World Smile Day : मुस्कुराइए, क्योंकि आज अक्टूबर का पहला शुक्रवार है, 5 तरीकों से फायदेमंद है स्माइल

वर्ल्ड स्माइल डे प्रतिवर्ष अक्टूबर के पहले शुक्रवार को मनाया जाता है। यह मुस्कुराहट और उदारता के लिए समर्पित दिन है। वास्तव में स्माइल आपकी ओवरऑल हेल्थ में भी महत्वपूर्ण योगदान करती है।
ajnabi ko dekhkar bhi muskurane ki koshish karen.
डॉक्टर अकसर उन्हें प्रतिदिन कम से कम 20 से 30 मिनट हंसने की सलाह देते हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 6 Oct 2023, 15:56 pm IST
  • 134
मेडिकली रिव्यूड

‘स्माइल प्लीज’ ये हर फोटो से पहले आपको सुनने को मिलता है। स्माइल आपके चेहरे को खुबरसूरत बना देती है। अगर केवल एक स्माइल से आपके चेहरे पर इतना बदलाव आ सकता है, तो सोचिए हंसने से आपके शरीर और स्वास्थ्य पर कितना असर पड़ सकता है। महत्वाकांक्षाओं की व्यस्तता में उलझे लाेग मुस्कुराना भूलते जा रहे हैं। इसलिए तनाव और एंग्जाइटी का स्तर बढ़ता जा रहा है। पर अगर आप तनाव से मुक्ति चाहते हैं तो खोई हुई मुस्कुराहट का पता फिर से ढूंढिए। अक्टूबर के पहले शुक्रवार को मनाया जाने वाला वर्ल्ड स्माइल डे (World Smile Day) आपको फिर से खुश रहने का मौका दे रहा है। यह आपकी सेहत के लिए भी फायदेमंद (Smile benefits for health) है।

जब कोई व्यक्ति बहुत बीमार रहने लगता है, तो डॉक्टर अकसर उन्हें प्रतिदिन कम से कम 20 से 30 मिनट हंसने की सलाह देते हैं। हंसी से मूड में सुधार, दर्द में कमी और मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली सहित कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं।

smile ke health ke liye fayede
वर्ल्ड स्माइल डे प्रतिवर्ष अक्टूबर के पहले शुक्रवार को मनाया जाता है।

क्या है वर्ल्ड स्माइल डे

वर्ल्ड स्माइल डे प्रतिवर्ष अक्टूबर के पहले शुक्रवार को मनाया जाता है। 2023 में, यह दिन आज यानी 6 अक्टूबर को मनाया जा रहा है, जो मुस्कुराहट और सकारात्मकता के साथ वीकेंड की एक अच्छी शुरुआत प्रदान करता है।

पहली बार 1999 में स्माइली के निर्माता, हार्वे बॉल द्वारा शुरू किया गया। वर्ल्ड स्माइल डे एक वैश्विक उत्सव है जो खुशियां फैलाने और दयालुता के कार्यों को प्रोत्साहित करने के लिए समर्पित है। यह दिन हमें मुस्कुराहट के सरल लेकिन शक्तिशाली प्रभाव की याद दिलाता है और यह हमें और दूसरों को मिलने वाली खुशी की याद दिलाता है।

सीनियर क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट डॉ. आशुतोष श्रीवास्तव बताते है कि मुस्कान खुशी, उत्साह और उदारता की एक अभिव्यक्ति है। यह केवल चेहरे की अभिव्यक्ति से कहीं अधिक है। इसमें हमारे स्वास्थ्य को बेहतर बनाने की शक्ति होती है। मुस्कुराने की क्रिया हमारे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों के लिए असंख्य लाभ ला सकती है।

जानते हैं हंसना आपको कैसे स्वस्थ रख सकता है

1 तनाव में कमी

डॉ. आशुतोष श्रीवास्तव बताते है कि मुस्कुराने से एंडोर्फिन का स्राव शुरू हो जाता है, जिसे अक्सर “फील-गुड” हार्मोन कहा जाता है। एंडोर्फिन तनाव के स्तर को कम करने और रिलीफ की भावना को बढ़ावा देने में मदद करता है। जब आप तनावपूर्ण समय में भी मुस्कुराते हैं, तो आपका शरीर नर्वस सिस्टम को शांत करके प्रतिक्रिया करता है।

2 बुस्ट मूड और खुशी

डॉ आशुतोष कहते हैं कि भले ही आप कोशिश करके झूठमूठ मुस्कुरा रहे हों, पर जब आप मुस्कुराते हैं तो मस्तिष्क को संकेत जाता है कि आप खुश हैं। ये संकेत मस्तिष्क को खुशी और आनंद से जुड़े न्यूरोट्रांसमीटर डोपामाइन और सेरोटोनिन जारी करने के लिए प्रेरित कर सकता है। नतीजतन, मुस्कुराने से आपका मूड अच्छा हो सकता है और जीवन के प्रति अधिक सकारात्मक दृष्टिकोण में योगदान मिल सकता है।

smile bhi important hai
मुस्कुराने से एंडोर्फिन का स्राव शुरू हो जाता है, जिसे अक्सर “फील-गुड” हार्मोन कहा जाता है। चित्र:शटरस्टॉक

3 बेहतर इम्यून फंक्शन

अध्ययनों से पता चला है कि मुस्कुराहट और सकारात्मक भावनाएं प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ा सकती हैं। जब आप मुस्कुराते हैं, तो आपका शरीर अधिक सफेद रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करता है, जो संक्रमण और बीमारियों से लड़ने के लिए महत्वपूर्ण हैं। एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली आपको स्वस्थ रहने और रोगों के प्रति अधिक प्रतिरोधी रहने में मदद करती है।

4 निम्न रक्तचाप

मुस्कुराने से आपके रक्तचाप पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। जब आप मुस्कुराते हैं, तो आपका शरीर एंडोर्फिन छोड़ता है और आपको आराम मिलता है, जिससे रक्तचाप में कमी आ सकती है। निम्न रक्तचाप एक स्वस्थ्य हृदय की कार्यप्रणाली में मदद कर सकता है।

5 दर्द से राहत

जब आप मुस्कुराते हैं तो निकलने वाला एंडोर्फिन प्राकृतिक दर्द निवारक के रूप में काम कर सकता है। वे असुविधा और दर्द की भावनाओं को कम करने में मदद कर सकते हैं, यह आपको राहत महसूस कराने में मदद कर सकता है। हल्के दर्द या परेशानी से जूझ रहे व्यक्तियों के लिए मुस्कुराना एक इलाज हो सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़े- क्या आपके रिश्ते में भी खो गया है ‘प्यार’, तो इन टिप्स को फॉलो करने से मिलेगी मदद

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख