मात्रा मौजूद हो। इसके साथ किसी भी फूड्स का न्यूट्रिटिव वैल्यू देखे बिना इसे न खरीदें।

less salt
खाने में कम नमक लें। चित्र: शटरस्‍टॉक

6. हमेशा फ्रेश, अनप्रोसेस्ड और मिनिमली प्रोसेस्ड फूड्स को ही अपनी डाइट में शामिल करें। क्योंकि पैकेट फूड्स में सोडियम की मात्रा काफी ज्यादा होती है।

7. बेकिंग सोडा, सॉस, केचअप और प्रोसेस्ड चीज जैसे खाद्य पदार्थ में नमक की मात्रा काफी ज्यादा होती है। यह शरीर में सोडियम इंटेक को बढ़ा सकता है। इसलिए इन खाद्य पदार्थों से भी जितना हो सके उतना परहेज रखने का प्रयास करें।

8. फ्लेवर ऐड करने के लिए सॉल्ट की जगह नींबू और मसाले जैसे फ्लेवरिंग एजेंटस का इस्तेमाल करें। इस प्रकार आप अपने खाने में नमक की मात्रा को कम कर सकती हैं।

खाने में नमक की मात्रा कम करने के लिए कभी भी देरी नहीं होती। यदि आप साल्ट की जगह अन्य फ्लेवरिंग एजेंट्स का इस्तेमाल करेंगी तो आपकी टेस्ट वर्ल्ड खुद-ब-खुद उस चीज को एक्सेप्ट कर लेगी। यह आदत आपकी सेहत को लंबे समय तक बनाए रखेगी। साथ ही स्वास्थ्य जोखिमों की संभावना को भी सीमित कर देती है।

यह भी पढ़ें : मानसून संक्रमण से बचाव के लिए मेरी मम्मी करती हैं दालचीनी की चाय पर भरोसा, जानिए ये कैसे काम करती है

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें