आयुष मंत्रालय के अनुसार आप बेफि‍क्र होकर पिएं काढ़ा, नहीं होगा लिवर खराब

अगर आप भी सोशल मीडिया पर काढ़ा पीने से लिवर संबंधी समस्याओं के होने को लेकर चिंतित हैं, तो आयुष मंत्रालय ने आपकी फि‍क्र दूर कर दी है। उनके अनुसार इसमें शामिल हर्ब्‍स आपके लिवर को कोई नुकसान नहीं पहुंचाती।
kadha peena hai faydemand
आप निश्चिंत रहें, काढ़ा आपके लिवर पर नकारात्‍मक असर नहीं डालता। चित्र: शटरस्‍टॉक
वार्ता
  • 78

कोविड-19 की अब तक कोई वैक्‍सीन बाजार में नहीं आ पाई है। इम्‍युनिटी बढ़ाने के लिए लोग काढ़ा सहित उन आयुर्वेदिक नुस्‍खों पर भरोसा कर रहे हैं। पर काढ़े की गर्म तासीर को लेकर लोगों में यह संदेह भी था कि काढ़ा उनके लिवर पर नकारात्‍मक असर डाल सकता है। इसी संदर्भ में आयुष मंत्रालय ने साफ किया है कि लिवर को काढ़ा पीने से कोई नुकसान नहीं पहुंचता।

कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए इन दिनों लोग काढ़े को एक विकल्प के रूप में देखने लगे हैं, लेकिन साथ ही इस संबंध में लगातार खबरें भी आती रहती हैं। इन्‍हीं खबरों में से एक खबर काफी डराने वाली है। कहा जा रहा है कि लंबे समय तक काढ़े का सेवन करने से लीवर खराब हो जाता है।

इन खबरों से काढ़े के प्रति लोगों के मन में एक संदेह उपजने लगा है, लेकिन आयुष मंत्रालय ने इन खबरों को आधारहीन बताते हुए मंगलवार को कहा कि इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि काढ़े के सेवन से लीवर खराब होता है।

काढ़ा आपकी इम्‍युनिटी बूस्‍ट करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
काढ़ा आपकी इम्‍युनिटी बूस्‍ट करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने मंगलवार को आयोजित स्वास्थ्य मंत्रालय की नियमित प्रेस ब्रींफिग में कहा कि काढ़ा जिन चीजों से बनता है, वे सब अलग -अलग प्रकार के वायरस के रोधी हैं।

कोविड-19 को लेकर अभी अध्ययन जारी हैं। इसलिए इस बात का कोई पुख्ता प्रमाण नहीं है कि कोरोना मरीजों पर काढ़े का क्या असर है। काढ़ा हालांकि, श्वसन प्रणाली पर बहुत सकारात्मक प्रभाव डालता है। यह गलत धारणा है कि काढ़ा लीवर खराब करता है। इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि काढ़े से लीवर खराब होता है।

अगर आपकी तासीर गर्म हैं, तो इन चीजों का करें इस्‍तेमाल

जिन लोगों की तासीर गर्म है, उनके लिए काढ़ा बनाने में इस्‍तेमाल होने वाली सामग्री गर्मी बढ़ा सकती है।

अगर आपकी तासीर गर्म है तो काढ़ा बनाते समय उसमें किशमिश या मुनक्‍का मिलाएं। चित्र : शटरस्‍टॉक
अगर आपकी तासीर गर्म है तो काढ़ा बनाते समय उसमें किशमिश या मुनक्‍का मिलाएं। चित्र : शटरस्‍टॉक

इसके लिए आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने कहा,“ काढ़े के अंदर चार चीजें होती हैं। दालचीनी, तुलसी, कालीमिर्च और सोंठ। ये चारों चीजें घर में मसालों के रूप में भी प्रयोग की जाती हैं। किसी व्यक्ति की अगर तासीर गर्म हो तो वह काढ़े के साथ गुड़, मिश्री या मुनक्का डाल के लें तो ठीक रहेगा। यह धारणा गलत है कि काढ़े से लीवर खराब होगा।”

यह भी पढ़ें – तपती गर्मी में इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए काढ़ा पीना सुरक्षित है? जानिए क्या कहती हैं न्यूट्रिशनिस्ट

  • 78
अगला लेख