इस शोध के अनुसार रेड वाइन पीने वालों के लिए कम हो सकता है कोरोना संक्रमण और फ्लू का जोखिम

Updated on: 4 February 2022, 15:38 pm IST

वाइन लवर्स का समर्थन करने वाले दुनिया भर में हर जगह मौजूद हैं। अब वैज्ञानिकों ने एक शोध में रेड वाइन को कोरोना संक्रमण के जोखिम को कम करने के साथ जोड़ा है।

Red wine ka sevan corona sankraman se bachav mei faydemand ho sakta hai.
रेड वाइन का सेवन कोरोना संक्रमण से बचाव में फायदेमंद हो सकता है। चित्र: शटरस्टॉक

दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) से मुक्ति पाने की कोशिशें की जारी हैं। हालांकि, अभी भी इस माहमारी से पूरी तरह निजात नहीं मिल पाई है। कोरोना वायरस के नए वेरिएंट आये दिन लोगों में दहशत बनाए हुए हैं। इसके बावजूद कोरोना संक्रमण से बचने के उपाय पर वैज्ञानिकों को द्वारा लगातार शोध जारी हैं। ऐसे ही एक शोध में यह बात सामने आई है कि रेड वाइन का सेवन कोरोना संक्रमण से बचाव में फायदेमंद हो सकता है। क्या वाकई रेड वाइन कोरोना के संक्रमण का जोखिम कम कर सकती है? अगर ऐसा है तो शराब के अन्य प्रकारों के बारे में क्या राय है? चलिए इस शोध के बारे में और विस्तार से पढ़ते हैं। 

क्या है रेड वाइन से संबंधित यह शोध 

फ्रंटीयर्स इन न्यूट्रीशन जर्नल में प्रकाशित शोध के मुताबिक, जो लोग सप्ताह में 5 पैग या उससे अधिक रेड वाइन का सेवन करते हैं, उनमें कोरोना संक्रमण (Coronavirus) का खतरा 17 फीसदी तक कम हो जाता है। 

इस ताजा रिसर्च को चीन के शेनझेन कांगनिंग हॉस्पिटल के विशेषज्ञों ने तैयार किया है। जो कि ब्रिटिश लोगों के डेटा का एनालिसिस करके तैयार की गई है। ब्रिटिश वेबसाइट मिरर के मुताबिक, इस शोध में ब्रिटिश लोगों शराब पीने की आदतों और कोरोना हिस्ट्री के डेटा का विश्लेषण किया गया है। जिसमें यह बात सामने आई है कि रेड वाइन में पॉलीफेनोल नामक कंपाउंड पाया जाता है। यह कंपाउंड सांस और फ्लू संबंधित बीमारियों से दूर रखने में सहायक है। यही वजह है कि रेड वाइन के सेवन से कोरोना संक्रमण का खतरा भी कम हो जाता है।  

शैंपेन और व्हाइट वाइन भी हैं फायदेमंद (Champagne and white wine benefits)

साइंटिस्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने में शैंपेन और व्हाइट वाइन कारगर हैं। इस शोध में दावा किया गया है कि जिन लोगों की वाइन पीने की आदत है, अगर वे सप्ताह में 1 से 4 पैग शैंपेन या व्हाइट वाइन पीते हैं, तो उनमें कोविड का खतरा 8 फीसदी कम हो जाता है।  

Sankraman se bachane mei Champagne aur wine kargar hai.
संक्रमण से बचाने में शैंपेन और वाइन कारगर हैं। चित्र: शटरस्टॉक

मगर साइडर और बीयर पीना है जोखिम भरा (Drinking cider and beer is dangerous)

दूसरी तरफ इसी स्टडी में एक चौंकाने वाली बात सामने आई है। जिसमें यह दावा किया गया है कि जो लोग साइडर या बीयर पीने के शौकीन हैं उनमें कोविड संक्रमण होने का जोखिम 28 फीसदी बढ़ जाता है। वैज्ञानिकों ने यह भी दावा किया है कि जो लोग सप्ताह में 5 पैग या उससे ज्यादा ड्रिंक्स का सेवन करते हैं, उन्हें सचेत होने की आवश्यकता है। 

ऐसे लोगों में कोरोना संक्रमण होने की संभावना बढ़ जाती है। अत्यधिक शराब का सेवन करना यानी संक्रमण को दावत देना है। इसलिए वैज्ञानिकों द्वारा लोगों को अत्यधिक या जरुरत से ज्यादा शराब पीने की एडवाइस नहीं दी जाती है।   

वैक्सीन है किसी भी उपाय से बेहतर 

कई शोध में यह बात सामने आई है कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन का असर उन लोगों में कम है, जो वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके हैं। ऐसे में संक्रमण से बचने का सबसे असरदार तरीका वैक्सीन ही है। देश में टीकाकरण अभियान तेजी से चल रहा है। बता दें कि इस समय 15 साल और उससे अधिक उम्र के लोगों लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है।  

ये भी पढ़े: रेड वाइन बनाम वाइट वाइन, जानिए आपके लिए कौन सी वाइन है ज्यादा बेहतर

श्याम दांगी श्याम दांगी

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें