वैलनेस
स्टोर

इस शोध के अनुसार आपके एजिंग पेरेंट्स के लिए लाभदायक हो सकती है चाय

Updated on: 2 February 2021, 10:29am IST
एक नए अध्ययन के निष्कर्षों से पता चलता है कि बुजुर्ग लोग जिन्हें चाय बहुत पसंद है, उनकी मेंटल हेल्‍थ अन्‍यों की तुलना में ज्‍यादा बेहतर रहती है।
विनीत
  • 90 Likes
बुजुर्ग लोगों के लिए चाय कई तरह से फायदेमंद है। चित्र : शटरस्टॉक।

पानी के बाद, चाय दुनिया भर में सबसे लोकप्रिय ड्रिंक है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि मौसम कैसा है या दिन का कौन सा समय है। ज्‍यादातर लोगों को खुद को रिचार्ज करने के लिए एक कप अच्छी गर्म चाय की आवश्यकता होती है। यह सिर्फ ब्रेक टाइम पेय पदार्थ ही नहीं है, बल्कि यह स्वस्थ भी है। विशेष तौर पर बुजुर्गों के लिए। और इस बार एक नया शोध भी चाय को बता रहा है आपके एजिंग पेरेंट्स के लिए फायदेमंद।

चाय और बुजुर्गों का स्वास्थ्य

हम सभी जानते हैं कि उम्र के साथ, हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो जाती है और हम पुरानी बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। लंबे और स्वस्थ जीवन जीने के लिए बुढ़ापे में अपने स्वास्थ्य का अतिरिक्त ध्यान रखना सर्वोपरि है। पर शायद ही हम में से किसी ने सोचा हो कि चाय भी इसमें अहम भूमिका अदा कर सकती है।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

यह भी पढ़ें: रोजाना सिर्फ 1 घंटा दौड़ना बढ़ा सकता है आपकी उम्र, जानिए क्‍या कहता है शोध

असल में एक नई खोज बताती है कि एक दिन में 5 कप चाय पीने से 85 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों में सटीकता (accuracy) और प्रतिक्रिया की गति (reaction speed) बढ़ सकती है। द नेशनल में प्रकाशित शोध के अनुसार, संज्ञानात्मक कार्यप्रणाली में वृद्धि से बुजुर्ग वयस्कों को ड्राइविंग और जिगसॉस (jigsaws) को पूरा करने जैसी कई गतिविधियों में मदद मिल सकती है।

क्‍या कहता है अध्‍ययन

डॉ एडवर्ड ओकेलो, जिन्होंने न्यूकासल विश्वविद्यालय में मानव पोषण अनुसंधान केंद्र परियोजना का नेतृत्व किया। इस अध्‍ययन ने स्पष्ट किया कि संज्ञानात्मक क्षमता में वृद्धि न केवल पेय में मौजूद यौगिक के कारण होती है, बल्कि चाय का आनंद लेते हुए बातचीत करने या चैट शेयर करने का अनुभव भी इसमें एक प्रमुख भूमिका निभाता है।

ब्‍लैक टी को झाइंयों वाले हिस्‍से पर लगाने से लाभ मिलता है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक
चाय के सेवन से ध्यान लगाने में मदद मिलती है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक

कैसे हुआ शोध

अध्ययन के लिए, शोधकर्ताओं ने 2006 से 2020 के बीच एकत्रित 1000 से अधिक 85-वर्षीय बुजुर्ग प्रतिभागियों के डेटा का अध्ययन किया। उनका प्राथमिक लक्ष्य इस बात का सबूत तलाशना था कि काली चाय पीने से मेमोरी लॉस से बचाव होता है।

अंत में, उन्होंने पाया कि अधिक चाय पीने से जटिल कार्य करने की क्षमता (psychomotor speed) के साथ-साथ ध्यान की अवधि में काफी सुधार हो सकता है। हालांकि, उन्हें चाय पीने और समग्र मेमोरी फ़ंक्शन के बीच कोई संबंध नहीं मिला।

और भी हैं चाय पीने के फायदे

शंघाई में नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर (एनयूएस) और फुडान विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अन्य अध्ययन ने संकेत दिया कि हर दिन चाय की चुस्की लेने से वरिष्ठों में अवसाद का स्तर कम हो सकता है। इसमें भी, यह स्थापित करना मुश्किल था कि क्या चाय अवसाद का खतरा कम करती है या सामाजिक मेलजोल के कारण ऐसा होता है।

पहले प्रकाशित कुछ पत्रों में यह भी उल्लेख किया गया है कि चाय में मौजूद यौगिक- कैटेचिन, एल-थीनिन और कैफीन, मूड में सुधार कर सकते हैं, कैंसर को रोक सकते हैं और उम्र भी बढ़ा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: वायु प्रदूषण के कारण खो सकती है आपकी आंखों की रोशनी, जानिए क्या कहती हैं स्टडी

किस तरह की चाय सेहत के लिए अच्छी होती है

अध्ययन विशेष रूप से काली चाय के बारे में था। लेकिन लगभग सभी प्रकार की चाय में कम या ज्यादा एक जैसे यौगिक होते हैं। इसलिए, ऐसी संभावना हैं कि कोई व्यक्ति सामान्य चाय पीने से भी लाभ प्राप्त कर सकता है। सुनिश्चित करें कि इसमें कम चीनी हो और सामान्य चाय की बजाए, हर्बल टी का अधिक सेवन करें।

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।